दिवाली कब है? 11 या 12 नवंबर को, कंफ्यूजन करें दूर, नोट करें सही तिथि और शुभ चौघड़िया मुहूर्त

118

Diwali 2023 Choghadiya Muhurat: दिवाली की सही तिथि को लेकर कंफ्यूजन की स्थिति बनी हुई है। ऐसे में आइए जानते हैं शुभ तिथि और चौघड़िया मुहूर्त।

Diwali 2023 Date, Choghadiya Muhurat: दिवाली का त्योहार हर साल कार्तिक मास की अमावस्या तिथि को मनाई जाती है। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार दिवाली के दिन धन की अधिष्ठात्री देवी मां लक्ष्मी और सुख-समृद्धि के दाता भगवान गणेश की पूजा की जाती है। दिवाली के दिन पूरे घर को दीपों से सजाया जाता है। मान्यता यह भी है कि दिवाली के दिन माता लक्ष्मी भ्रमण पर निकलती हैं। यही वजह है कि इस दिन लोग अपने-अपने घरों को साफ-सुथरा रखकर अच्छे से सजाते हैं। इस साल दिवाली की सही तिथि को लेकर कई लोगों के मन में कंफ्यूजन की स्थिति है कि आखिर दिवाली 11 नवंबर को है या 12 को। ऐसे में आज हम इस आर्टिकल के जरिए दिवाली की सही तिथि को लेकर कंफ्यूजन दूर करेंगे। साथ ही साथ दिवाली का शुभ चौघड़िया मुहूर्त भी बाताएंगे। तो चलिए जानते हैं।

दिवाली कब है 11 या 12 नवंबर को?

सनातन धार्मिक परंपरा के अनुसार, दिवाली कार्तिक मास की अमावस्या तिथि को मनाने का विधान है। हिंदू पंचांग के अनुसार, इस साल यानी 2023 में यह अमावस्या तिथि 12 नवंबर 2023 को दोपहर 2 बजकर 44 मिनट से शुरू होगी। जबकि अमावस्या तिथि का समापन 13 नवंबर को दोपहर 2 बजकर 56 मिनट पर होगा। दिवली के दिन प्रदोष काल में मां लक्ष्मी और भगवान गणेश की पूजा का विधान है। ऐस में दिवाली का त्योहार 12 नवंबर को ही मनाया जाएगा।

दिवाली पर मां लक्ष्मी और गणेश जी की पूजा का शुभ मुहूर्त

पं. धनंजय पाण्डेय के अनुसार, दिवाली के दिन मां लक्ष्मी की पूजा के लिए शुभ मुहूर्त 12 नवंबर को शाम 5 बजकर 40 मिनट से लेकर रात 7 बजकर 36 मिनट तक है। जबकि लक्ष्मी पूजन के लिए महानिशीथ काल मुहूर्त रात 11 बजकर 39 मिनट से मध्यरात्रि 12 बजकर 31 मिनट तक रहेगा। धार्मिक मान्यता है कि शुभ मुहूर्त में लक्ष्मी-गणेश का पूजन करने से घर-परिवर में सुख-समृद्धि बनी रहती है। साथ ही साथ घर में सुख-समृद्धि का आगमन होता है।




यह भी पढ़ें: चंद्र ग्रहण पर 2 चीजों का दान बना सकता है धनवान! हमेशा भरे रहेंगे धन के भंडार

दिवाली 2023 शुभ चौघड़िया मुहूर्त

दिन का चौघड़िया

सूर्योदय- 06:44 ए एम
उद्वेग – अशुभ
06:44 ए एम से 08:09 ए एम
चर – सामान्य
08:09 ए एम से 09:33 ए एम
लाभ – उन्नति
09:33 ए एम से 10:58 ए एम
अमृत – सर्वोत्तम
10:58 ए एम से 12:22 पी एम वार वेला
काल – हानि
12:22 पी एम से 01:47 पी एम काल वेला
शुभ – उत्तम
01:47 पी एम से 03:12 पी एम
रोग – अमंगल
03:12 पी एम से 04:36 पी एम
उद्वेग – अशुभ
04:36 पी एम से 06:01 पी एम

रात्रि का चौघड़िया

सूर्यास्त- 06:01 पी एम
शुभ – उत्तम
06:01 पी एम से 07:36 पी एम
अमृत – सर्वोत्तम
07:36 पी एम से 09:12 पी एम
चर – सामान्य
09:12 पी एम से 10:47 पी एम
रोग – अमंगल
10:47 पी एम से 12:23 ए एम, नवम्बर 13
काल – हानि
12:23 ए एम से 01:58 ए एम, नवम्बर 13
लाभ – उन्नति
01:58 ए एम से 03:34 ए एम, नवम्बर 13काल रात्रि
उद्वेग – अशुभ
03:34 ए एम से 05:09 ए एम, नवम्बर 13
शुभ – उत्तम
05:09 ए एम से 06:44 ए एम, नवम्बर 13




यह भी पढ़ें: धनतेरस कब है 10 या 11 नवंबर को? कंफ्यूजन करें दूर, नोट कर लें सही और शुभ मुहूर्त

डिस्क्लेमर:यहां दी गई जानकारी ज्योतिष पर आधारित है तथा केवल सूचना के लिए दी जा रही है। एमएनटी न्यूज भारत इसकी पुष्टि नहीं करता है। किसी भी उपाय को करने से पहले संबंधित विषय के एक्सपर्ट से सलाह अवश्य लें।