धान और बाजरा की खरीद में तेजी ला रही योगी सरकार, हो रहा रिकार्डतोड़ भुगतान

108

लखनऊ: प्रदेश में किसानों की आय बढ़ाने के लिए प्रयासरत योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) सरकार उनकी पैदावार का उचित मूल्य प्रदान कर अपनी प्रतिबद्धता निभा रही है। इसके तहत सरकार ने 27 नवंबर तक 4708 क्रय केन्द्रों के माध्यम से 103529 किसानों से 6.75 लाख मीट्रिक टन (निर्धारित लक्ष्य का 9.65 प्रतिशत) धान की खरीद की है। साथ ही 1182 करोड़ रुपए का भुगतान किसानों को किया जा चुका है। वहीं, श्री अन्न की खरीद में भी तेजी लाते हुए अब तक 373 क्रय केंदों से 1.54 लाख मीट्रिक टन बाजरा की खरीद की गई है। इसके एवज में 29278 किसानों को 336.77 करोड़ रुपए का भुगतान किया है।

धान की खरीद के लिए 5104 क्रय केन्द्र संचालित

प्रदेश में धान प्रति केन्द्र औसत खरीद लगभग 143 मी0 टन है। भारतीय खाद्य निगम, यूपीपीसीयू, पीसीएफ और यूपीएसएस की प्रति केन्द्र औसत खरीद में प्रगति लाए जाने के निर्देश दिए गए हैं। प्रदेश में कुल 5104 क्रय केन्द्र संचालित है, जिसके सापेक्ष 4712 केन्द्रों पर खरीद प्रारम्भ है, जबकि 392 केन्द्रों पर भी जल्द खरीद शुरू होने की संभावना है। धान का न्यूनतम समर्थन मूल्य धान कॉमन रू-2183 प्रति कुं०/ग्रेड-ए-रू-2203 प्रति कुं० है। प्रदेश सरकार ने इस वर्ष 70 लाख मीट्रिक टन धान खरीद लक्ष्य व 4000 क्रय केन्द्र संचालित किया जाना निर्धारित है। प्रदेश में पश्चिमी उत्तर प्रदेश में 1628 क्रय केन्द्र एवं पूर्वी उत्तर प्रदेश में 3476 क्रय केन्द्र ऑनलाइन संचालित है।

श्री अन्न की खरीद में गत वर्ष से बेहतर प्रगति

श्री अन्न की खरीद की बात करें तो इस बार की तुलना में गत वर्ष प्रदेश में 8532 किसानों से कुल 0.44 लाख मीट्रिक टन बाजरा की खरीद हुई थी। बाजरा खरीद हेतु प्रदेश के 40 जनपदों में 381 क्रय केन्द्र संचालित किए गए है, जिनमें से 305 केन्द्रों पर खरीद हो रही है। माईनर मिलेट्स (कोदो) की खरीद जनपद सोनभद्र में की जा रही है। ऑनलाइन कृषक पंजीकरण 01 अगस्त, 2023 से प्रारम्भ है। अब तक बाजरा विक्रय हेतु 51774 किसानों द्वारा पंजीकरण कराया जा चुका है।