मुंबई – पूरे महाराष्ट्र की तुलना में मुंबई में चिकनगुनिया के अधिक मामले

126

#Mumbai News, #Chikungunya, #BMC, #Mumbai
मुंबई – पूरे महाराष्ट्र की तुलना में मुंबई में चिकनगुनिया के अधिक मामले

मुंबई में चिकनगुनिया महामारी नियंत्रण में आ गई है। लेकिन राज्य की तुलना में 31 अगस्त तक सबसे ज्यादा मरीज मुंबई में पाए गए हैं। महाराष्ट्र में सामने आए कुल मरीजों की संख्या की तुलना में मुंबई में मरीजों की संख्या करीब 25 फीसदी है। स्वास्थ्य विभाग के सूत्रों का कहना है कि मुंबई में रुक-रुक कर हो रही बारिश ने चिकनगुनिया के पनपने के लिए माहौल तैयार कर दिया है। (Mumbai reports more cases of Chikungunya as compared to state)

कभी-कभार होने वाली बारिश से हो रही है परेशानी 

मुंबई में कभी-कभार होने वाली बारिश से निचले इलाकों में पानी भर जाता है। बारिश के रुके हुए पानी में बड़ी संख्या में पनप रहे मच्छरों के कारण चिकनगुनिया फैल रहा है। 1 जनवरी से 31 अगस्त तक राज्य में चिकनगुनिया के 521 मामले सामने आए हैं। इनमें से लगभग 25 फीसदी मरीज मुंबई से हैं।

इस बीच, 2016 के बाद पहली बार इस साल बड़ी संख्या में चिकनगुनिया के मरीज मिले हैं। 2016 में चिकनगुनिया के 73 मामले सामने आए।

चिकनगुनिया के लक्षण

चिकनगुनिया के लक्षणों में बुखार, शरीर में दर्द, लगातार जोड़ों में दर्द और त्वचा पर चकत्ते शामिल हैं।

स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने बताया कि 1 जनवरी से 31 अगस्त तक मुंबई में 131 मरीज पाए गए। जून, जुलाई और अगस्त तीन महीनों में मुंबई में 69 मरीज पाए गए हैं। इस साल मुंबई के बाद पुणे में चिकनगुनिया के 61 मरीज पाए गए हैं।

स्वास्थ्य विभाग के सूत्रों का कहना है कि मुंबई में रुक-रुक कर हो रही बारिश ने कारण चिकनगुनिया के मामले बढ़ रहे है..

मुंबई में चिकनगुनिया महामारी नियंत्रण में आ गई है। लेकिन राज्य की तुलना में 31 अगस्त तक सबसे ज्यादा मरीज मुंबई में पाए गए हैं। महाराष्ट्र में सामने आए कुल मरीजों की संख्या की तुलना में मुंबई में मरीजों की संख्या करीब 25 फीसदी है। स्वास्थ्य विभाग के सूत्रों का कहना है कि मुंबई में रुक-रुक कर हो रही बारिश ने चिकनगुनिया के पनपने के लिए माहौल तैयार कर दिया है। (Mumbai reports more cases of Chikungunya as compared to state)

कभी-कभार होने वाली बारिश से हो रही है परेशानी

मुंबई में कभी-कभार होने वाली बारिश से निचले इलाकों में पानी भर जाता है। बारिश के रुके हुए पानी में बड़ी संख्या में पनप रहे मच्छरों के कारण चिकनगुनिया फैल रहा है। 1 जनवरी से 31 अगस्त तक राज्य में चिकनगुनिया के 521 मामले सामने आए हैं। इनमें से लगभग 25 फीसदी मरीज मुंबई से हैं।

स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने बताया कि 1 जनवरी से 31 अगस्त तक मुंबई में 131 मरीज पाए गए। जून, जुलाई और अगस्त तीन महीनों में मुंबई में 69 मरीज पाए गए हैं। इस साल मुंबई के बाद पुणे में चिकनगुनिया के 61 मरीज पाए गए हैं।

इस बीच, 2016 के बाद पहली बार इस साल बड़ी संख्या में चिकनगुनिया के मरीज मिले हैं। 2016 में चिकनगुनिया के 73 मामले सामने आए।

चिकनगुनिया के लक्षण

चिकनगुनिया के लक्षणों में बुखार, शरीर में दर्द, लगातार जोड़ों में दर्द और त्वचा पर चकत्ते शामिल हैं।


दुनिया प्रदेश की ताजा तरीन खबरें और रोचक जानकारीयों के लिए जुडिए हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से..लेटेस्ट ब्रेकिंग न्यूज अपने व्हाट्सएप पर पायें…

 

#Mumbai News