अकबर और युसूफ ने डकैती का माल मुरादाबाद में खरीदा, तमिलनाडु पुलिस बरामद करने पहुँची तो दम भर कूटा: 2 दारोगा घायल, वर्दी फाड़ी

92

उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद जिले में डकैती का माल बरामद करने के लिए दबिश देने आई तमिलनाडु पुलिस पर हमला करने की खबर है। हमला अकबर और युसूफ की दुकानों पर तलाशी के दौरान हुआ। रविवार (19 मई 2024) को हुए हमले में 2 सब इंस्पेक्टर घायल हो गए हैं। पुलिसकर्मियों की वर्दी भी फाड़ दी गई। महिला स्टाफ को भी निशाना बनाया गया। हमलावरों में महिलाएँ भी शामिल हैं।

तमिलनाडु पुलिस के साथ मौजूद UP पुलिस के जवानों को भी चोटें आईं। कुल 9 हमलावरों के खिलाफ FIR दर्ज करके 5 आरोपितों को गिरफ्तार किया गया है। यह घटना मुरादाबाद के पाकबड़ा थाना क्षेत्र की है। रिपोर्ट्स के मुताबिक, तमिलनाडु के विल्लुपुरम की रहने वाली गीता देवी के घर 6 अप्रैल 2024 को डकैती पड़ी थी। इस दौरान नकदी और ज्वैलरी लूट ली गई थी।

तमिलनाडु पुलिस ने कुछ स्थानीय डाकुओं को पकड़ा। उन्होंने बताया कि माल को UP के मुरादाबाद जिले में बेचा गया है। पड़ताल के दौरान तमिलनाडु पुलिस को पता चला कि ज्वैलरी को मुरादाबाद के पाकबड़ा इलाके में सर्राफा की दुकान वाले अकबर और युसुफ ने खरीदा है। इस सूचना पर माल बरामद करने के लिए 19 मई को तमिलनाडु पुलिस मुरादाबाद पहुँची।

तमिलनाडु पुलिस की इस टीम में सब इंस्पेक्टर आनंदरसन और पांडियन के अलावा हेड कॉन्स्टेबल महाराजन, सैयद हबीज और कॉन्स्टेबल शक्तिवेल, इब्राहिम आदि शामिल थे। इस टीम के साथ उत्तर प्रदेश पुलिस के जवान भी मौजूद थे। इस पुलिस टीम में महिला स्टाफ भी शामिल थीं। यह टीम दोपहर लगभग 2:34 पर जुम्मेरात का बाजार नाम से प्रसिद्ध सर्राफा बाजार पहुँची।

पुलिस ने अकबर, युसूफ और फ़रजान के दुकानों की तलाशी शुरू की। तलाशी के दौरान तीनों दुकानदारों ने पुलिस कार्रवाई का विरोध शुरू कर दिया। वो जोर-जोर से चिल्लाने लगे और पुलिस टीम को गालियाँ देते हुए धक्का-मुक्की करने लगे। इन तीनों के चिल्लाने पर भीड़ जमा होने लगी। इस भीड़ में यूनुस, अब्दुल, वसीम, हनीफ के साथ शायरा बानो, हिना परवीन आदि भी पहुँच गए।

इनके साथ आधे दर्जन अन्य अज्ञात लोग भी थे। इनमें कुछ और महिलाएँ भी शामिल हैं। इन सभी ने पुलिस से अभद्रता शुरू कर दी। पुलिस ने आक्रोशित भीड़ को समझाने की बहुत कोशिश की, लेकिन वो नहीं माने। FIR के अनुसार अकबर, युसूफ, फरजन, यूनुस, अब्दुल, वसीम, हनीफ के साथ शायरा बानो और हिना परवीन ने आधे दर्जन अन्य लोगों के साथ मिलकर पुलिस पर हमला बोल दिया।

इन सभी ने सरकारी काम में बाधा डाली। महिला पुलिसकर्मियों को भी निशाना बनाया गया। 2 सब इंस्पेक्टरों को चोटें आईं, जब तीसरे दरोगा की वर्दी फाड़ दी गई। मौके पर मौजूद पुलिसकर्मियों ने अतिरिक्त फ़ोर्स मँगवाई। फ़ोर्स आती देखकर हमलावर पुलिस वालों को जान से मार डालने की धमकी देते हुए भाग निकले। ऑपइंडिया के पास FIR कॉपी मौजूद है।

पुलिस ने अकबर, युसूफ, फरजन, यूनुस, अब्दुल, वसीम, हनीफ के साथ शायरा बानो और हिना परवीन को नामजद करते हुए 6 अन्य अज्ञात हमलावरों के खिलाफ FIR दर्ज की है। यह FIR IPC की धारा 147, 148, 332, 336, 353, 504 और 506 के तहत दर्ज की गई। घायल पुलिसकर्मियों का इलाज करवाया गया।

मुरादाबाद पुलिस ने 20 मई (सोमवार) को बताया कि हमले में शामिल 5 आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया गया है। गिरफ्तार आरोपितों में फरजन, युसूफ, वसीम, यूनुस व एक अन्य हैं। बाकी आरोपित फरार हैं जिनकी तलाश की जा रही है। अज्ञात हमलावरों की पहचान करने की दिशा में भी पुलिस कार्रवाई जारी है।