‘होश में रहिए दारोगा जी, भूत बना दूंगा आपको’, फर्रुखाबाद में पुलिस को धमकाता खनन माफिया, Video वायरल

204
उत्तर प्रदेश के फर्रुखाबाद (Farrukhabad) जनपद का एक वीडियो (Video) सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है, जिसमें खनन माफिया (Mining Mafia) दारोगा को धमकाता (Threaten Sub Inspector) नजर आ रहा है। दारोगा से अभद्रता करने और धमकाने के आरोप में खनन माफिया व भाजयुमो जिला उपाध्यक्ष सहित 14 लोगों के खिलाफ आईटीआई चौकी इंचार्ज सुरजीत सिंह (ITI Chowki Incharge Surjeet Singh) ने रिपोर्ट दर्ज कराई गई है। अब पुलिस इन सभी की तलाश में छापेमारी कर रही है।

विवाद और फायरिंग की मिली थी सूचना

सूत्रों ने बताया कि थाना कादरी गेट की आईटीआई चौकी प्रभारी सुरजीत सिंह द्वारा दर्ज कराई गई रिपोर्ट में कहा गया है कि 20 अगस्त की रात 12 बजे वह गश्त पर थे। थाने में सूचना मिली कि बेबर रोड़ पर विवाद और फायरिंग हुई है। गोली चलने की सूचना पर वह चीता मोबाइल के साथ मौके पर पहुंचे। पीछे से प्रभारी निरीक्षक भी आ गये। पुलिस पूछताछ कर रही थी।

इस दौरान आशीष प्रताप सिंह उर्फ सचिन ठाकुर पुत्र ग्रीश चन्द्र निवासी चिलसरा शमसाबाद हाल पता नरायनपुर कादरी गेट अपने साथी भाजयुमो जिला उपाध्यक्ष अमित ठाकुर पुत्र रघुपाल निवासी भुवनपुर ताजपुर अमृतपुर, मनु चतुर्वदी पुत्र विमल निवासी नेकपुर चौरासी, अंशुल मिश्रा उर्फ छतरी पुत्र रुपेश मिश्रा निवासी विजाधरपुर फतेहगढ़ व 8-10 अज्ञात के साथ मौजूद था।

पुलिसकर्मियों को घेरकर की गई अभद्रता

रिपोर्ट में बताया गया कि प्रभारी निरीक्षक जांच करने आगे चले गए, तभी दारोगा ने कहा की झूठी सूचना को सत्य बनाने का प्रयास क्यों कर रहे हो। इस पर सभी ने मिलकर चौकी इंचार्ज सुरजीत व सिपाहियों को घेर लिया और अभद्रता करने लगे। इन लोगों ने गाली-गलौज करते हुए पुलिसकर्मियों जान से मारने की धमकी दी और सड़क जाम करने का प्रयास किया। साथ ही सरकारी कार्य में बाधा पैदा की।

दारोगा को भूत बनाने की धमकी

खनन माफिया सचिन ठाकुर ने कहा कि तुम मुझे जानते नहीं हो और शोर शराबा करने लगे, जिससे आम जनता में भय व्याप्त हो गया। वीडियो में देखा जा सकता है कि दारोगा को भूत बनाने की धमकी दी जा रही है। सूत्रों के मुताबिक, सचिन ठाकुर व उसके साथी अवैध खनन का कार्य करते है। सचिन ठाकुर पर कई मुकदमे दर्ज हैं। दर्ज रिपोर्ट में कहा गया है कि पूर्व में सचिन ने एक तहसीलदार को धमकी दी थी। जिसमें वह जेल गया था। उसके खिलाफ कई मामले दर्ज हैं।

घटना के समय सिपाहियों ने वीडियो ग्राफी भी की जिसमे सभी सुनाई और दिखायी दे रहा है। पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ धारा 147, 504, 506, 186, 336, 353 व आपराधिक कानून (संसोधन) अधिनियम 1932 की धारा 7 के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया है। मुकदमें में नामजद होनें पर भाजयुमो जिला उपाध्यक्ष अमित ठाकुर पर पार्टी स्तर से भी कार्यवाही की जा सकती है।