आज गोरखपुर में लगेगी संतों की अदालत, दंडाधिकारी बन CM योगी सुलझाएंगे विवाद, जानिए क्या है परंपरा

291

विजयादशमी के अवसर पर गोरखनाथ मंदिर से परंपरागत रूप से निकाले जाने वाली शोभायात्रा में आज सीएम योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) शामिल होंगे। यात्रा निकाले जाने से पहले वह संतों की अदालत में दंडाधिकारी की भूमिका में भी नजर आएंगे। नाथ पंथ की परंपराओं के अनुसार गोरक्ष पीठाधीश्वर इस परंपरा का निर्वहन करेंगे। शोभायात्रा गोरखनाथ मंदिर से चलकर मानसरोवर रामलीला मैदान तक जाएगी। यहां चल रहे रामलीला के अंतिम दिन राम और सीता की आरती उतार तिलक किया जाएगा।

नवरात्र के अवसर पर गोरखपुर पूर्व में पंडालों में स्थापित प्रतिमाओं का आज दशहरे के दिन विसर्जन किया जाएगा। इसके लिए प्रशासन ने तैयारियां पूरी कर ली है। शहर में ट्रैफिक रूट डायवर्जन भी किया गया है। बड़े वाहनों का प्रवेश वर्जित रहेगा। प्रतिमाओं के विसर्जन हेतु चार कृत्रिम तालाब बनाए गए हैं। इन्हीं में प्रतिमाओं का विसर्जन होगा ताकि नदियों को प्रदूषित होने से बचाया जा सके। बनाए गए कृत्रिम घाट के पास प्रकाश की भी उत्तम व्यवस्था की गई है। वहीं सुरक्षा और व्यवस्था के दृष्टिगत पुलिस और नागरिक सुरक्षा के लोगों की मुस्तादी भी रहेगी। पुलिस प्रशासन के अनुसार, गोरखपुर में कुल 3900 प्रतिमा स्थापित की गई है।




पूरी रात उमड़ा भक्तों का जन सैलाब

महानवमी के दिन पंडालों में जहां हवन पूजन कर माता की अंतिम विदाई हेतु गोद भराई की गई तो वहीं शाम होते ही गोरखपुर की सड़कों पर श्रद्धालुओं की भीड़ देखी गई। रेलवे स्टेशन, धर्मशाला, मोहद्दीपुर, सुमेर सागर, गोलघर, दुर्गाबाड़ी, रेलवे बालक इंटर कॉलेज, लोको ग्राउंड, बेतियाहाता, बीजी रेलवे कॉलोनी आदि स्थानों पूरी रात श्रद्धालुओं का तांता लगा रहा। इस दौरान श्रद्धालु भारी संख्या में माता के पंडालों तक पहुंच रहे थे और जय माता की जय घोष के साथ दर्शन करते नजर आ रहे थे। इस दौरान बूढ़े, बच्चे, महिला ,पुरुष सभी माता की भक्ति में शराबोर दिखे। सभी जगह पर उत्सव का माहौल था लोग मेला का भी आनंद ले रहे थे।

Also Read: मातृ शक्ति के सशक्तिकरण पर सदैव रहा है सनातन का जोर, सुरक्षा, सम्मान व स्वावलंबन की अनेक योजनाएं चला रही डबल इंजन सरकार: योगी

( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )