Home Remedies: शरीर के सभी अंगों के लिए रामबाण है मुलेठी, जानें इसके गजब के फायदे

134

मुलेठी (Mulethi) का प्रयोग प्राचीन काल से बीमारियों के उपचार में किया जा रहा है। आयुर्वेद में तो इसे गुणों की खान बताया गया है। ये एक ऐसी औषधि है जो घर में जरूर होनी चाहिए। मुलेठी में जिंक, आयरन, पोटाशियम, कैल्शियम, मैग्नीशियम, सोडियम, थायमिन, विटामिन बी-6 जैसे पोषक तत्व पाए जाते हैं।

पेट को रखे एकदम स्वस्थ

कई वैज्ञानिक शोधों से पता चला है कि मुलेठी में डिमल्सेंट तत्व पाया जाता है। ये एक ऐसा तत्व है जो पेट से जुड़ी हर समस्या को दूर करने में गजब का काम करता है। मुलेठी खाने से पेट का इन्फेक्शन कम होती है और पेट में आयी किसी भी तरह की सूजन कम होती है। यह पेट के अल्सर को ख़त्म करने का काम करती है। सुबह खाली पेट मुलेठी चूर्ण के साथ गर्म पानी पीने से पेट के सभी विकार दूर होते हैं।

Also Read: Home Remedies: ब्लड प्रेशर हाई रहता है तो पर अपनाएं ये घरेलू उपाय, तुरंत मिलेगी राहत

खांसी को करे छूमंतर

खांसी में तो मुलेठी से बेहतर और कुछ नहीं है। यदि आपको खांसी हो गयी है तो सुबह शाम मुंह में मुलेठी रखकर चूसते रहें या फिर चाय में डालकर या पानी में डालकर अच्छी तरह से उबालकर काढ़ा बनाकर पीने से खांसी कुछ दिनों में रफूचक्कर हो जाती है।

कैंसर से करे बचाव

मुलेठी में मौजूद एंटी-ऑक्सिडेंट्स कैंसर से बचाव में सहायक भूमिका निभाते हैं। मुलेठी में कैंसर से लड़ने की गजब की क्षमता होती है। रोजाना मुलेठी चूसने से शरीर प्राकृतिक रूप से कैंसर के विरुद्ध लड़ता है।मुलेठी चूसने से या चूर्ण खाने से प्रॉस्टेट कैंसर, गले का कैंसर, पेट, स्तन कैंसर को ख़त्म करने में मदद मिलती है।

डायबिटीज करे कम

डाइबिटीज के मरीजों के लिए बेहद असरदायक है। मुलेठी में एंटी-ऑक्सीडेंट और हाइपरग्लाइसेमिक गुण पाए जाते हैं। कई शोधों से पता चला है कि मुलेठी के अर्क का सेवन करने से ब्लड ग्लूकोज के स्तर में कमी आती है कमी आती है जो कि डाइबिटीज के मरीजों के लिए अति उत्तम है।

Also Read: Home Remedies: बालों की परेशानियों से छुटकारा दिला सकता है कलौंजी का तेल, जानिए इसके चौंकाने वाले फायदे

बदहजमी करे दूर

जिन लोगों को बदहजमी की शिकायत रहती है उन्हें मुलेठी का सेवन जरूर करना चाहिए। मुलेठी खाने से खाना आसानी से पचता है और गैस बनने की समस्या से भी छुटकारा मिलता है।

इम्यूनिटी बढ़ाये

नियमित रूप से मुलेठी का सेवन करने से रोग प्रतिरोधक क्षमता बहुत अच्छी हो जाती है। इसमें मौजूद एंटी-ऑक्सीडेंट्स वायरल बीमारियों से शरीर की रक्षा करते हैं जिससे कोई भी वायरस शरीर पर आसानी से अटैक नहीं कर पाता और शरीर मौसमी बीमारियों से बचा रहता है।

मस्तिष्क की कार्यक्षमता बढ़ाये

हालिया शोधों से पता चला है कि मुलेठी में ग्लाइसीराइजिक एसिड तत्व पाया जाता है जिसमें मुख्य रूप से न्यूरोप्रोटेक्टिव गुण होता है। ये एक ऐसा तत्व है जो मस्तिष्क की मांसपेशियों को भरपूर पोषण देता है जिससे दिमाग में ट्यूमर नहीं बन पाता और दिमाग सुचारू रूप से काम करता है।

Also Read: Health Tips: इम्यून सिस्टम मजबूत करता है आंवला, जानिए इसके जबरदस्त फायदे

बैड कोलेस्ट्रॉल करे दूर

मुलेठी के सेवन से शरीर में ख़राब कोलेस्ट्रॉल ख़त्म होता है जिससे हार्ट एकदम स्वस्थ रहता है। बैड कोलेस्ट्रॉल ख़त्म होने से खून में क्लॉटिंग नहीं बनती जो कि हार्ट अटैक का मुख्य कारण है। इसलिए मुलेठी का किसी ना किसी रूप में सेवन जरूर करें।

पीरियड्स में बेहद फायदेमंद

महिलाओं को अक्सर 45 से 55 वर्ष के बीच पीरियड्स आना बंद हो जाते हैं। पीरियड्स बंद होने से महिलाओं के शरीर में गर्मी बहुत ज्यादा बढ़ जाती है। इस समस्या से महिलाओं को गर्दन और छाती पर बहुत ज्यादा पसीना आता है और घबराहट महसूस होती है। मुलेठी में फाइटोएस्ट्रोजन नामक तत्व पाया जाता है जो महिलाओं की इस समस्या को काफी हद तक कम करने का काम करता है जिससे पसीना आना बंद हो जाता है शरीर की फालतू गर्मी बाहर निकलती है।

फैटी लीवर में फायदेमंद

कई शोधों से पता चला है कि फैटी लीवर को कम करने में मुलेठी महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। इसमें मौजूद एंटी-इंफ्लेमेटरी और एंटीऑक्सीडेंट तत्व लीवर को डैमेज होने से बचाते हैं। लेकिन फैटी लीवर की समस्या में मुलेठी के सेवन से पहले एक बार डॉक्टर से कंसल्ट जरूर करें।

( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

विज्ञापन बॉक्स