बस्ती: मेडिकल स्टोर पर इंजेक्शन लगवाने के बाद बेहोश हुई महिला सफाई कर्मी, मौत

133

रिपोर्ट – सुशील शर्मा / मृतका के पति जगदीश ने बताया कि मेरी पत्नी राधिका बाएं पैर की उंगली में रविवार शाम खुरपी से चोट लग गया था। जिससे वह टिटनेस का इंजेक्शन लगवाने के लिए सोमवार सुबह मेडिकल स्टोर पर गई थी। मौत की खबर से घर में कोहराम मच गया।

बस्ती जिले में मेडिकल स्टोर पर टिटनेस का इंजेक्शन लगवाने गई थाना क्षेत्र के लक्ष्मणपुर निवासी 45 वर्षीय महिला सफाई कर्मी की कुछ देर में ही मौत हो गई। परिवार के लोग मेडिकल स्टोर संचालक पर आरोप लगाने लगे। पुलिस ने शव कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। प्रभारी चिकित्सा अधिकारी ने मेडिकल स्टोर को सील कर दिया।

सोमवार को दोपहर करीब 11 बजे लक्ष्मणपुर निवासी राधिका देवी पत्नी जगदीश सफाई कर्मी लक्ष्मण चौराहे पर स्थित अंशु मेडिकल स्टोर पर टिटनेस का इंजेक्शन लगवाने गई थी। मेडिकल स्टोर संचालक में बिना किसी जांच पड़ताल के उसे इंजेक्शन मोनोसेफ लगा दिया। इससे महिला की हालत बिगड़ने लगी और मौके पर बेहोश हो गई, घटना देख आसपास के लोग जुट गए।

जानकारी मृतका के पति जगदीश को दिया गया जो कि ड्यूटी पर पकरी भीखी गए थे। आनन-फानन पहुंचे परिजन उसे जिला चिकित्सालय ले गए। वहां पर चिकित्सकों ने उसे मृत्यु घोषित कर दिया। इसी बीच मौका पाकर मेडिकल स्टोर संचालक दुकान बंद करके भाग गया। परिजन शव को लेकर घर पहुंचे और इसकी सूचना स्थानीय पुलिस को दी।
इधर, चौराहे पर अन्य मेडिकल स्टोर संचालक भी घटना देख दुकानें बंद करके भाग निकले। सूचना मिलते ही मौके पर पहुंचे थानाध्यक्ष रामपाल चौरसिया ने शव को कब्जे में लेकर घटना की जानकारी लिया।

प्रभारी चिकित्सा अधिकारी सल्टौआ डॉ. मनीष कुमार अपनी की टीम के साथ मौके पर पहुंचे और घटना की जानकारी मृतका के पति जगदीश से लिए। जिसके बाद मेडिकल स्टोर सील कर दिया गया।

खुरपी से अंगुली में लग गया था घाव

मृतका राधिका देवी सफाई कर्मचारी ग्राम पंचायत पकरी भीखी के राजस्व ग्राम मोहम्मदपुर में तैनात थी। जबकि उनके पति जगदीश ग्राम पंचायत पकरी भीखी में सफाई कर्मचारी पद पर तैनात है। पुलिस की पूछताछ में मृतका के पति जगदीश ने बताया कि मेरी पत्नी राधिका बाएं पैर की उंगली में रविवार शाम खुरपी से चोट लग गया था। जिससे वह टिटनेस का इंजेक्शन लगवाने के लिए सोमवार सुबह मेडिकल स्टोर पर गई थी। मौत की खबर से घर में कोहराम मच गया। बेटा अजय,आदित्य, बेटी रुचि तथा जगदीश सहित परिवार के सभी लोगों का रो रोकर बुरा हाल है।