लखनऊ: UP ATS ने ISI के 2 पाकिस्तानी जासूसों को किया गिरफ्तार, लीक कर रहे थे आर्मी की जानकारी

117

यूपीएटीएस (UP ATS) ने पकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई के लिए काम करने वाले 2 आरोपियों को गिरफ्तार किया है. एटीएस ने इनकी पहचान अमृत गिल और रियाजुद्दीन के रूप में की है. इनपर टेरर फंडिंग का आरोप है. यह लोग रकम लेकर भारतीय सेना की खुफिया जानकारी आईएसआई को पहुंचाते थे. एटीएस ने अमृत गिल को पंजाब के भटिंडा और रियाजुद्दीन को गाजियाबाद से गिरफ्तार किया है.

ATS मुख्यालय से रविवार को जारी बयान के अनुसार एटीएस ने पंजाब के भटिंडा के निवासी अमृत गिल उर्फ अमृत पाल (25) और गाजियाबाद के भोजपुर थाना क्षेत्र के फरीदनगर निवासी रियाजुद्दीन (36) को गिरफ्तार किया गया. ATS टीम अमृत गिल को भटिंडा से 23 नवंबर को गिरफ्तार कर ट्रांजिट रिमांड पर लखनऊ लाया गया. वहीं रियाजुद्दीन को भी पूछताछ के लिए एटीएस मुख्यालय तलब किया गया था. वही से दोनों को गिरफ्तार किया गया.

ISI की करते थे मदद

ATS के अधिकारी ने जानकारी देते हुए बताया कि ” हम लोगों को काफी समय से यह सूचना मिल रही थी कि कुछ लोगों को संदिग्ध स्रोतों से पैसे मिल रहे हैं, जिसका प्रयोग आतंकी गतिविधियों व जासूसी के लिए किया जा रहा है. बयान के मुताबिक, आईएसआई के संपर्क में आकर पैसों के लालच में जासूसी करने और संवेदनशील गोपनीय सूचनाएं भेजने की जानकारी मिली थी तथा इसकी छानबीन के बाद एटीएस थाने में रियाजुददीन और इजहारुल हक समेत अन्‍य के खिलाफ संबंधित धाराओं में प्राथमिकी दर्ज की गयी थी.

सेना की जानकारी करते थे लीक

अधिकारी के द्वारा आगे बताया गया कि जांच के दौरान ATS ने रियाजुद्दीन के बैंक खातों का विश्लेषण किया तो मार्च 2022 से अप्रैल 2022 के बीच करीब 70 लाख रुपये आने की जानकारी मिली और इसे अलग-अलग खातों में भेजा गया. आगे बताया गया कि आईएसआई को सूचना देने वाले दूसरे आरोपी ऑटो चालक अमृत गिल के खाते में ये पैसे भेजे गए. अमृत गिल ने इन पैसों को लेकर भारतीय सेना के टैंक आदि की सूचनाएं साझा की थी.

बता दें कि इससे पहले यूपी ATS ने आतंकी संगठन ISIS की विचारधारा से प्रभावित दो लड़कों को अलीगढ़ से गिरफ्तार किया था. यूपी एटीएस ने दोनों संदिग्धों के पास से एक पेन, जिसमें ISIS से जुड़े कई वीडियो हैं, प्रतिबंधित साहित्य और आंतकी विचारधारा से जुड़ी अन्य प्रचार सामग्री भी बरामद की थी. इन दोनों के संबंध पहले से गिरफ्तार शाहनवाज और रिजवान से बताए जा रहे हैं. शाहनवाज और रिजवान अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के छात्र संगठन SAMU (स्टूडेंट्स ऑफ अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी) से रहे हैं. ये सब पिछले कुछ समय से लोगों को आईएसआईएस विचारधारा से कट्टर बना रहे थे. दोनों आतंकियों ने ISIS की शपथ भी ले रखी है. दोनों आतंकियों पर जिहादी सेना बनाने का आरोप है. यूपी एटीएस ने दोनों के खिलाफ केस दर्ज कर जेल भेज दिया था.