श्रावस्ती: जनपद में धूम धाम के साथ मनायी गयी लोक नायक बिरसा मुंडा की जंयती

153

अध्यक्ष जिला पंचायत एवं अपर जिलाधिकारी ने दीप प्रज्जवलित कर कार्यक्रम का किया शुभारम्भ
श्रावस्ती । शासन के मशा अनुसार जिलाधिकारी कृतिका शर्मा के निर्देश जनपद में जन जातीय गौरव दिवस के अवसर पर लोक नायक बिरसा मुंडा की जंयती धूमधाम के साथ मनायी गयी। कार्यक्रम का शुभारम्भ कलेक्ट्रेट सभागार में मा0 अध्यक्ष जिला पंचायत दद्दन मिश्रा एवं अपर जिलाधिकारी अमरेन्द्र कुमार वर्मा ने दीप प्रज्जवलित एवं लोक नायक बिरसा मुंडा के चित्र पर माल्यार्पण कर किया। कार्यक्रम के दौरान आश्रम पद्धति विद्यालय भयापुरवा एवं सिरसिया के छात्र-छात्राओं के द्वारा स्वागत गीत व सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किया गया तथा कार्यक्रम का सजीव प्रसारण देखा एवं सुना गया।इस अवसर पर अध्यक्ष जिला पंचायत दद्दन मिश्रा ने अपने सम्बोधन में कहा कि केन्द्र सरकार व प्रदेश सरकार जन जातीय लोगो को आगे लाने का कार्य कर रही हैं। उन्होने कहा कि आजादी एवं स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों के महानुभावो को सम्मान व सच्ची श्रद्धांजलि देने के उद्देश्य से कार्यक्रम का आयोजन किया गया हैं। मा0 अध्यक्ष ने कहा कि स्वतंत्रता आंदोलन में अपने प्राणो की आहुति दे करके हमारे महापुरूषो ने आजादी दिलायी, जिसकी वजह से हम खुली हवा में सांस ले पा रहे हैं। उन्होने कहा कि हमारी जिम्मेदारी है कि उनके व्यक्तित्व एवं कृतित्व को अछुण बनाये रखें। उन्होने कहा कि यही हमारी उनके प्रति सच्ची श्रद्धांजलि होगी।
इस अवसर पर अपर जिलाधिकारी ने कहा कि जन जातीय गौरव दिवस के अवसर पर आज स्वतंत्रता संग्राम सेनानी और आदिवासी लोक नायक बिरसा मुंडा की जंयती का आयोजन किया गया हैं। उन्होने कहा कि इसका मुख्य उद्देश्य है कि जन जातीय समुदायों के सांस्कृतिक विरासत के संरक्षण, राष्ट्रीय गौरव, वीरता तथा भारतीय मूल्यो को बढ़ावा देने के उद्देश्य से प्रतिवर्ष मनाया जाता हैं। लोक नायक बिरसा मुंडा ने ब्रिटिश शासन के विरूद्ध भारत के विभिन्न क्षेत्रो में कई आदिवासी आन्दोलन किये। इनके आन्दोलन में देश के कई आदिवासी जन जातीय शामिल हुयी। उन्होने ऐसे महान लोक नायक के जन्म दिवस के अवसर पर प्रदेश के जन जातीय बाहुल्य क्षेत्रो में जन भागीदारी के साथ जन जातीय भागीदारी उत्सव मनाया जा रहा हैंे। इसे हम सभी को प्रेरणा लेने की आवश्यकता हैं।
इस अवसर पर शिक्षा के क्षेत्र में अग्रणी योगदान देने एवं थारू संस्कृति को विकसित करने के साथ कृषि के क्षेत्र में विशेष योगदान हेतु राम करतार एवं सत्य नारायण को प्रशस्ति पत्र एवं अंगवस्त्र देकर सम्मानित किया गया। इसके अतिरिक्त राजकीय आश्रम पद्धति विद्यालय भयापुरवा एवं सिरसिया के छात्र-छात्राओं को राष्ट्रीय खेल एवं नृत्य में बेहतर प्रदर्शन करने हेतु उन्हे प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया गया।जिला समाज कल्याण अधिकारी डॉ अमरनाथ यति ने कार्यक्रम में पधारे सभी मा0 जनप्रतिनिधियों एवं अधिकारियों का स्वागत व अभिनन्दन करते हुये आभार व्यक्त किया। कार्यक्रम का संचालन वरिष्ठ अधिवक्ता विष्णुदत्त अस्थाना ने किया।
इस अवसर पर जिला युवा कल्याण अधिकारी के0सी0 मिश्रा, पंकज मिश्रा, पवन शुक्ला, राजकीय आश्रम पद्धति विद्यालय सिरसिया के प्रधानाचार्य सत्यपाल यादव, राजकीय आश्रम पद्धति विद्यालय भयापुरवा कंदामिनी सिंह, सहित स्कूलों के छात्र-छात्राए उपस्थित रहें।