यूपीः पीड़िता की आपदा में दरोगा ने ढूंढ़ा अवसर, बोला-पति घर पर न हो तो आ जाना, मैं भूखा हूं…

115

दरोगा विवाहित युवती से बोलता है कि… दोस्ती करोगी कि नहीं… इस पर युवती…नहीं अंकल कह अपना जवाब देती है। एडीसीपी अंकित शर्मा ने साढ़ थाने में तैनात रंगिन मिजाज दरोगा तेजवीर सिंह को निलंबित कर जांच एसीपी घाटमपुर दिनेश शुक्ला को सौंपी है।

यूपी के घाटमपुर स्थित साढ़ थाना में तैनात उम्रदराज एक उपनिरीक्षक का विवाहित युवती के साथ बातचीत का आपत्तिजनक ऑडियो स्थानीय सोशल मीडिया में तेजी से वायरल हो रहा है। विवाहित युवती पति द्वारा मारपीट करने की शिकायत करने पर दरोगा को अंकल कह मदद करने को कहती लेकिन दरोगा मदद करने के पहले दोस्ती करने और अकेले में मिलने का दबाव बनाता रहा।

दरोगा विवाहित युवती से बोलता है कि… दोस्ती करोगी कि नहीं… इस पर युवती…नहीं अंकल कह अपना जवाब देती है। एडीसीपी अंकित शर्मा ने साढ़ थाने में तैनात रंगिन मिजाज दरोगा तेजवीर सिंह को निलंबित कर जांच एसीपी घाटमपुर दिनेश शुक्ला को सौंपी है। वायरल वीडियो की पुष्टि एमएनटी न्यूज़ भारत नहीं करता है।

वायरल ऑडियो में पीड़िता के मुताबिक उसने प्रेम विवाह किया है। बताया शादी के बाद एक युवक ने उसे वीडियो कॉल पर बात की और उसका स्क्रीन वीडियो बना लिया। इसके बाद मिलने के लिए ब्लैकमेल करने लगा। उसने जब मिलने से मना कर दिया तो वीडियो उसके पति को भेज दिया। जिसके बाद पति उसे आए दिन मारपीट करने लगे। इसी बात की शिकायत करने पर जांच हल्के के दरोगा तेजवीर सिंह से मिली। दरोगा तेजवीर सिंह ने तहरीर में लिखे फोन नंबर से नव विवाहिता को फोन कर बात करने लगा। जिस पर पति शक करने लगे और हमेशा मारपीट पर उतारू हो जाते हैं।


दरोगा तेजवीर सिंह और पीड़िता विवाहित युवती के बीच 10 मिनट 56 सेकेंड तक हुई बातचीत के अंश…

दरोगा – फोन पर क्या बताऊं मैं सम्मान का भूखा हूं और कुछ नहीं चाहिए।

पीड़िता – आपकी बात ठीक है। रात का समय है मेरे घरवाले मुझ पर शक करते हैं। रात में बात नहीं कर सकती।

दरोगा- कल कितने बजे टाइम निकलोगी।

पीड़िता – दोपहर में।

दरोगा – दोपहर में किस टाइम पर बात करूं। तुम्हारे पति कितने समय ड्यूटी आते जाते हैं।

पीड़िता – 12 बजे मेरे पति ड्यूटी करने जाते हैं। रात को 12 बजे आते हैं तो दोपहर में करना।

दरोगा – यार बउवा को लेकर घूमने चली आओ, दस मिनट के लिए मिलते हैं यार….

पीड़िता – अंकल जी ठीक नहीं लगता है, दोपहर में बउवा स्कूल जाता है।

दरोगा – अब मैं खुश हूं, मैं खुद घर आ जाता पर लोग कहेंगे पुलिस वाला घर आया था।

पीड़िता – बात ठीक है, पर मुझे आपसे मदद चाहिए और कुछ नहीं।

दरोगा – मैं तुम्हारी पूरी मदद करूंगा, मिल जाओ आकर…

पीड़िता – मैंने दूसरे जाति के युवक के साथ लव मैरिज की थी। पति शक में पीटता है, मुझे चोट भी लग गई है।

दरोगा – तुम मेरी बात सुनो, दवा ले लो, पैसे मैं खर्च करुंगा। पैसों की टेंशन तुम बिल्कुल मत लेना। मैं 12 बजे फोन करूंगा तुम्हें और तुम मुझे फोन मत करना। नहीं तो मेरे घर पर झगड़ा हो जाएगा।

पीड़िता – आजकल किसी पर विश्वास नहीं किया जा सकता अंकल।

दरोगा – तो मैं दोस्ती मान लूं, अच्छा इंसान हूं। इंसान को भूख लगती है। तो उसे खाना चाहिए।

पीड़िता – नहीं अंकल आप मुझसे बहुत बड़े हैं, उम्र में भी। आपकी नजर में कुछ और है, इसके बाद फोन कट जाता है।


दुनिया प्रदेश की ताजा तरीन खबरें और रोचक जानकारीयों के लिए जुडिए हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से..लेटेस्ट ब्रेकिंग न्यूज अपने व्हाट्सएप पर पायें…