हिंदू हृदय सम्राट बाल ठाकरे के बेटे उद्धव की तरफ झुक रहे महाराष्ट्र के मुसलमान?

99

Lok Sabha Election 2024: पिछले दो सालों महाराष्ट्र की राजनीति काफी बदली है। इस बदली हुई राजनीति का असर 2024 लोकसभा चुनावों में साफ दिख रहा है। महाराष्ट्र लोकसभा चुनावों में महायुति और महाविकास आघाड़ी ने एक भी मुस्लिम को टिकट नहीं दिया है, ऐसे में मुस्लिमों का झुकाव अप्रत्याशियत तौर पर उद्धव ठाकरे की तरफ दिख रहा है।

महाराष्ट्र के मुस्लिम मतदाताओं में उद्धव ठाकरे की तरफ झुकाव

समावेशी राजनीति करने के चलते उद्धव ठाकरे की नई इमेज बनी

जलगांव, मालेगांव और धुले जैसे क्षेत्रों में उद्धव के प्रति है नरम रुख

महाराष्ट्र में 21 सीटों पर चुनाव लड़ रही है उद्धव ठाकरे की शिवसेना

मुंबई: फरवरी महीने में मुंबई में एक पार्टी कार्यकर्ता बैठक को संबोधित करते हुए महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कहा था कि मुस्लिम समुदाय शिवसेना के साथ आ रहा है क्योंकि उनका हिंदुत्व का ब्रांड बीजेपी के हिंदुत्व के ब्रांड से अलग है। उन्होंने कहा था कि हमारा हिंदुत्व घरों में चूल्हा जलाने का काम करता है जबकि बीजेपी का हिंदुत्व घरों को जलाने का काम करता है। उद्धव ठाकरे का उस बयान का तीन महीने बाद असर दिख रहा है। पहली बार ऐसा है कि बड़ी संख्या में मुसलमान उद्धव ठाकरे के साथ आ रहे हैं। उनका कहना है कि वे उद्धव की अगुवाई वाले शिवसेना के खेमे के समान व्यवहार से सुरक्षित महसूस कर रहे हैं। सेना के संस्थापक बाल ठाकरे को ‘हिंदू हृदय सम्राट’ कहा जाता था। अब उनके बेटे उद्धव ठाकरे राज्य में समावेशी राजनीतिक का नया चेहरा बनाकर उभर रहे हैं। इसमें मामले में वह कांग्रेस को भी पीछे छोड़ रहे हैं।