योगी सरकार में UP को मिली बड़ी कामयाबी, सालाना सॉफ्टवेयर निर्यात 40 हजार करोड़ के पार

104

योगी सरकार (Yogi Government) में लगातार बढ़ रहे सॉफ्टवेयर निर्यात में उत्तर प्रदेश को बड़ी कामयाबी मिली है। यूपी का सालाना सॉफ्टेवयर निर्यात (Annual Software Export) 40 हजार करोड़ रुपए के पार चला गया है। वहीं, राजधानी लखनऊ ने भी 550 करोड़ का निर्यात करते हुए 150 करोड़ की बढ़ोतरी की है। खास बात ये है कि इसी दिशा में कदम बढ़ाते हुए एनजीआईएस योजना के तहत 42 नए स्टार्टअप तैयार किए गए हैं।

2020-21 में सालाना 28 हजार करोड़ था सॉफ्टवेयर निर्यात

जानकारी के अनुसार, इनमें आठ को 25-25 लाख रुपए दिए गए हैं। अन्य बाकी को भी यह रकम दी जाएगी। ईटी मंत्रालय के अधीन काम कर रहे एसटीपीआई ( सॉफ्टवेयर टेक्नॉलजी पार्क़स ऑफ इंडिया) ने इस पर योजनबद्ध तरीके से कार्य किया है। स्टार्टअप तैयार किए जा रहे हैं जो खास तौर से सॉफ्टवेयर निर्यात कर रहे हैं।

Also Read: UP: हलाल सर्टिफिकेशन मामले में CM योगी का बड़ा फैसला, अब STF करेगी पूरे मामले की जांच

पूरे प्रदेश की बात करें तो साल 2020-21 में प्रदेश का सॉफ्टवेयर निर्यात सालाना 28 हजार करोड़ था जो इस समय 40 हजार करोड़ के पार चला गया है। इसमें लखनऊ का हिस्सा 400 करोड़ था। यह भी बढ़कर 550 करोड़ से ऊपर हो गया है। अगले एक साल में इसे 700 करोड़ तक ले जाने की तैयारी है।

सॉफ्टवेयर स्टार्टअप शुरू करने का युवाओं को बड़ा लाभ

सॉफ्टवेयर स्टार्टअप शुरू करने का सबसे बढ़ा लाभ युवाओं को है। आईटी मंत्रालय की एनजीआईएस (नेशनल जेनरेशन इंक्यूबेशन स्कीम) के तहत हर क्षेत्र में स्टार्टअप तैयार किए जा रहे हैं। देश में 12 स्थानों पर इस योजना के तहत केंद्र बनाए गए हैं। यूपी में लखनऊ और प्रयागराज में दो केंद्र हैं जिनके जरिए स्टार्ट अप तैयार किए जा रहे हैं।

Also Read: यूपी सरकार ने केंद्र को भेजा IAS अभिषेक सिंह का इस्तीफा, फरवरी 2023 में किए गए थे निलंबित

इस योजना में फंड के अलावा छह माह तक 30 हजार रुपये प्रतिमाह प्रोत्साहन राशि भी दी जा रही है। एसटीपीआई के अपर निदेशक डा. प्रदीप कुमार द्विवेदी के मुताबिक 42 स्टार्ट अप इस योजना में चुने गए हैं जिनमें से आठ को 25- 25 लाख रुपये फंड दे दिया गया है। इसके अलावा लीप अहेड प्रोग्राम में एक करोड़ रुपये तक फंड देने की तैयारी है।

( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )