सर्वपल्ली डॉ.राधाकृष्णन एक महान दार्शनिक एवं विचारक थे-कमलेश

101

सरस्वती शिशु मंदिर परसौना में धूमधाम से शिक्षक दिवस मनाया गया। जिसमें मुख्य अतिथि के रूप में भाजपा पिछड़ा वर्ग मोर्चा के जिलाध्यक्ष कमलेश बैस उपस्थित रहे। कार्यक्रम की अध्यक्षता विद्यालय के संयोजक राजीवलोचन दुबे ने किया। कार्यक्रम के शुभारंभ के पहले सर्वप्रथम विद्या की अधिष्ठात्री देवी माॅं वीणा वादिनी की प्रतिमा के समक्ष दीप प्रज्वलन कर किया गया। तत्पश्चात देश के द्वितीय राष्ट्रपति महान विचारक एवं दार्शनिक सर्वपल्ली डॉक्टर राधाकृष्णन के छायाचित्र पर अतिथियों ने पुष्प अर्पित कर नमन किया। विद्यालय के छोटे-छोटे भैया बहनों एवं आचार्यों को संबोधित करते हुए पिछड़ा वर्ग मोर्चा के जिलाध्यक्ष कमलेश बैस ने कहा कि डॉ.राधाकृष्णन देश के प्रथम उपराष्ट्रपति एवं द्वितीय राष्ट्रपति के रूप राष्ट्र को एक नई दशा एवं दिशा देने का काम किया है। राष्ट्र के लिए दिया गया उनका योगदान सदैव अविस्मरणीय रहेगा। उन्होंने वेदों का एवं हिंदू शास्त्रों का गहन अध्ययन किया। तथा कई विश्वविद्यालयों के अध्यक्ष भी रहे। प्रखर वक्ता होने के साथ महान दार्शनिक और हिन्दू विचारक थे। उनका अधिकांश जीवन अध्यापन कार्य में बीता उन्हीं के जन्मदिवस के अवसर पर सितंबर को प्रत्येक वर्ष शिक्षक दिवस के रूप में मनाया जाता है। हम सभी को उनके जीवन से प्रेरणा लेते हुए उनके बताए मार्ग पर चलकर राष्ट्र सेवा के लिए स्वयं को समर्पित भावना से कार्य करना है। शिक्षक दिवस के इस पावन अवसर पर आप सभी को बहुत-बहुत शुभकामनाएं एवं बधाई देता हूं शिक्षक देश का निर्माता होता है। वह अपना संपूर्ण जीवन अपने छात्र को एक जिम्मेदार नागरिक बनाने में समर्पित कर देता है। जो अपने छात्र को शिखर पर पहुंचने का जज्बा रखता हो तथा छात्र के गलतियों को क्षमा करने का भाव रखता हो और सदैव उसके कल्याण की कामना करता हो वास्तव में वही शिक्षक है। विद्यालय के समस्त आचार्य गण पूज्यनीय एवं वंदनीय इसलिए हैं क्योंकि इन्होंने कम मानदेय में संस्कार युक्त शिक्षा देकर, सच्ची देशभक्ति की भावना से ओत-प्रोत होकर समाज को शिक्षित करने के साथ भारतीय संस्कृति को संरक्षित करने का ऐतिहासिक काम कर रहे हैं। समस्त आचार्यों को इस शिक्षक दिवस के अवसर पर उन्हें कोटिश: वंदन करता हूं अभिनंदन करता हूं। मुझे पूर्ण विश्वास है आपके द्वारा दी गई शिक्षा के माध्यम से हमारे समाज परिवार के छोटे-छोटे भैया एवं बहनें एक जिम्मेदार नागरिक बनकर इस देश की सेवा के लिए समर्पित होंगे। कार्यक्रम का संचालन विद्यालय के प्रधानाचार्य अनूप पाण्डेय ने किया। कार्यक्रम में आचार्य स्वामीनाथ गुप्ता, निशान्त नापित, दिवाकर विश्वकर्मा, अर्चना पाण्डेय, शुकुल वर्मा, सुश्री कविता विश्वकर्मा सहित विद्यालय के छात्र-छात्राएं उपस्थित रहे।

 

विज्ञापन बॉक्स