UP: दलित छात्राओं को कमरे में बुलाकर अश्लीलता और ‘बैड टच’ करता था प्रिंसिपल आसिफ जमाल, मुंह बंद रखने के लिए 10 रुपए का लालच, गिरफ्तार

414

उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर (Shahjahanpur) जनपद में एक सरकारी प्राथमिक विद्यालय के प्रभारी प्रधानाचार्य पांचवी की छात्राओं से अश्लील हरकतें करता था, लेकिन जब कुछ छात्राओं से यह बर्दाश्त नहीं हुआ तो उन्होंने इसकी शिकायत अपने परिजनों से की। इसके बाद परिजनों ने शुक्रवार को स्कूल पहुंचकर इसका विरोध किया। वहीं, आरोपी प्रभारी प्रधानाचार्य 42 वर्षीय आसिफ जमाल (Head Master Asif Jamal) को स्कूल से निलंबित कर दिया गया है।

आरोपी आसिफ जमाल गिरफ्तार

उधर, इस मामले में रोजा पुलिस थाने में आरोपी के खिलाफ पॉक्सो एक्ट और अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति (अत्याचार निवारण) अधिनियम, 1989 की धाराओं के तहत केस दर्ज कर उसे गिरफ्तार कर लिया गया। सूत्रों ने बताया कि रोजा पुलिस थाने के अंर्तगत आने वाले सरकारी प्राथमिक विद्यालय में प्रभारी प्रधानाचार्य के पद पर तैनात आसिफ जमाल कक्षा पांच की छात्राओं संग अश्लील हरकतें करता था। ये सिलसिला डेढ़ माह से जारी था।



Also Read: अलीगढ़: मुस्लिम प्रेमिका के परिजनों ने शादी की बात करने के बहाने बुलाया, फिर धर्म सिंह को बना दिया अब्दुल रहमान, नशीला लड्डू खिलाकर कराया खतना

हालांकि, छात्राओं ने इसकी शिकायत वहां तैनात महिला शिक्षिका से भी की, लेकिन उन्होंने छात्राओं को डांटकर चुप करा दिया। वहीं, प्रभारी प्रधानाचार्य की अश्लीलता जब छात्राओं के बर्दाश्त से बाहर हो गई तो उनमें से कुछ ने अपने परिजनों को उसकी करतूत बताई। इसके बाद शुक्रवार को कई अभिभावक स्कूल पहुंचे और जमकर हंगामा किया।

अभिभावकों ने इसको लेकर जब आरोपी आसिफ जमाल से बात करने का प्रयास किया तो वह भड़क गया। इसके बाद बेसिक शिक्षा अधिकारी को फोन कर शिकायत की गई। इसके बाद वह स्कूल पहुंचे और छात्राओं और अभिभावकों के बयान लिए। शाम को उन्होंने अभिभावकों को बताया कि खंड शिक्षा अधिकारी विनय मिश्र से रिपोर्ट मांगी गई थी, जिसके बाद आरोपी प्रभारी प्रधानाचार्य को निलंबित कर दिया गया है।



Also Read: बरेली: मस्जिद पर तिरंगे से ऊपर लहराया इस्‍लामिक झंडा, इजरायल-हमास युद्ध के बीच मौलाना पर FIR

अश्लीलता करने के बाद चुप रहने के लिए दिए 10 रुपए

इस मामले में अभिभावकों का कहना है कि उनकी बेटियां काफी समय से घर में गुमसुम रहती थीं। स्कूल से आने के बाद वह परिवार के किसी भी शख्स से ज्यादा बात नहीं करती थीं। 12 अक्टूबर की शाम 2 लड़कियों ने आरोपी द्वारा अपने कमरे में बुलाकर गंदी हरकत करने की जानकारी परिजनों को दी। इसके बाद मामले का खुलासा हो सका।

वहीं, एक छात्रा के अभिभावक ने आरोप लगाया कि आरोपी ने क्लास में उनकी लड़की के साथ अश्लील हरकत की थी और चुप रहने के लिए 10 रुपए दिए। इसके बाद जब वह पूछताछ के लिए स्कूल गए तो अन्य छात्राओं ने भी शोषण होने की बात कही। उन्होंने बताया कि खंड शिक्षा अधिकारी विनय मिश्रा से रिपोर्ट माँगने के बाद आरोपित शिक्षक को निलंबित कर दिया गया। मामले की जाँच के लिए तीन सदस्यीय समिति बनाई गई है। इसमें एक महिला सदस्य भी होंगी। उन्होंने कहा कि जाँच के बाद आगे की विभागीय कार्रवाई शुरू की जाएगी।

( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )