वायु प्रदूषण से निपटने के लिए बीएमसी ने शुरू किया धुंध मशीनो का इस्तेमाल

177

पिछले कुछ दिनो से मुंबई और आसपास के इलाको मे वायु प्रदुषण बढ़ता जा रहा है। जिससे मुंबईकरो को स्वास्थ संबंधित काफी दिक्क्तो का सामना करना पड़ रहा है। हालांकी बीएमसी ने अब इस समस्या का समाधान निकालने के लिए शहर के अलग अलग इलाको में धुंध मशीनो का इस्तेमाल शुरु कर दिया है। (BMC started using fogging machines to deal with air pollution)

मौसम परिवर्तन ने मुंबई मेट्रोपॉलिटन सिटी और मुंबई मेट्रोपॉलिटन क्षेत्र में भी वायु गुणवत्ता को गंभीर रूप से प्रभावित किया है। नगर आयुक्त और बीएमसी के प्रशासक इकबाल सिंह चहल ने वायु गुणवत्ता के मुद्दे के समाधान के लिए उपायों के कार्यान्वयन का निर्देश दिया है।

जिसके बाद धूल को नियंत्रित करने के लिए, वर्ली सी फेस, हाजी अली, पेडर रोड, स्वराज्य भूमि (गिरगांव चौपाटी), नरीमन प्वाइंट, फैशन स्ट्रीट, बधवार पार्क और वर्ल्ड ट्रेड सेंटर आदि सहित विभिन्न स्थानों पर धुंध मशीनें अब काम कर रही हैं।




मुंबई का AQI नई दिल्ली की तुलना में अपेक्षाकृत कम है, लेकिन शहर के कुछ हिस्सों में यह राष्ट्रीय राजधानी से अधिक है। इंडियन एक्सप्रेस की एक रिपोर्ट के अनुसार, अंधेरी ईस्ट में 16 से 20 अक्टूबर के बीच AQI का स्तर 350 और 440 के बीच दर्ज किया गया।




हालांकि, रविवार को AQI 119 के साथ इसमें उल्लेखनीय सुधार देखा गया।केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड डैशबोर्ड पर रविवार को मुंबई में समग्र AQI 172 था। बांद्रा कुर्ला कॉम्प्लेक्स में एक्यूआई 243 था, इसके बाद कोलाबा में 238, सायन और देवनार में 219, खेरवाड़ी में 216 और वर्ली में 202 था।