सिद्धार्थनगर में पटाखे के साथ पकड़ा गया तस्कर:* पूछताछ में नहीं दिखा सका कागजात, एक युवक गिरफ्तार

74

सिद्धार्थनगर में 43वीं वाहिनी सशस्त्र सीमा बल के सीमा चौकी खुनवा के समीप अवैध तरीके से तस्करी के लिए लाए पटाखे के साथ एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया है। सशस्त्र सीमा बल, कस्टम और पुलिस की संयुक्त टीम ने सीमा स्तम्भ संख्या – 556 पटाखे सहित व्यक्ति को गिरफ्तार कर सीमा शुल्क कार्यालय खुनवा को सुपुर्द किया है। कमांडिंग अधिकारी आरके डोगरा ने बताया कि सूचना मिली थी कि बगहवा गांव में शोहरतगढ़ – खुनुवा मुख्य मार्ग पर स्थित घर में पटाखों कि एक खेप अनाधिकृत रूप से आने वाली है। जिसे रात्रि में सीमा पार नेपाल भेजा जायेगा।

सीमा स्तंभ संख्या 556 के समीप कार्रवाई को अंजाम देते हुए सीमा चौकी खुनवा से सहायक उप निरीक्षक ओम प्रकाश के नेतृत्व में मुख्य आरक्षी राकेश प्रसाद, देवांशु कुमार और आरक्षी सुभाष कुमार, कस्टम कार्यालय खुनवा से निरीक्षक अक्षय यादव और मुख्य आरक्षी महेंद्र कुमार एवं पुलिस चौकी खुनवा से उपनिरीक्षक महेश कुमार शर्मा, मुख्य आरक्षी जालंधर प्रसाद, राजेश कुमार, आरक्षी राजेश कुमार, विशाल गुप्ता भुआल यादव और राज गुप्ता के साथ संयुक्त टीम सीमा स्तंभ संख्या 556 के समीप चिह्नित स्थान के लिए रवाना हुए।

बोरियों में भरे हुए थे पटाखे उक्त स्थान के समीप पहुंचने के कुछ समय पश्चात जवानों ने देखा कि कुछ व्यक्ति दो कार्टून और दो बोरी को लेकर सूचना वाले घर के पास ई-रिक्शा से उतरे। संदेह के आधार पर नाका टीम जैसे ही उनके तरफ बढ़ी, रिक्शा चालक सामान फेंककर रिक्शा लेकर नेपाल की तरफ भागने लगे। जवानों द्वारा एक व्यक्ति को पकड़ लिया गया। नाका दल द्वारा उस स्थान से बरामद दोनों कार्टून और बोरियों को खोलकर देखा गया। जिसमें पटाखे भरे हुए थे। पूछताछ के दौरान उस व्यक्ति ने अपना नाम देवानंद मिश्रा (28) जिला सिद्धार्थनगर बताया। व्यक्ति से सामान के कागजात एवं पटाखा कि बिक्री हेतु लाइसेंस दिखाने को बोला गया, तो वह कागजात दिखाने में असमर्थ रहा। तत्पक्षात जवानों द्वारा पटाखे सहित व्यक्ति को गिरफ्तार कर सीमा शुल्क कार्यालय खुनवा को सुपुर्द कर दिया।

कमांडिंग अधिकारी आर के डोगरा ने बताया कि भारत नेपाल सीमा पर होने वाली तस्करी और अन्य अपराधों की रोकथाम के लिये नाका, पेट्रोलिंग के माध्यम से निरन्तर प्रयासरत है। अवैध रूप से हो रही तस्करी के सामानों को जब्त किया जा रहा है।