इन 5 जगहों पर ‘छिपकली’ का गिरना है बेहद शुभ, मिले ये संकेत तो समझिए बनने वाले हैं अमीर

133

Lizard Shagun Apshagun: शगुन शास्त्र के अनुसार जानते हैं कि आखिर छिपकली का किन स्थानों पर गिरना शुभ है। आइए जानते हैं।

Lizard Shagun Apshagun: धर्म शास्त्रों में छिपकली को मां लक्ष्मी का प्रतीक कहा गया है। यही वजह है कि लोग दिवाली के दिन बेसब्री से छिपकली के दर्शन का इंतजार करते हैं। हालांकि ऐसा बहुत कम ही होता है जब दिवाली के जिन मां लक्ष्मी के प्रतीक छिपकली का दर्शन हो जाएं। शगुन शास्त्र में पशु-पक्षियों आदि से मिलने वाले संकेतों का वर्णन स्पष्ट रूप से मिलता है। घरों में सामान्य रूप से पाई जाने वाली छिपकली भी भविष्य में होने वाली कई घटनाओं के बारे में संकेत देती है। जरूरत होती है सिर्फ उन संकेतों को समझने की। आइए शगुन शास्त्र के अनुसार जानते हैं कि छिपकली का किन स्थानों पर गिरना शुभ है।

छिपकली का इन 5 जगहों पर गिरना है शुभ शगुन

  • शगुन शास्त्र के अनुसार, छिपकली का दाहिने हिस्से पर गिरना शुभ है। छिपकली यदि किसी व्यक्ति के सिर या दाहिने हाथ पर गिरे तो सम्मान मिलने की संभावना रहती है. यह इस बात का भी संकेत देता है कि कार्यस्थल पर भी सम्मान मिलने वाला है।

यह भी पढ़ें: पूर्वजों को खुश करने के लिए पितृ पक्ष में लगाएं ऐसे 5 तरह के पौधे, तुरंत दूर होंगे पितृ दोष

  • शगुन शास्त्र के मुताबिक, छिपकली का बाएं हिस्से में गिरना अपशगुन है। छिपकली अगर बाएं हाथ पर गिरे तो धन हानि भी हो सकती है। वहीं अगर छिपकली किसी व्यक्ति के दाईं तरफ से चढ़कर बाईं तरफ उतरती है तो उसे पदोन्नति यानी प्रमोशन और धन लाभ होने की संभावना बनती है।
  • नए घर में प्रवेश करते समय यदि गृहस्वामी को छिपकली मरी हुई व मिट्टी लगी हुई दिखाई दे, तो उसमें निवास करने वाले लोग रोगी हो सकते हैं। ऐसा शगुन शास्त्र में लिखा है. इस अपशगुन से बचने के लिए पूर्णरूप से विधि-विधान के अनुसार पूजन करने के बाद ही नए घर में प्रवेश करना चाहिए।
  • यदि छिपकली समागम करती मिले तो किसी पुराने मित्र से मिलना हो सकता है। छिपकली आपको सहवास के बाद अलग-अलग होती दिखे तो किसी प्रियजन से बिछड़ने का दु:ख सहन करना पड़ सकता है। छिपकली लड़ती दिखे तो किसी परिचित से झगड़ा होना संभव है।

यह भी पढ़ें: Sun Transit: सूर्य के कन्या राशि में प्रवेश करते ही बदल जाएगा इन 5 राशियों का भाग्य, होगी अपार धन-वृद्धि

  • शकुन शास्त्र के अनुसार, दिन में भोजन करते समय यदि छिपकली का बोलना सुनाई दे तो ये संकेत है कि शीघ्र ही कोई शुभ समाचार मिल सकता है या फिर कोई शुभ फल प्राप्त हो सकता है। वेसे तो ये घटना बहुत कम होती है, क्योंकि छिपकली अधिकांश रात के समय बोलती है।
डिस्क्लेमर: यहां दी गई जानकारी ज्योतिष पर आधारित है तथा केवल सूचना के लिए दी जा रही है। Mnt News Bharat इसकी पुष्टि नहीं करता है। किसी भी उपाय को करने से पहले संबंधित विषय के एक्सपर्ट से सलाह अवश्य लें।

 

विज्ञापन बॉक्स