IAS Divya Mittal: कौन हैं आईएएस दिव्या मित्तल? लंदन की नौकरी छोड़ बन गईं सरकारी अफसर

629

Divya Mittal IAS Biography: दिव्या मित्तल उत्तर प्रदेश कैडर के 2013 बैच की आईएएस अधिकारी हैं. इस समय IAS Divya Mittal मिर्जापुर के जिलाधिकारी हैं. इससे पहले संत कबीर नगर जिले की डीएम थीं. अपने पहले के कार्यकाल में उन्होंने वीसी, बरेली विकास प्राधिकरण के रूप में काम किया था.

IAS Officer Divya Mittal: दिव्या मित्तल उत्तर प्रदेश कैडर के 2013 बैच की आईएएस अधिकारी हैं. इस समय IAS Divya Mittal मिर्जापुर के जिलाधिकारी हैं. इससे पहले संत कबीर नगर जिले की डीएम थीं. अपने पहले के कार्यकाल में उन्होंने वीसी, बरेली विकास प्राधिकरण के रूप में काम किया था. जॉइंट एमडी, यूपीएसआईडीए; सीडीओ, गोंडा और एसडीएम मवाना (मेरठ), मेरठ और सिधौली (सीतापुर) के पद पर भी तैनार रहीं. LBSNAA में आईएएस की ट्रेनिंग के दौरान, उन्हें 2 साल के पूरे ट्रेनिंग सेशन में शानदार प्रदर्शन के लिए बैच में एक आईएएस प्रोबेशनर को दिए जाने वाले अशोक बंबावाले पुरस्कार से सम्मानित किया गया था. सिविल सेवा में शामिल होने से पहले, वह लंदन में एक विदेशी डेरिवेटिव व्यापारी के रूप में काम कर चुकी हैं.

IAS दिव्या मित्तल बस्ती की नई DM

दिव्या ने जब पहली बार यूपीएससी का एग्जाम दिया था तब उन्होंने एग्जाम तो क्लियर कर लिया लेकिन आईएएस का पद नहीं मिला. पहली बार उन्हें आईपीएस का पद मिला था. इसके बाद उन्होंने फिर एग्जाम दिया और आईएएस अफसर बन गईं. दिव्या आईआईएम बैंगलोर से एमबीए हैं और उन्होंने आईआईटी दिल्ली से बीटेक किया है.

उन्हें आईएएस बनने की प्रेरणा उनके पति गगनदीप सिंह से मिली. गगनदीप सिंह भी इंजीनियरिंग के स्टूडेंट रहे हैं, दोनों ने शादी के बाद साथ में नौकरी जॉइन की. लेकिन मन नहीं लगा. दिव्या बताती हैं कि विदेशों में पैसा बहुत था लेकिन फिर भी उनकी तरह गगनदीप का भी मन वहां नहीं लगा. इसके बाद वह नौकरी छोड़कर वापस भारत आ गए. हालांकि, अच्छी नौकरी छोड़ने का फैसला करना मुश्किल था.

दोनों ने दिल्ली आकर आईएएस की तैयारी करनी शुरू कर दी. आईएएस बनने के लिए उन्होंने और गगनदीप ने कभी कोचिंग नहीं की. घर पर ही पढ़ाई की. गगनदीप ने 2011 में आईएएस क्वालीफाई किया और उन्होंने 2013 में. दोनों यूपी कैडर के आईएएस हैं. पति गगनदीप सिंह आईएएस एलाइड में भारत सरकार की सेवा में कानपुर में पोस्टेड हैं.

Success Story: IAS अफसर दिव्या मित्तल ने शेयर किए ये खास टिप्स, अपनाकर आप भी कर सकते UPSC, IIT और IIM की परीक्षा में टॉप

क्या आपको भी कभी ऐसा लगता है कि आप पढ़ने बैठे हैं और आपका ध्यान कहीं और ही है? दिमाग में बहुत कुछ चल रहा है और ध्यान केंद्रित करना कठिन होता जा रहा है? यह सब आपको पढ़ाई से ध्यान हटाने की ओर ले जाता है. पढ़ाई के दौरान ध्यान भटकना आम बात है, पर उन भटकावों पर काबू पाना और अपने फोकस को एक जगह केंद्रित करना हो तो आप कुछ खास उपाय कर सकते हैं.

IIT, IIM जैसी देश की बड़ी प्रतियोगिता परीक्षाओं में सफल होने के बाद UPSC की परीक्षा पास करने वाली IAS अफसर दिव्या मित्तल (Divya Mittal) ने ऐसे कुछ टिप्स शेयर किए हैं, जिन्हें अपनाकर पढ़ाई पर ज्यादा ध्यान फोकस किया जा सकता है.

•अगर आपसे पूछा जाए कि आप सबसे ज्यादा समय कहां बिताते हैं तो आपका जवाब मोबाइल होगा. मोबाइल का उपयोग कम करने के लिए आप यह देख सकते हैं कि आपने कितना समय फोन के एप्स चलाने में बर्बाद किया है.

•फोन के इस्तेमाल को कम करने के लिए आप पढ़ाई करने के दौरान इंटरनेट को बंद कर फोन को अपने आप से दूर रखें. आप मोबाइल को अपने माता पिता या किसी दोस्त के पास रख सकते हैं.

•इस समस्या का तकनीकी समाधान भी है कि आप अपने फोन में इंटरनेट ब्लॉक करने के लिए ब्लैकआउट जैसे ऐप्स का इस्तेमाल कर सकते हैं.

•सुबह जल्दी उठकर पढ़ना अच्छा होता है लेकिन सुबह उठना बहुत ही मुश्किल तो इसका समाधान है अलार्म को अपने आप से दूर रख कर सोएं जिससे कि आप अलार्म को बंद करने के लिए अपने बिस्तर से उठेंगे और वापस ना सोने का फैसला कर लेंगे.

•अपने फोकस को बढ़ाने के लिए मेडिटेशन करें और बीच-बीच में कुछ मिनट का ब्रेक भी ले सकते हैं.

•त्राटक ध्यान (Tratak Meditation) जो फोकस बढ़ाने के लिए जाना जाता है. इसमें अपनी आंखों को किसी वस्तु पर केंद्रित करके या फिर मोमबत्ती की लौ पर अपना ध्यान फोकस करें.

•बाइनॉरल बीट्स को सुनें जिससे आपका फोकस बढ़ेगा.

•आप व्यायाम और पार्क की सैर भी कर सकते हैं. कम से कम 20 मिनट प्रकृति के बीच जरूर रहें. साथ ही रोज सुबह 5 से 10 मिनट की धूप जरूर लें.

•पढ़ाई के दौरान अपनी डाइट का भी खास ख्याल रखें. अपनी डाइट में सभी जरूरी पोषक तत्व शामिल करें.