कैसरगंज के बुज़ुर्ग व दिव्यांग मतदाताओं को घर पर मिली मतदान की सुविधा

35

डीएम ने कलेक्ट्रेट परिसर से पोलिंग पार्टियों को किया रवाना

मतदान की तिथि 15 व 16 मई निर्धारित

बहराइच। लोकसभा सामान्य निर्वाचन-2024 केे मतदान में भारत निर्वाचन आयोग द्वारा 85 वर्ष से अधिक आयु के बुज़ुर्ग व दिव्यांगजन मतदाताओं को वैकल्पिक सुविधा के रूप में पोस्टल बैलट से मतदान कराने की सुविधा प्रदान की गयी है। जनपद के 57-(आंशिक) कैसरगंज लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र अन्तर्गत जनपद में समाहित विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र पयागपुर एवं कैसरगंज के 85 वर्ष से अधिक आयु तथा दिव्यांगजन मतदाताओं के मतदान हेतु 15 व 16 मई 2024 की तिथियॉ निर्धारित की गयी है। ऐसे मतदाता जो किन्हीं कारणों से 15 मई को मतदान नहीं कर पायेंगे उन्हें 16 मई 2024 को दोबारा मतदान का अवसर मिलेगा। जनपद के 57-(आंशिक) कैसरगंज लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र अन्तर्गत जनपद में समाहित विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र पयागपुर एवं कैसरगंज अन्तर्गत बुज़ुर्ग व दिव्यांजन मतदाताओं की बात की जाय तो विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र पयागपुर में 85 वर्ष से अधिक आयु के 20 व दिव्यांगजन कटेगरी के 11 कुल 31 मतदाता चिन्हित हैं। इसी प्रकार विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र कैसरगंज में 36 बुज़ुर्ग व दिव्यांग 14 कुल 50 इस प्रकार कुल 81 मतदाता जिनमें 85 वर्ष से अधिक आयु वर्ग के 56 व दिव्यांगजन कैटेगरी के 25 मतदाता है। लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र-57(आंशिक) कैसरगंज अन्तर्गत प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र के लिए गठित की गई 03-03 पोलिंग पार्टियों को जिलाधिकारी मोनिका रानी ने कलेक्ट्रेट परिसर से हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया। इस अवसर पर प्रभारी अधिकारी कार्मिक/सीडीओ रम्या आर, उप जिलाधिकारी पयागपुर दिनेश कुमार व कैसरगंज के पंकज दीक्षित, प्रभारी पोस्टल बैलेट राकेश कुमार मौर्या, जिला विकास अधिकारी महेन्द्र कुमार पाण्डेय, एआरटीओ ओ.पी. सिंह, बीएसए अव्यक्तराम तिवारी सहित अन्य अधिकारी मौजूद रहे।
डीएम ने बताया कि बुज़ुर्ग व दिव्यांगजन मतदाताओं को भारत निर्वाचन आयोग की मंशानुरूप बैलैट मतपत्र की सुविधा उपलब्ध कराये जाने हेतु लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र कैसरगंज अन्तर्गत विधान सभा निर्वाचन क्षेत्र पयागपुर व कैसरगंज के लिए 03-03 पोलिंग पार्टियां बनाई गई है। प्रत्येक मतदान दल में पीठासीन अधिकारी स्तर के 02 मतदान कार्मिक तथा 01 माइक्रोआब्ज़र्वर, वीडियोग्राफर तथा मानक के अनुरूप सशस्त्र सुरक्षा कर्मियों की तैनाती भी की गई है।

रिपोर्ट – संतोष मिश्रा