Akash Anand: मायावती ने आकाश आनंद को ‘उत्तराधिकारी’ बनाने का वापस लिया फैसला, नेशनल कोऑर्डिनेटर पद से भी हटाया

71

बसपा सुप्रीमो मायावती (Mayawati) ने मंगलवार को अपने भतीजे आकाश आनंद (Akash Anand) को उत्तराधिकारी और नेशनल कोऑर्डिनेटर के पद से हटा दिया है। इसके साथ ही मायावती ने स्पष्ट किया कि आकाश के पिता आनंद कुमार पार्टी में अपनी जिम्मेदारियां निभाते रहेंगे।

मायावती ने एक्स पर कही ये बात
मायावती ने एक्स पर पोस्ट कर कहा कि विदित है कि बीएसपी एक पार्टी के साथ ही बाबा साहेब डा भीमराव अम्बेडकर के आत्म-सम्मान व स्वाभिमान तथा सामाजिक परिवर्तन का भी मूवमेन्ट है, जिसके लिए मान्यवर श्री कांशीराम जी व मैंने खुद भी अपनी पूरी ज़िन्दगी समर्पित की है और इसे गति देने के लिए नई पीढ़ी को आगे बढ़ाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि यही वजह है कि आकाश आनंद को नेशनल कोऑर्डिनेटर और अपना उत्तराधिकारी घोषित किया, लेकिन पार्टी और मूवमेंट के व्यापक हित में पूर्ण परिपक्वता (maturity) आने तक अभी उन्हें इन दोनों अहम जिम्मेदारियों से अलग किया जा रहा है।

उन्होंने कहा कि जबकि इनके पिता श्री आनन्द कुमार पार्टी व मूवमेन्ट में अपनी जिम्मेदारी पहले की तरह ही निभाते रहेंगे। अतः बीएसपी का नेतृत्व पार्टी व मूवमेन्ट के हित में एवं बाबा साहेब डा. अम्बेडकर के कारवाँ को आगे बढ़ाने में हर प्रकार का त्याग व कुर्बानी देने से पीछे नहीं हटने वाला है। बता दें कि यह कार्रवाई तीसरे चरण की वोटिंग खत्म होने के बाद लिया गया। आकाश ने पिछले दिनों एक के बाद एक भाजपा पर बयान दिए थे। इस एक्शन को उससे जोड़कर भी देखा जा रहा है।

इन बयानों के बाद आकाश आनंद पर कार्रवाई

बता दें कि बीते 6 अप्रैल को आकाश आनंद ने लोकसभा चुनाव को लेकर पहली जनसभा बिजनौर में की। यहां उन्होंने कहा था कि भाजपा सरकारी खर्चे पर अपनी योजनाओं का बखान कर रही है। प्रदेश सरकार को खुद को ‘बुलडोजर सरकार’ कहलवाना बहुत अच्छा लगता है। लेकिन जनता ने सरकार को तोड़ने के लिए नहीं, जोड़ने के लिए चुना था।

वहीं, 24 अप्रैल को संत कबीर नगर में आकाश आनंद ने कहा कि भाजपा गद्दार और घमंडी है। ये कहते हैं कि इन्होंने राम मंदिर बनवाया। तुम कौन होते हो भगवान को लाने वाले? आकाश ने बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा कि तुम इंसान होकर भगवान को लाने की बात कर रहे हो। मंदिर तो सर्वोच्च न्यायालय के आदेश के बाद बनना प्रारंभ हुआ और इसमें जनता के पैसे लग रहे हैं। इसमें बीजेपी का क्या लगा है।

Also Read: सीतापुर: CM योगी ने सपा पर साधा निशाना, बोले- राम पर आस्था रखने वाले कर सकते हैं विकास, आतंकियों के मुकदमे वापस लेने वाले नहीं

उधर, 25 अप्रैल को आकाश आनंद ने आजमगढ़ में कहा कि सरकारी नौकरियों के लिए पेपर देते हो और वो लीक हो जाता है, तो मन करता है जिसने पेपर लीक किया, उसका गूदा निकालकर जमीन में गाड़ दें। उन्होंने सपा को देशद्रोही और गद्दार कहा था। इसके बाद 28 अप्रैल को सीतापुर जनपद में आकाश आनंद ने बीजेपी सरकार को आतंकवादी सरकार बता दिया। उन्होंने कहा कि बीजेपी सरकार ने आवाम को गुलाम बनाकर रखा है।

आकाश ने कहा था कि अब ऐसी सरकार को उखाड़कर फेंकना है। जो सरकार रोजगार और पढ़ाई नहीं दे सकती, उसे सत्ता में रहने का कोई हक नहीं। अगर ऐसे लोग आपके बीच वोट मांगने आते हैं, तो जूता निकालकर रेडी कर लीजिए। वोट की जगह जूता मारने का वक्त आ गया है।

( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )