बस्ते में कपड़ों के बीच ड्रग्स भरकर ला रही थी राबिया, सूरत पुलिस ने दबोचा: पूछताछ के बाद 5 जगह मारी रेड; शफीक, फैजल समेत 9 गिरफ्तार

88

गुजरात में कई ड्रग तस्करों की गिरफ्तारी हुई है। इनमें एक महिला तस्कर भी शामिल है। उसका नाम राबिया शेख है। पता चला है कि राबिया अपने बस्ते में कपड़ों के भीतर ड्रग छिपाकर उन्हें सूरत में तस्करी के लिए ला रही थी। हालाँकि सूरत क्राइम ब्रांच ने उसे स्टेशन से अरेस्ट कर लिया। उसके साथ उसका साथी शफीक खान भी दबोचा गया है। इसके अलावा इस कार्रवाई के बाद हुई पूछताछ से कई तस्करों को हिरासत में लिया गया है। अब तक कुल 9-10 गिरफ्तारियों की बात सामने आ रही है।

उल्लेखनीय है कि राबिया की गिरफ्तारी उस समय सामने आई है जब सूरत में पुलिस लंबे समय से ड्रग के विरुद्ध एक्शन में है। इसी क्रम में सूरत क्राइम ब्रांच को राबिया के आने की सूचना मिली थी। उन्हें पता चला था कि मुंबई के गोवंडी में रहने वाली एक महिला राबिया शेख एम.डी.ड्रग्स की बड़ी खेप लेकर सूरत आ रही है। इसी टिप पर सूरत रेलवे स्टेशन पर पुलिस ने निगरानी रखी और मुंबई से जैसे ही ट्रेन सूरत आई राबिया और शफीक को पुलिस ने दबोच लिया।

इंडिया टीवी खबर में बताया गया है कि सूरत पुलिस इस केस पर पिछले 1 महीने से भी ज्यादा समय से काम कर रही थी। उन्होंने सारे अपराधियों की डिटेल्स इकट्ठे कर लिए थे। राबिया को लेकर उनके पास जानकारी आई थी कि वो ट्रेन, सूरत आने के लिए ट्रेन, बस और रिक्शे चेंज करती रहती थी। इस बार पुलिस ने शुरू से ही राबिया के पीछे 2 कॉन्स्टेबल लगा दिए थे ताकि उसके हर मूवमेंट पर नजर रखी जा सके। साथ ही उसके डिलीवरी एजेंट्स को भनक तक नहीं लगने दी कि वे क्राइम ब्रांच के रडार पर हैं।

राबिया के मुंबई से सूरत पहुँचने के बाद उसपर कार्रवाई की गई। छानबीन में राबिया के पास एक स्कूल बैग मिला। उसकी जाँच हुई तो उसमें उसने कपड़ों के बीच में ढाई सौ ग्राम एमडी ड्रग मिला। पुलिस ने सख्ती से पूछताछ की तो इन लोगों ने कुछ अन्य ड्रग पेडलर्स के नाम और पते भी बताए। इसके बाद सूरत क्राइम ब्रांच ने 5 जगहों पर रेड मारी। इन जगहों मे होटल से लेकर आरोपितों के घर शामिल हैं।

पहले पता चला कि राबिया और शफीक द्वारा बताए गए मोहसिन शेख, सरफराज उर्फ सलमान और फैजल पाल इलाके के काचा मरीना होटल में हैं। हालाँकि जब पुलिस गई तो वहाँ पर सिर्फ सरफराज ही था। चेकिंग के दौरान होटल के कमरे से 28 ग्राम एमडी ड्रग बरामद हुआ, फिर रान्देर इलाके में स्थित रमा रेजिडेंसी के पास रोड से फैसल अल्लारखा कचरा और यासीन बाबुल मुल्ला को 31 ग्राम ड्रग्स के साथ गिरफ्तार किया। इसके बाद मोहसिन शेख और अशफाक शेख की तलाशी में उनके घरों में भी रेड मारी गई।

छापे के वक्त अशफाक ने दूसरे की छत पर कूदकर भागने की कोशिश की, हालाँकि वो नाकाम हो गया। चोट आने पर तुरंत अस्पताल ले जाया गया। पड़ताल के दौरान 14 ग्राम ड्रग मिला। इसी तरह नानपुरा श्रुति हॉस्पिटल के सामने से आसिफ सैयद उर्फ़ बाबू को भी पुलिस ने पकड़कर उसके पास से भी 27 ग्राम एम.डी. ड्रग बरामद किया।

कुल मिलाकर सूरत क्राइम ब्रांच ने 5 जगह रेड डालकर 354.650 ग्राम ड्रग्स और 1.930 ग्राम गांजा भी बरामद किया। इस कार्रवाई में गोवंडी की राबिया के अलावा यूपी के जौनपुर का शफीक खान पठान, भरूच के सरफराज और सलमान, सूरत के फैसल अल्लारखा कचरा, यासीन बाबुल मुल्ला, अशफाक मोहम्मद, युनिस शेख और आसिफ सैयद को गिरफ्तार किया गया।

इंडिया टीवी खबर में बताया गया है कि सूरत पुलिस इस केस पर पिछले 1 महीने से भी ज्यादा समय से काम कर रही थी। उन्होंने सारे अपराधियों की डिटेल्स इकट्ठे कर लिए थे। राबिया को लेकर उनके पास जानकारी आई थी कि वो ट्रेन, सूरत आने के लिए ट्रेन, बस और रिक्शे चेंज करती रहती थी। इस बार पुलिस ने शुरू से ही राबिया के पीछे 2 कॉन्स्टेबल लगा दिए थे ताकि उसके हर मूवमेंट पर नजर रखी जा सके। साथ ही उसके डिलीवरी एजेंट्स को भनक तक नहीं लगने दी कि वे क्राइम ब्रांच के रडार पर हैं।

राबिया के मुंबई से सूरत पहुँचने के बाद उसपर कार्रवाई की गई। छानबीन में राबिया के पास एक स्कूल बैग मिला। उसकी जाँच हुई तो उसमें उसने कपड़ों के बीच में ढाई सौ ग्राम एमडी ड्रग मिला। पुलिस ने सख्ती से पूछताछ की तो इन लोगों ने कुछ अन्य ड्रग पेडलर्स के नाम और पते भी बताए। इसके बाद सूरत क्राइम ब्रांच ने 5 जगहों पर रेड मारी। इन जगहों मे होटल से लेकर आरोपितों के घर शामिल हैं।

पहले पता चला कि राबिया और शफीक द्वारा बताए गए मोहसिन शेख, सरफराज उर्फ सलमान और फैजल पाल इलाके के काचा मरीना होटल में हैं। हालाँकि जब पुलिस गई तो वहाँ पर सिर्फ सरफराज ही था। चेकिंग के दौरान होटल के कमरे से 28 ग्राम एमडी ड्रग बरामद हुआ, फिर रान्देर इलाके में स्थित रमा रेजिडेंसी के पास रोड से फैसल अल्लारखा कचरा और यासीन बाबुल मुल्ला को 31 ग्राम ड्रग्स के साथ गिरफ्तार किया। इसके बाद मोहसिन शेख और अशफाक शेख की तलाशी में उनके घरों में भी रेड मारी गई।

छापे के वक्त अशफाक ने दूसरे की छत पर कूदकर भागने की कोशिश की, हालाँकि वो नाकाम हो गया। चोट आने पर तुरंत अस्पताल ले जाया गया। पड़ताल के दौरान 14 ग्राम ड्रग मिला। इसी तरह नानपुरा श्रुति हॉस्पिटल के सामने से आसिफ सैयद उर्फ़ बाबू को भी पुलिस ने पकड़कर उसके पास से भी 27 ग्राम एम.डी. ड्रग बरामद किया।

कुल मिलाकर सूरत क्राइम ब्रांच ने 5 जगह रेड डालकर 354.650 ग्राम ड्रग्स और 1.930 ग्राम गांजा भी बरामद किया। इस कार्रवाई में गोवंडी की राबिया के अलावा यूपी के जौनपुर का शफीक खान पठान, भरूच के सरफराज और सलमान, सूरत के फैसल अल्लारखा कचरा, यासीन बाबुल मुल्ला, अशफाक मोहम्मद, युनिस शेख और आसिफ सैयद को गिरफ्तार किया गया।