सिद्धार्थनगर: बाउन्ड्रीवाल में घटिया निर्माण सामग्री का प्रयोग

135

सिद्धार्थनगर। अमृत भारत योजना के अंतर्गत रेलवे स्टेशनों के नविवीकरण के लिए भारत सरकार ने 18 करोड़ रुपये मंजूर किया है। जिसमें से 6 करोड़ सिद्धार्थनगर रेलवे स्टेशन को प्राप्त हुआ है जहां भ्रष्टाचार की सारी सीमाएं तोड़ दी गई हैं। बाउंड्री वाल का निर्माण मानक से विपरीत ईटों के प्रयोग के साथ ही निम्न किस्म का सीमेंट लगाया जा रहा है।

जनपद–सिद्धार्थनगर
रिपोर्ट– सूरज गुप्ता
उक्त आरोप सिद्धार्थनगर बार एसोशियेशन के पूर्व अध्यक्ष व विश्व हिंदू महासंघ के प्रदेश मंत्री अखण्ड प्रताप सिंह ने लगाया है। उन्होंने कहा है कि शिकायत करने पर रेलवे के पदाधिकारी मिस बिहेव करने पर उतारू हुए। उन्होंने आप बीती बताते हुए कहा कि मजबूरन मुझे अध्यक्ष जी को कॉल करके बुलाना पड़ा और थाने को सूचना देना पड़ा। जब सभी यह कहने लगे की आप स्टेशन इंचार्ज के देख-रेख में घटिया निर्माण किया जा रहा है। उन्होंने शिकायत क्यों नहीं किया तब जाकर मेरी शिकायत को स्टेशन मास्टर द्वारा माना गया।

श्री सिंह ने बताया कि स्टेशन परिसर में हो रहे मानक विहीन निर्माण की शिकायत मैंने विजिलेंस और रेलवे के सतर्कता अधिकारी शिकायत कर दी है। उन्हें संपूर्ण कार्यों का वीडियो फुटेज व फोटो भी भेज दिया है। उन्होंने जिम्मेदारों से मांग किया है कि रेलवे स्टेशन में हो रहे धांधली की जांच की जाय और निर्माण कार्य गुणवत्ता पूर्ण तरीके सी कराया जाय।