Basti News: संसद की सुरक्षा में सेंधमारी पर बीजेपी सांसद द्विवेदी की प्रतिक्रिया, कहा- ‘चूक कहां हुई, जल्द आएगी जानकारी’

103

UP News: बस्ती में सांसद खेल महाकुंभ के आयोजन को लेकर हरीश द्विवेदी पत्रकारों से चर्चा कर रहे थें. उन्होंने कहा बीजेपी कभी भी जाति को लेकर समर्थन नहीं करती है, वह कार्यकर्ताओं का सम्मान करती है.

Basti News: संसद में हमले की बरसी के दिन संसद भवन की सुरक्षा पर सेंधमारी की घटना पर सियासत गरमा गई है. विपक्ष इस मामले को लेकर सरकार पर हमलावर है और मामले की जांच की मांग कर रहा है. इस पूरे मामले पर बस्ती से भारतीय जनता पार्टी के सांसद हरीश द्विवेदी की प्रतिक्रिया सामने आई हैं. उन्होंने कहा कि मुझे इसकी जानकारी हुई है और यह चूक कहां से हुई है इसकी जानकारी जल्द ही आ जाएगी.

अमित शाह के बयान का किया समर्थन

बस्ती में सांसद खेल महाकुंभ के आयोजन को लेकर हरीश द्विवेदी पत्रकारों से चर्चा कर रहे थें. इस दौरान उन्होंने गृहमंत्री अमित शाह का नेहरू पर किए गए कटाक्ष को लेकर कहा कि अमित शाह ने संसद में यह कहते हुए सबको चौंका दिया था कि नेहरू ने देश के लिए कोई काम नहीं किया. जिस पर बस्ती के सांसद ने समर्थन करते हुए कहा जब 1962 में चीन ने भारत की जमीन कब्जा कर ली थी, तो अटल बिहारी वाजपेई ने तत्कालीन प्रधानमंत्री नेहरू से तब भारत की जमीन को कब्जा मुक्त करने के लिए कहा था.

जिस पर नेहरू ने चीन के द्वारा कब्जा किए हुए लाखों हेक्टेयर भारतीय जमीन को उसर भूमि कहकर उसे कब्जा करने दिया था. जिस पर अटल बिहारी वाजपेई ने संसद में नेहरू का विरोध करते हुए कहा था कि प्रधानमंत्री जी आपके सर पर बाल नहीं है तो क्या आपका सर कट जाए तो क्या आप पर इसका प्रभाव नहीं पड़ेगा क्या, तो निश्चित रूप से तत्कालीन प्रधानमंत्री की कमजोरी थी.

जाति का समर्थन नहीं करती बीजेपी

तीन राज्यों में भाजपा की जीत के बाद 2024 के लोकसभा चुनाव के मद्देनजर जातीय समीकरण को साधने के लिए बनाए गए मुख्यमंत्री के सवाल पर उन्होंने कहा कि बीजेपी कभी भी जाति को लेकर उसका समर्थन नहीं करती है. हमारी पार्टी सिर्फ और सिर्फ कार्यकर्ताओं का सम्मान करती है. जिसको देखते हुए तीनों तीनों राज्यों के चुनाव में छोटे कार्यकर्ता को मौका दिया गया है ताकि वह मुख्यमंत्री बनकर जनता की सेवा कर पाए.

Basti News: संसद में हमले की बरसी के दिन संसद भवन की सुरक्षा पर सेंधमारी की घटना पर सियासत गरमा गई है. विपक्ष इस मामले को लेकर सरकार पर हमलावर है और मामले की जांच की मांग कर रहा है. इस पूरे मामले पर बस्ती से भारतीय जनता पार्टी के सांसद हरीश द्विवेदी की प्रतिक्रिया सामने आई हैं. उन्होंने कहा कि मुझे इसकी जानकारी हुई है और यह चूक कहां से हुई है इसकी जानकारी जल्द ही आ जाएगी.

अमित शाह के बयान का किया समर्थन

बस्ती में सांसद खेल महाकुंभ के आयोजन को लेकर हरीश द्विवेदी पत्रकारों से चर्चा कर रहे थें. इस दौरान उन्होंने गृहमंत्री अमित शाह का नेहरू पर किए गए कटाक्ष को लेकर कहा कि अमित शाह ने संसद में यह कहते हुए सबको चौंका दिया था कि नेहरू ने देश के लिए कोई काम नहीं किया. जिस पर बस्ती के सांसद ने समर्थन करते हुए कहा जब 1962 में चीन ने भारत की जमीन कब्जा कर ली थी, तो अटल बिहारी वाजपेई ने तत्कालीन प्रधानमंत्री नेहरू से तब भारत की जमीन को कब्जा मुक्त करने के लिए कहा था.

जिस पर नेहरू ने चीन के द्वारा कब्जा किए हुए लाखों हेक्टेयर भारतीय जमीन को उसर भूमि कहकर उसे कब्जा करने दिया था. जिस पर अटल बिहारी वाजपेई ने संसद में नेहरू का विरोध करते हुए कहा था कि प्रधानमंत्री जी आपके सर पर बाल नहीं है तो क्या आपका सर कट जाए तो क्या आप पर इसका प्रभाव नहीं पड़ेगा क्या, तो निश्चित रूप से तत्कालीन प्रधानमंत्री की कमजोरी थी.

जाति का समर्थन नहीं करती बीजेपी

तीन राज्यों में भाजपा की जीत के बाद 2024 के लोकसभा चुनाव के मद्देनजर जातीय समीकरण को साधने के लिए बनाए गए मुख्यमंत्री के सवाल पर उन्होंने कहा कि बीजेपी कभी भी जाति को लेकर उसका समर्थन नहीं करती है. हमारी पार्टी सिर्फ और सिर्फ कार्यकर्ताओं का सम्मान करती है. जिसको देखते हुए तीनों तीनों राज्यों के चुनाव में छोटे कार्यकर्ता को मौका दिया गया है ताकि वह मुख्यमंत्री बनकर जनता की सेवा कर पाए.