तिजोरी लेकर भाग रहे बदमाशों की पुलिस से मुठभेड़, एक घायल, तिजोरी समेत दो पकड़े गये !

49

जनपद–सिद्धार्थनगर
रिपोर्ट– सूरज गुप्ता
सिद्धार्थनगर। शोहरतगढ़ थाना क्षेत्र के महला चौराहे से एक ज्वेलर की तिजोरी लेकर भाग रहे सशस्त्र बदमाशों के दल की बीती रात 3 बजे महाराजगंज जिले की पुलिस से अचानक मुठभेड़ हो गई। आमने सामने की फायरिंग के बाद पुलिस की गोली से एक बदमाश घायल हो गया। इसके बाद पुलिस ने मौके से घायल समेत दो लोगों को गिरफ्तार कर लिया। कई अन्य फरार हो गये हैं। घटना के बाद मौके पर सिद्धार्थनगर पुलिस भी पहुंच गई है और बदमाशों से पूछताछ कर रही है। घटना गुरुवार रात की है।

कैसे हुई महाराजगंज पुलिस से मुठभेड़

जानकारी के अनुसार सिद्धार्थनगर जिले के शोहरतगढ़ थाने के महला चौराहे पर बदमाशों ने संजय वर्मा की दुकान पर धावा बोल कर बदमाशों ने ज्वेलर की दुकान की तिजोरी को तोड़ने कोशिश की थी। तिजोरी बड़ी होने के कारण नहीं खुलने पर पर बदमाशतिजोरी को स्कार्पियों गाड़ी में लाद कर भाग रहे थे। पुलिस के अनुसार बदमाशों का गिरोह सिद्धार्थनगर जिला पार कर जैसे ही महाराजगंज जनपद के सोन पिपरी गांव के करीब पहुंचा, वहां पुलिस के गश्ती दल ने उसे रोका। मगर रुकने के बजाए स्कार्पियों को भागते देख कर पुलिस ने दौड़ा कर वाहन को घेर लिया। इस दौरान बचाव की कोई सूरत न देख कर बदमाशों ने पुलिस पर फायरिंग शुरु कर दी।
दोनों ओर से हुई फायरिंग
जवाब में पुलिस ने भी फायरिंग की। दोनों ओर से लगभग दर्जन राउंड गोलियां चलने की खबर है। फायरिंग के बीच एक बदमाश को गोली लगी। इसके बाद बदमाश गाड़ी से कूद कर भागने लगे। मगर पुलिस ने घायल व एक अन्य बदमाश को पकड़ लिया तथा कई अन्य अंधेरे में फरार हो गये।

पकड़े गये बदमाशों में एक गोंडा व एक महाराजगंज का निवासी है। सूचना पाकर शोहरतगढ़ पलिस भी मौके पर पहुंच गई है और छान बीन कर रही है। पुलिस ने स्कार्पियों से लूटी गई तिजोरी भी बरामद किया है। तिजोरी में 9 किलो दी व सोने के तमाम कीमती जेवर थे। बता दें कि सिद्धार्थनगर में वर्तमान में चोरी आदि की घटनाओं का तांता लगा हुआ है।जिससे लोगों में दहशत व्याप्त है।
जिले के संजय वर्मा स्वर्णकर के घर की थी घटना।
महला गांव निवासी पीड़ित स्वर्णकार संजय वर्मा के मुताबिक महला चौराहे पर उनकी ज्वैलर्स की दुकान है। सोने व चांदी के आभूषण का व्यापार करते हैं। रोज की तरह बृहस्पतिवार को शाम तक दुकान बंद कर घर चला गया था। सुबह लगभग साढ़े नौ बजे दुकान खोलने लिए दुकान पर पहुंचे तो देखा कि दुकान का चैनल का ताला टूटा हुआ है। और चैनल के बाद लगे शटर का लॉक भी टूटा हुआ है। दुकान के अंदर घुसा तो देखा अंदर रखे 15 क्विंटल का लॉकर और तिजोरी गायब थी। उसी में नौ किलो के चांदी व चार सोने के आभूषण रखे हुए थे, जब कि लगे सीसीटीवी के कैमरे टूटे हुए हैं और सारा सामान बिखरा पड़ा है।पीड़ित ने घटना की सूचना देने के साथ ही लिखित तहरीर देकर सोने और चांदी का आभूषण चोरी होने की शिकायत करते हुए कार्रवाई की मांग की। इस संबंध थानाध्यक्ष राजकुमार पांडेय ने बताया कि चोरी की घटना में पीड़िता ने तहरीर दी थी।

उदासीन है जिले की पुलिस

ज्वैलर्स की दुकान में चोरी होने से क्षेत्र में दहशत का माहौल बन गया। लोगों में चर्चा है कि पुलिस की गश्त के बावजूद इतनी बड़ी चोरी हो गई, जिससे कोई सुरक्षित नहीं है। कुछ लोगों कहना है कि पुलिस केवल तस्करों को संरक्षण दे रही है। आए दिन स्मैक, चरस सहित अन्य सामानों की तस्करी हो रही है और पुलिस तस्करों से धन उगाही करने लिप्त है। अगर सही से रात्रि गश्त होती तो इतनी बढ़ी वारदात नहीं होती।

विज्ञापन बॉक्स