लश्कर-ए-तैयबा की धमकी, 13 नवंबर को बम से उड़ा देंगे रेलवे स्टेशन

329

दो दिन पहले हरियाणा के यमुनानगर में स्टेशन अधीक्षक को धमकी भरा पत्र मिलने के बाद सहारनपुर में भी अलर्ट हो गया। आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा की तरफ से भेजे गए पत्र में सहारनपुर, मेरठ और गाजियाबाद रेलवे स्टेशन को उड़ाने की धमकी दी गई थी।

इसके बाद जीआरपी व आरपीएफ ने रेलवे स्टेशन पर सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी है। हर आने-जाने वाले यात्रियों पर पैनी नजर रखी जा रही है। शनिवार को भी दिनभर ट्रेन और प्लेटफार्म पर चेकिंग अभियान चलाया गया।

आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा की ओर से यमुनानगर-जगाधरी स्टेशन अधीक्षक को डाक के माध्यम से 26 अक्तूबर को धमकी भरा पत्र भेजा गया। पत्र में कहा गया कि हे खुदा मुझे माफ कर हमें जम्मू-कश्मीर में मारे जा रहे जिहादियों की मौत का बदला जरूर लेना है। ठीक 13 नवंबर को सहारनपुर, अंबाला, पानीपत, सोनीपत, चंडीगढ़, भिवानी, मेरठ, गाजियाबाद सहित कई रेलवे स्टेशनों को बम से उड़ा देंगे।

दीपावली पर सहारनपुर रेलवे स्टेशन को उड़ाने की धमकी मिलने से रेलवे पुलिस के साथ ही खुफिया तंत्र भी अलर्ट हो गया है। स्टेशन पर सुरक्षा बढ़ा दी गई है। शनिवार को जीआरपी और आरपीएफ ने रेलवे स्टेशन पर चेकिंग अभियान चलाया। इस दौरान प्लेटफार्म पर संदिग्ध व्यक्तियों के सामान को चेक किया गया। इसके साथ ही उनके आधार कार्ड, ट्रेन का टिकट भी चेक किए गए।

पहले भी मिल चुकी रेलवे स्टेशन को उड़ाने की धमकियां

रेलवे स्टेशन को उड़ाने की धमकियां पहले भी कई बार मिल चुकी हैं। भेजे गए पत्र में रेलवे स्टेशन, धार्मिक स्थलों को उड़ाने की धमकी दी जाती है। सहारनपुर रेलवे स्टेशन को आठ सितंबर 2017, छह जून 2018, 27 सितंबर 2018 और 25 अप्रैल 2022 में उड़ाने की धमकी दी गई है। सहारनपुर आतंकी गतिविधियों को लेकर खासा सुर्खियों में रहा है। क्योंकि पूर्व में आतंकी संगठन से जुड़े कई संदिग्ध आतंकी गिरफ्तार हो चुके

रेलवे स्टेशन को बम से उड़ाने का धमकी भरा पत्र यमुनानगर में मिलने की जानकारी मिली है। पत्र के बाद से रेलवे स्टेशन पर सुरक्षा व्यवस्था बढ़ा दी गई है। आने-जाने वाले यात्रियों के साथ ट्रेनों को बारीकी से चेक किया जा रहा है। उनके आधार कार्ड, टिकट भी चेक किए गए। – संजीव कुमार, थाना प्रभारी, जीआरपी