अलीगढ: गोलीकांड में आरोपी दारोगा के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी, इनाम घोषित करने की भी तैयारी

181

उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ (Aligarh) जनपद में ऊपरकोट कोतवाली के मुंशियाने में 8 दिसंबर की दोपहर हुए गोलीकांड के आरोपी दारोगा (Sub Inspector) का अभी तक कोई सुराग नहीं लगा है। सोमवार को न्यायालय ने दारोगा के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी कर दिए हैं। वहीं, अब दारोगा पर इनाम घोषित करने की तैयारी चल रही है।

घटना के बाद मौके पाकर फरार हुआ दारोगा

दरअसल, 8 दिसंबर दोपहर करीब पौने तीन बजे तुर्कमान गेट चौकी क्षेत्र के हड्डी गोदाम इलाके की 55 वर्षीय इशरत निगार अपने बेटे ईशान संग कोतवाली गई थीं। तभी वहां भुजपुरा चौकी के प्रभारी दारोगा मनोज शर्मा को मुंशी ने मालखाने से उनकी सर्विस पिस्टल निकालकर दी।

दरोगा वहीं खड़े-खड़े पिस्टल को चेक करने लगे और फायर कर दिया। जिससे गोली दरवाजे की ओर खड़ी महिला की कनपटी के पास लगी। घटना के बाद जमकर हंगामा हुआ। इस बीच दारोगा मौका पाकर भागने में सफल रहा। हंगामे और दरोगा पर लगे आरोपों के चलते पुलिस ने बेटे की तहरीर पर मुकदमा दर्ज किया।

दारोगा की तलाश में दबिश दे रहीं पुलिस टीमें

घटना के बाद से पुलिस की टीमें लगातार दारोगा की तलाश में जुटी है। दारोगा की मेरठ में रह रही पत्नी व बेटी भी गायब हैं। कई रिश्तेदार पुलिस ने दबाव बनाने के लिए हिरासत में ले रखे हैं। इधर, आरोपी दारोगा की तलाश में पुलिस की टीमें लगातार मेरठ, आगरा, गाजियाबाद, बागपत व हापुड़ आदि में दबिश दे रही हैं।

सीओ प्रथम अभय पांडेय के अनुसार न्यायालय ने दारोगा के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी कर दिया है। अब अगर जल्द दारोगा नहीं पकड़ा गया या हाजिर हुआ, तो इनाम घोषित करने की प्रक्रिया की जाएगी। सीओ के अनुसार दो टीमें आगरा व मेठर-गाजियाबाद में लगातार दारोगा को तलाश रही हैं। उम्मीद है कि जल्द सफलता हाथ लगेगी।