UP: अखिलेश यादव को अवैध खनन मामले में CBI का नोटिस, 29 फरवरी को बतौर गवाह होंगे पेश

116

उत्तर प्रदेश में अवैध खनन के मामले में सेंट्रल ब्यूरो ऑफ इन्वेस्टिगेशन (सीबीआई) ने समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव नोटिस (CBI Notice to Akhilesh Yadav) जारी किया है। यह नोटिस सीआरपीसी की धारा 160 के तहत जारी किया गया है। सपा चीफ को 29 फरवरी यानी कल दिल्ली में सीबीआई के सामने पेश होना होगा। वह बतौर गवाह पेश होंगे।

सीबीआई कर रही अवैध खनन मामले की जांच

दरअसल, सीबीआई के द्वारा यूपी में अवैध खनन मामले की जांच की जा रही है। नोटिस में कहा गया कि मामले से जुड़े कुछ सवालों के जवाब देने के लिए अखिलेश यादव को सीबीआई के सामने उपस्थित होना होगा। बता दें कि समाजवादी पार्टी की सरकार के दौरान साल 2012-2016 के बीच हमीरपुर में अवैध रूप से खनन का मामला सामने आया था।

Also Read: UP: समाजवादी पार्टी में शामिल हुए BSP के कद्दावर नेता गुड्डू जमाली, अखिलेश ने कहा- बढ़ता जा रहा PDA परिवार

इस मामले में जनवरी 2019 में सीबीआई ने केस दर्ज किया था। तत्कालीन जिलाधिकारी, खनन अधिकारी व अन्य सहित कई लोक सेवकों के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज की गई थी। इसमे आरोप लगाया गया कि सरकारी कर्मचारियों ने हमीरपुर में खनिजों का अवैध खनन होने दिया। अब इसी मामले में तत्कालीन मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को पेश होने को कहा गया है।

वहीं, अखिलेश यादव को सीबीआई का नोटिस दिए जाने के बाद राजनीतिक दलों की प्रतिक्रियाएं सामने आई हैं। आरएलडी नेता रोहित अग्रवाल ने एक्स पर पोस्ट कर कहा कि जवानी कुर्बान गैंग एक्टिव हो जाओ, भैया जी को नोटिस आया है।

Also Read: UP: सपा विधायक पूजा पाल ने कहा- BJP को वोट कर मैंने सीएम योगी को धन्यवाद व्यक्त किया

वहीं, दूसरी तरफ यूपी कांग्रेस अध्यक्ष अजय राय ने कहा कि भाजपा यह काम अखिलेश यादव को घेरने के लिए कर रही है। मीडिया से बातचीत में उन्होंने कहा कि अखिलेश यादव आईएनडीआईए गठबंधन का मजबूत हिस्सा हैं और भाजपा उन्हें पुराने मामलों के जरिए घेरने का प्रयास कर रही है।

देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करेंआप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )