बरेली गैंगवार के मास्टरमाइंड पर चला बाबा का बुलडोजर

122

बरेली में 22 जून को सुबह इज्जतनगर थाना क्षेत्र में गैंगवार के मामले में अब जिला प्रशासन एक्शन में आ गया है. बवाल करने में आरोपित बिल्डर राजीव राणा का होटल सील करने के बाद गुरुवार को बुलडोजर की कार्रवाई हुई. दो बिल्डिंग का ध्वस्तीकरण किया गया जबकि दो और बिल्डिंगों का नोटिस जारी कर दिया गया है, जिसे भी जल्द ही जमींदोज कर दिया जाएगा.

गैंगस्टर एक्ट के तहत कार्रवाई
इस मामले में जब कार्रवाई शुरू हुई तब पुलिस को बिल्डर के सिटी स्टार होटल का नाम सामने आया. सीसीटीवी के आधार पर पुलिस ने देखा कि इसी होटल में प्लॉट को कब्जाने की पूरी साजिश रची गई. यहीं से सुबह तड़के प्लॉट पर पहुंचकर जेसीबी से रखें पत्थरों को ढहा दिया गया था. बिल्डिंग को तोड़ दी गई थी और बीडीए की बाउंड्री वॉल को भी तोड़ दिया गया था. इस दौरान दोनों ओर से करीब 100 राउंड से ऊपर फायरिंग करी गई थी. इस मामले में पुलिस ने 18 से ज्यादा आरोपियों को दोनों ओर से गिरफ्तार कर लिया जेल भेज दिया है. वहीं इन अपराधियों के खिलाफ गैंगस्टर एक्ट के तहत भी कार्रवाई की जाएगी और अवैध रूप से करी गई संपत्तियों को ढहाया जाएगा. आज जब पुलिस की कार्रवाई शुरू हुई तो आसपास के लोगों ने इसे सही बताया और कहा कि ऐसे लोगों के खिलाफ कार्रवाई होनी चाहिए जो अवैध रूप से दहशत फैलाने का काम करते हैं.

6 पुलिस कर्मियों को सस्पेंड कर विभागीय जांच
दरअसल, इज्जत नगर थाना क्षेत्र में 22 जून को फिल्मी स्टाइल में गैंगवार हुआ था. इस मामले में कई वीडियो सामने आए थे और बड़ा सवाल पुलिस पर खड़ा हुआ था. जिसके बाद मामले की गंभीरता को देखते हुए एसपी ने थाना अध्यक्ष इज्जत नगर, दरोगा सहित 6 पुलिस कर्मियों को सस्पेंड कर विभागीय जांच बैठा दी थी. मामला शासन तक पहुंचा और योगी सरकार ने एक्शन लेते हुए कार्रवाई करने का आदेश दे दिया. साथ ही एसएसपी बरेली का तबादला कर दिया गया. ADG रमित शर्मा ने बुधवार को चार्ज लेने के दौरान कहा था कि किसी भी हालत में अपराधियों के खिलाफ कोई भी कोर कसर नहीं छोड़ी जाएगी. रमित शर्मा के प्रयागराज में रहते हुए अतीक और अशरफ की कई सारी संपत्तियों को ढहाया गया था.