कानपुर: BJP नेता के ऑफिस में घुसकर कांग्रेस नेता ने की गुंडई, गाली-गलौज करते हुए तान दी रिवॉल्वर, Video वायरल

62

उत्तर प्रदेश में कानपुर (Kanpur) के कल्याणपुर एरिया में कांग्रेस पार्टी के नेता और गोविंदनगर विधानसभा क्षेत्र के पूर्व प्रत्याशी अंबुज शुक्ला (Congress Leader Ambuj Shukla) ने बीजेपी नेता भूपेश अग्रवाल के कार्यालय में घुसकर गुंडई की है। इसका वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है। वीडियो में कांग्रेस नेता अपने साथियों संग बीजेपी नेता के कार्यालय में घुसे और कर्मचारियों से मारपीट करते व रिवॉल्वर तानकर धमकी देखे नजर आ रहे हैं।

शिकायत पर जब्त हुई रिवॉल्वर

इस मामले में बीजेपी नेता के कर्मचारी की तहरीर पर पुलिस ने रिपोर्ट दर्जकर आरोपी नेता व उसके साथियों को हिरासत में लेकर लाइसेंसी रिवाल्वर जब्त कर ली है। सूत्रों ने बताया कि कल्याणपुर बगिया क्रॉसिंग निवासी भाजपा नेता व वर्ष 2007 में संघ में जिला प्रचारक रहे भूपेश अग्रवाल ने बताया कि उनका पक्षी विहार लखनपुर में कंस्ट्रक्शन कंपनी का ऑफिस है।

शुक्रवार की दोपहर ऑफिस कर्मचारी मनीष दिवाकर स्कूटी से अपने घर नवाबगंज ख्योरा जा रहा था। तभी यूथ कांग्रेस के पूर्व जिलाध्यक्ष रहे अंबुज शुक्ला के बेटे शुभम और सूर्यांश भी गाड़ी से निकल रहे थे। इस दौरान पहले तो निकलने को लेकर रास्ते में दोने के बीच विवाद हुआ। इसके बाद मामला मारपीट तक जा पहुंचा। दोनों वहां से एक-दूसरे से गाली-गलौज करते हुए निकल गए।

बीजेपी नेता के कार्यालय में तान दी रिवॉल्वर

इसके कुछ देर बाद अंबुज शुक्ला अपने दोनों बेटों शुभम, सूर्यांश व अन्य साथियों के साथ भाजपा नेता के दफ्तर पहुंचे। गाली-गलौज करते हुए रिवॉल्वर तान दी। मारपीट करने के बाद धमकी देते हुए वहां से चला गया। सूचना पर कल्याणपुर थाना पुलिस मौके पर पहुंची। जांच में सभी आरोप सही पाए गए। वहीं, घटना का सीसीटीवी कैमरे का फुटेज भी सोशल मीडिया पर वायरल रहा।

Also Read: UP: अखिलेश यादव बोले- मेरी पार्टी के जिन लोगों ने राज्यसभा में क्रॉस वोटिंग की, क्या उनको भी मिलेगा मंत्री वाला पैकेज?

इस मामले में एसीपी कल्याणपुर अभिषेक पांडेय ने बताया कि मनीष दिवाकर की तहरीर पर अंबुज शुक्ला, उनके दोनों बेटे सूर्यांश, शुभम, ड्राइवर नसीम खान के साथ ही अज्ञात के खिलाफ बलवा, मारपीट, जान से मारने की धमकी देने, रंगदारी, एससी/एसटी एक्ट समेत अन्य गंभीर धाराओं में रिपोर्ट दर्ज की है। रिवॉल्वर का लाइसेंस निरस्त करने के लिए जिला प्रशासन को रिपोर्ट भेजी जाएगी।

देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करेंआप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )