UP में रंगेहाथ पकड़ी गई ‘रिश्वतखोर’ महिला दारोगा, मुकदमे से नाम हटाने के लिए थाने में ही ले रही थी 5000 रुपए

338

उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद (Moradabad) जनपद में एंटी करप्शन विभाग की टीम ने डिलारी थाने (Dilari Police Station) में एक महिला दारोगा को 5000 रुपए की रिश्वत लेते रंगेहाथ पकड़ा है। महिला दारोगा पिंकी शर्मा (Lady Sub Inspector Pinky Sharma) ने दहेज उत्पीड़न के मामले में एक शख्स का नाम निकालने के बदले में 25 हजार रुपए की मांग की थी। 25 हजार में से 5 हजार रुपए देने की बात तय हुई, जिसकी शिकायत पीड़ित ने एंटी करप्शन से की। इसके बाद एंटी करप्शन की टीम ने महिला दारोगा को थाने में ही रिश्वत लेते गिरफ्तार कर लिया।

सबूत मानने को तैयार नहीं थी महिला दारोगा

मिली जानकारी के अनुसार, मुरादाबाद के डिलारी थाना क्षेत्र के चक्काली गांव में हसमत अली की बहन आशा की शादी हुई है। हसमत के गांव बढ़ेरा की एक अन्य युवती की भी शादी उसी गांव में हुई है। हसमन ने बताया कि कुछ दिन पहले उसके गांव की युवती ने डिलारी थाने में अपने पति और ससुराल वालों के खिलाफ दहेज उत्पीड़न, मारपीट और तीन तलाक देने का मुकदमा दर्ज कराया था।

Also Read: संभल: चेकिंग के लिए निकले दारोगा की मौत से हड़कंप, मुरादाबाद-आगरा हाईवे पर छुट्टा पशु से टकराई थी बाइक

मुकदमे में हसमत अली का नाम भी शामिल था। हसमत का कहना है कि एफआईआर में जो नाम है, वह उसका नहीं है। उसने दारोगा पिंकी शर्मा को आधार कार्ड देकर सबूत भी दिए थे, लेकिन वह मानने को तैयार नहीं थीं। नाम हटाने के लिए लगातार रुपये की मांग कर रही थीं।

रंगेहाथ पकड़ी गई महिला दारोगा

एंटी करप्शन के डिप्टी एसपी मोहम्मद फाजिल सिद्दीकी ने बताया कि डिलारी थाने में तैनात महिला दारोगा पिंकी शर्मा को 5000 रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों पकड़ा गया है। महिला दरोगा ने रिश्वत लेते थाने के अंदर से ही गिरफ्तार किया गया है। भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम की धाराओं के तहत महिला दरोगा के खिलाफ डिलारी थाने में मुकदमा दर्ज कराया गया है। उधर, मुकदमा दर्ज होने के बाद एंटी करप्शन की टीम महिला दारोगा को अपने साथ ले गई।

( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )