श्रावस्ती: नागरिक कल्याण कार्यक्रम के तहत सीमावर्ती ग्रामीणों हेतु वोकेशनल मोटर ड्राइविंग कोर्स का किया गया शुभारम्भ

69

श्रावस्ती। रवीन्द्र कुमार राजेश्वरी, कमान्डेंट 62वीं वाहिनीं सशस्त्र सीमा बल भिनगा के नेतृत्व में वाहिनी द्वारा आयोजित निःशुल्क वोकेशनल मोटर ड्राइविंग कोर्स का “जी” समवाय तरुस्मा में शुभारम्भ किया एवं साम्प्रदायिक सद्भावना सप्ताह के उपलक्ष्य पर सेमिनार का आयोजन भी किया गया | इस अवसर पर कमान्डेंट महोदय एवं श्री अमित श्रीवास्तव, ग्राम प्रधान तरुस्मा के द्वारा दीप प्रज्वलित कर वोकेशनल मोटर ड्राइविंग कोर्स का शुभारम्भ किया गया | महोदय के द्वारा लोगो को संबोधित करते हुए कहा कि इस कोर्स में 20 सीमावर्ती बेरोजगार ग्रामीणों का चयन किया गया है जिनको 15 दिन का नि:शुल्क वोकेशनल मोटर ड्राइविंग कोर्स कराया जायेगा जिसका आज दिनांक 20.11.23 से प्रारंभ किया जा रहा है कोर्स के साथ-साथ इनको नि:शुल्क लर्निंग ड्राइविंग लाईसेंस भी बनवाकर दिया जायेगा | इस प्रशिक्षण के माध्यम से वे अपना रोजगार शुरू कर सकते है | एस. एस.बी. सीमावर्ती क्षेत्र के सर्वांगीण विकास को लेकर सदैव कार्य कर रही है, सुरक्षा के साथ ही रोजगार परक प्रशिक्षण कार्यक्रम, ग्रामीणों के सतत विकास और सामाजिक समन्वय बनाकर रखने के लिए कई तरह के कार्यक्रम का संचालन करती है | इस अभियान का मुख्य उद्देश्य सीमावर्ती व् दूरस्थ क्षेत्र के ग्रामीणों को भारत के विकास की मुख्य धारा से जोड़ते हुए इनका समग्र विकास करना है | इसके अलावा भारत सरकार द्वारा चलायी जा रही विभिन्न जन कल्याणकारी योजनाओं एवं सामाजिक चेतना अभियान के बारे में जागरूक करना है Iइसके बाद कमांडेंट महोदय के द्वारा शांति तथा सद्भावना का सन्देश फ़ैलाने हेतु दिनांक 19 से 25 नवम्बर 2023 तक चलने वाले सांप्रदायिक सद्भावना सप्ताह/ फण्ड एकत्रित सप्ताह तथा दिनांक 24.11.23 को झंडा दिवस मनाने के उपलक्ष्य पर सेमिनार भी किया गया | जिसमे ग्रामीणों को शांति तथा सद्भावना का सन्देश देते हुए बताया कि धार्मिक सद्भाव हमारे महानतम देश की समृद्ध परम्परा रही है | भारतीय संस्कृति और सभ्यता ने विश्व में जो ख्याति और सम्मान पाया है, वह विश्व के किसी और देश को नहीं मिला है | अपनी प्राचीन संस्कृति और सभ्यता की समृद्ध विरासत को संरक्षित रखना देश के हर नागरिक का कर्त्तव्य है, ताकि साम्प्रदायिक सौहार्द बना रहे और देश की एकता एवं अखंडता बनी रहे | इसीलिए भारतीय होने के नाते एवं मानवता को प्राथमिकता देते हुए हमें आपस में प्रेम और भाईचारे के साथ रहना चाहिए | महोदय के द्वारा सांप्रदायिक, जातीय या आतंकवादी हिंसा में अनाथ और निराधार बच्चो को सहायता प्रदान करने हेतु ग्रामीणों को स्वेच्छा से अंशदान करने के लिए भी प्रेरित किया | इस कार्यक्रम के दौरान श्री विनोद कुमार उप कमांडेंट, श्री मगदुम रोहित जयंत सहायक कमांडेंट,सहायक उप निरीक्षक मोहन लाल साथ मे अन्य कार्मिक,उ.प्र. पुलिस के उप निरीक्षक जय प्रकाश, कोर्स में चयनित 20 ग्रामीण एवं भारी संख्या में स्थानीय ग्रामीण भी उपस्थित रहे |