UP: जब पुलिसकर्मी बने बाराती तब हुई शादी, सहबाला की जगह बैठा गनर, दूल्हे को मिली थी हत्या की धमकी

125

उत्तर प्रदेश के प्रतापगढ़ (Pratapgarh) जनपद में एक शादी पुलिस की अभिरक्षा (Marriage Under Police Custody) में हुई है। हत्या की धमकी से डरा-सहमा दूल्हा मंगलवार को दुल्हन के घर दोपहर ही बारात लेकर पहुंचा। दूल्हा बारात लेकर घर से निकला तो उसके साथ सहबाला की जगह गनर बैठा हुआ था। वहीं, शादी के दौरान भी दर्जन भर पुलिसकर्मी उसके आसपास ही असलहा लेकर घूमते रहे। सओजी टीम की मौजूदगी में धूमधाम से शादी होकर दुल्हन अपने दूल्हे के घर भी पहुंच गई।

एक तरफा प्यार में दूल्हे को मिली थी धमकी

मिली जानकारी के अनुसार, रामचंद्र के बेटे शशांक की शादी 11 दिसंबर को होनी थी। सोमवार की शाम उसकी बारात जानी थी। लेकिन तीन दिन पहले 8 दिसंबर को तीन युवकों ने घर पहुंच कर दूल्हे के पिता के पिस्टल सटाकर दूल्हे की हत्या की धमकी दी। इसके बाद बारात जाने वाले दिन 11 दिसंबर को भी सुबह उसके घर पर धमकी भरा लेटर फेंककर दबंगों ने शादी करने पर दूल्हे की हत्या की धमकी दी।

आरोपियों ने कहा कि शादी करने पर दूल्हे को गोली से उड़ा देंगे। हत्या की धमकी से डरे दूल्हे ने शादी से इंकार करते हुए बारात ले जाने से इंकार कर दिया। सूचना के बाद दूल्हे के घर पर पुलिस की तैनाती कर दी गई। एसपी के आदेश पर धमकीबाज तीनों दबंगों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया। इसके बाद दूल्हे ने राहत की सांस ली।

इसके बाद मंगलवार दोपहर दूल्हा शशांक अपने दुल्हन के घर बारात लेकर पहुंचा। इसके बाद साथ फेरे भी लिए। सैकड़ों की संख्या में घराती और बाराती ने शादी के भोजन का भी लुफ्त उठाया। शादी के दौरान पुलिसकर्मी सुरक्षा में तैनात रहे इस दौरान धमकी से सहमा दूल्हे की सुरक्षा में पूरी एसओजी टीम समेत दर्जन भर पुलिस कर्मी सकुशल शादी संपन्न कराने के लिए लगाया। वहीं शादी के दौरान पुलिसकर्मी सुरक्षा में तैनात रहे। शादी सम्पन्न होने के बाद दूल्हा और दुल्हन को पुलिस कर्मियों ने भी आशीर्वाद दिया।

धमकीबाज आशिक को जेल

धमकीबाज़ आशिक पंकज विश्वकर्मा समेत उसके दो साथियों को पुलिस ने गिरफ्तार करते हुए जेल भेज दिया है। वहीं गिरफ्तार किए गए अभियुक्त पंकज विश्वकर्मा, रवि कुमार, मंजीत कुमार है। वहीं पंकज विश्वकर्मा कंधई इलाके की लड़की से एक तरफा प्यार करता था। जब शादी तय हो गई तो उसने शादी तुड़वाने के लिए दूल्हे और उनके पिता को धमकाया। लेकिन पुलिस की सक्रियता से घिनौनी करतूत करने वाला कथित आशिक अब सलाखों के पीछे पहुंच गया है। दूल्हे के परिजन और पिता भी अब प्रतापगढ़ पुलिस को थैंक्यू बोल उनके सहयोग के आभार व्यक्त कर रहे हैं।