सिद्धार्थनगर में मवेशी के लिए घास काटने गई महिला को कुत्तों ने नोचा, इलाज के दौरान तोड़ा दम

90

उत्‍तर प्रदेश के सिद्धार्थनगर जिले में एक दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है। यहां कुत्‍तों के एक झुंड ने महिला को मौत के घाट उतार दिया। इससे पूरे क्षेत्र में हड़कंप मचा हुआ है। बताया जा रहा है कि मृतक महिला पशुओं के लिए खेत में चारा लेने गई थी। इस दौरा कुुत्‍तों ने उसपर हमला कर दिया।

डुमरियागंज, सिद्धार्थनगर। मवेशी के लिए हरा चारा लेने गई महिला को बुधवार की सुबह कुत्तों के झुंड ने काटकर घायल कर दिया। उसे उपचार के लिए सीएचसी बेवा ले जाया गया। वहां उसकी गंभीर देख चिकित्सकों ने उसे मेडिकल कालेज बस्ती रेफर कर दिया। वहां उपचार के दौरान उसकी मृत्यु हो गई।

महिला का नाम जैतुन्निशां पत्नी सफीक है। घटना को लेकर वार्ड वासियों में आक्रोश है। उन्होंने बताया कि कुत्ते पहले भी लोगों को काटकर घायल कर चुके हैं। वह इसकी शिकायत नगर पंचायत प्रशासन ने कर चुके हैं, लेकिन किसी ने ध्यान ही नहीं दिया।

नगर पंचायत डुमरियागंज के वार्ड नंबर दो की निवासिनी 50 वर्षीया जैतुन्निशां सुबह करीब नौ बजे अपनी भैंस के लिए घास काटने के लिए गई थी। वह वार्ड में पूरब की तरफ खेतों में घास काट रही थी। तभी उन पर कुत्तों के झुंड ने हमला कर दिया।

उन्होंने शोर मचाया तो खेतों में काम कर रहे आस-पास के लोग भी वहां आ गए। उन्होंने किसी तरह कुत्तों को वहां से भगाया, लेकिन तब तक वह जैतुन्निशां को काटकर गंभीर रूप से घायल कर चुके थे। स्वजन उन्हें उपचार के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र बेवा लेकर गए।

वहां उनकी स्थिति गंभीर देख चिकित्सकों ने उन्हें मेडिकल कालेज बस्ती रेफर कर दिया। वहां उपचार के दौरान जैतुन्निशां की मृत्यु हो गई। घटना को लेकर वार्डवासी नाराज हैं। उनका कहना है कि वार्ड में कुत्ते कई लोगों को काट चुके हैं।

एक बछड़ा व दो नील गाय भी इनके काटने से घायल हो चुके हैं। उन्होंने इसकी शिकायत नगर पंचायत प्रशासन से की थी, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई।

उप जिलाधिकारी डुमरियागंज संजीव दीक्षित ने बताया कि नगर पंचायत को निर्देशित किया गया है कि वह कुत्तों को पकड़वाकर कहीं और भेजे। ताकि लोग सुरक्षित रह सकें।