सिद्धार्थनगर: इटवा में पटाखे से झुलसे तीन बच्चे: गंभीर स्थिति में सीएचसी में भर्ती, प्राथमिक उपचार के बाद तीनों बच्चे मेडिकल कालेज सिद्धार्थनगर रेफर

166

सिद्धार्थनगर। दीपावली की रात इटवा में बड़ी घटना हो गई है। पटाखा जलाते समय तीन बच्चे बुरी तरह से झुलस गए हैं। दो बच्चों का चेहरा बुरी तरह से जल गया है तो एक लड़के का हाथ झुलस गया है। तीनों बच्चों में दो बालक और बालिका है। घायल अवस्था मे सभी को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र इटवा में भर्ती कराया गया। डाक्टर द्वारा प्रथम उपचार किया गया, मगर गंभीर स्थिति को देखते हुए तीनों को मेडिकल कालेज सिद्धार्थनगर रेफर कर दिया गया है। घर के पास जला रहे थे पटाखा इटवा कस्बे में दीपावली पर्व मनाया जा रहा था। हर तरफ पर्व की धूम थी। इस बीच इटवा कस्बे में बच्चे पटाखा फोड़ रहे थे। राम कुमार के दो बच्चे व पप्पू का एक लड़का भी घर के पास पटाखा जला रहा था। अचानक पटाखे की चपेट में तीनों बच्चे आ गए। इसमेम गोलू 7 साल पुत्र पप्पू, हर्षिता 11 साल पुत्री राम कुमार व आयुष 9 साल पुत्र राम कुमार बुरी तरह झुलस गए। घटना के बाद अफरा तफरी मच गई। त्यौहार की खुशी भाग दौड़ में बदल गई। आनन फानन में तीनों बच्चों को सीएचसी में भर्ती कराया गया।

तीनों बुरी तरह झुलसे

घटना की सूचना पर अस्पताल में भी भीड़ लग गई। इमरजेंसी में तैनात डाक्टर शमीम अहमद तीनों का इलाज करने में जुट गए। गोलू व हर्षिता का चेहरा झुलस गया तो आयुष का हाथ झुलसा । प्रथम इलाज का बाद तीनों की नाजुक हालत को देखते हुए सभी को रेफर कर दिया गया। घटना की जानकारी होने पर इटवा चेयरमैन विकास जायसवाल भी अस्पताल में पहुंचे और घायलों की स्थिति के बारे में जानकारी ली।

एसएचओ ने कहा एसएचओ

सन्तोष कुमार तिवारी ने बताया कि फिलहाल घटना संज्ञान नहीं है। मौके पर पुलिस को भेजकर पता कराते हैं, कि क्या मामला हुआ और कैसे घटना हुई।