कानपुर: कलेक्टरगंज थाने में तैनात इंस्पेक्टर 50 हजार की घूस लेते रंगेहाथ गिरफ्तार, पुलिस कमिश्नर बोले- ऐसी कार्रवाई होगी, जो बनेगी नजीर

276

उत्तर प्रदेश के कानपुर (Kanpur) पुलिस कमिश्रेट में तैनात इंस्पेक्टर ने खाकी को शर्मसार किया है। शहर के कलेक्टरगंज थाना (Collector Ganj Police Station) प्रभारी राम जन्म गौतम (Inspector Ram Janm Gautam) को एंटी करप्शन की टीम ने 50 हजार रुपे की घूस लेते रंगेहाथ गिरप्तार किया है। कानपुर के ज्वाइंट पुलिस कमिश्नर आनंद प्रकाश तिवारी इसकी पुष्टि की है।

निलंबित किए गए थाना प्रभारी 

इस मामले की जानकारी देते हुए ज्वाइंट पुलिस कमिश्नर आनंद प्रकाश तिवारी ने बताया कि सोमवार की रात उन्हें कलेक्टरगंज थाना प्रभारी राम जन्म गौतम के रिश्वत लेते गिरफ्तार होने की सूचना प्राप्त हुई। उन्होंने मामले को गंभीरता से लेते हुए थाना प्रभारी को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया। इसके साथ ही विभागीय जांच का आदेश दिया है।




उन्होंने बताया कि पिछले कई दिनों से यह सूचना मिल रही थी कि थाना प्रभारी राम जन्म गौतम किसी एक व्यक्ति से लगातार रुपयों की मांग कर रहे हैं, लेकिन अब उन्हें मालूम चला कि उन्हें 50 हजार रुपये की रिश्वत के साथ कानपुर एंटी करप्शन टीम ने दबोचा है।

पुलिस कमिश्रर ने कही ये बात

उधर, इस मामले में पुलिस आयुक्त डॉ. आरके स्वर्णकार ने कहा कि थाना प्रभारी पर ऐसी कार्रवाई होगी, जो अन्य के लिए नजीर बन जाएगी। मिली जानकारी के अनुसार, फीलखाना थानाक्षेत्र के नारायण प्लाजा कराचीखाना निवासी नरेंद्र कुमार गुप्ता का कलक्टरगंज थानाक्षेत्र में एक मकान है, जिसे खाली कराने को लेकर उनका तीन अक्टूबर को कुछ लोगों से विवाद हो गया।

Also Read: गोरखपुर: चरस तस्करी में गिरफ्तार दारोगा पर बड़ी कार्रवाई, IG ने किया बर्खास्त, 4 पुलिसकर्मी निलंबित




इंस्पेक्टर ने पीड़ित से मांगी थी घूस

इस दौरान उन्हें दूसरे पक्ष ने पीट भी दिया। चार अक्तूबर को पीड़ित ने इंस्पेक्टर रामजनम गौतम से संपर्क किया, तो उसने सुनवाई नहीं की। पीड़ित ने 11 को जनसुनवाई में शिकायत की तो इंस्पेक्टर ने 12 को थाने बुलाया, लेकिन कार्रवाई की जगह घूस मांग ली।

वहीं, पीड़ित ने इसकी शिकायत एंटी करप्शन विभाग से कर दी। तीन दिन की जांच के बाद एंटी करप्शन विभाग ने जाल बिछाकर आरोपी इंस्पेक्टर को घूस लेते रंगेहाथ धर दबोचा। सूत्रों का कहना है कि घूसखोर इंस्पेक्टर लंबे समय से कानपुर में जमा हुआ है।

2012 बैच के दरोगा रहे राम जनम कानपुर में लालकुर्ती, जेल चौकी, श्यामनगर, फूलबाग जैसी चौकियों पर रहा। इसके बाद एक आईपीएस अधिकारी की सिफारिश पर एसओ सीसामऊ बना। यहीं पर इसके खिलाफ मकान कब्जाने के विवाद में शिकायत हुई लेकिन प्रमोशन होकर इंस्पेक्टर बनने पर उसे कलक्टरगंज का चार्ज दे दिया गया।

( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )