सिद्धार्थनगर: राप्ती नदी का बढ़ा पानी, दहशत में गांव..चेतावनी बिंदु से महज 70 मीटर नीचे, 100 गांवों पर बाढ़ का खतरा मंडरा रहा

57

सिद्धार्थनगर में नेपाल के पश्चिमी पहाड़ों पर हो रही लगातार वर्षा के कारण राप्ती नदी का जलस्तर एक बार फिर तेजी से बढ़ रहा है। यह नदी बलरामपुर जिले में चेतावनी बिंदु से महज 70 मीटर नीचे बह रही है और बलरामपुर जिला प्रशासन की माने तो इसके जलस्तर में लगातार इजाफा हो रहा है। राप्ती का जलस्तर बढ़ने से जिले से सटे उतरौला क्षेत्र के लगभग 100 गांव पर बाढ़ का खतरा मड़रा रहा है।

यहां भी पढ़े-सिद्धार्थनगर: इटवा में पकड़ा गया मिलावटी पनीर, खोआ बनाने का कारोबार..तहसीलदार ने की छापेमारी, पांच क्विंटल पनीर व खोआ बरामद

जिले में यह नदी उफनाने को बेताब दिख रही है, जिस कारण भनवापुर व डुमरियागंज ब्लाक की लगभग 50 हजार की आबादी को बाढ़ का खतरा सताने लगा है। हालांकि तहसील प्रशान ने नदी का बढ़ता जलस्तर देख सभी बाढ़ चौकियों को अलर्ट कर निगरानी के निर्देश दिए हैं।

राप्ती नदी का बढ़ता जलस्तर एक बार फिर डुमरियागंज तहसील के लोगों के लिए सिर दर्द बनता जा रहा है। पिछले दो माह में इस नदी का जलस्तर पहाड़ी वर्षा के कारण चार बार बढ़ा, लेकिन फिर सामान्य हो गया, लेकिन इस बार पिछले चार दिनों ने नेपाल के पश्चिमी क्षेत्र प्यूठान, दांग, भालूवांग आदि क्षेत्रों में लगातार वर्षा हो रही है। वर्षा ने इन क्षेत्रों से गुजर कर आने वाली राप्ती के जलस्तर में बढोत्तरी कर दी है।

यहां भी पढ़े – शिव मंदिर में नंदी की मूर्ति पी रही दूध, दूध-कटोरी और चम्मच लेकर मंदिर दौड़े श्रद्धालु

डुमरियागंज के असनहरा, पिकौरा, जूड़ीकुइंया, बेतनार, वेब मुस्तहकम, भरवठिया, नेबुआ, राउतडीला आदि क्षेत्रों में नदी का बढ़ा जलस्तर आबादी की ओर जहां रुख करने को बेताब है, वहीं शाहपुर-भोजपुर बांध पर भी जगह-जगह नदी का दबाव बढ़ गया है। सिसई घाट पर तैनात स्किल वर्क असिस्टेंट मुकेश ने बताया कि राप्ती का जलस्तर एक सेमी प्रति घंटे की रफ्तार से बढ़ रहा है। एसडीएम डुमरियागंज प्रवेंद्र ने कहा कि हम बलरामपुर जिला प्रशासन के संपर्क में हैं। नदी के बढ़ते जलस्तर की जानकारी मिलते ही सभी बाढ़ चौकियों को अलर्ट करते हुए सिंचाई विभाग को निगरानी के निर्देश दिए हैं।