बिना काम कराए ही ले लिया भुगतान, शिकायत होने पर कार्य हुआ शुरु, नाबालिक कर रहे काम

116

उच्च अधिकारियों को शिकायती पत्र देकर शिकायतकर्ता ने कार्रवाई की किया मांग

पूर्व प्रधान हरि राम ने बिना कार्य कराए ही लिया है भुगतान – शिकायतकर्ता

शिकायत पर पूर्व प्रधान द्वारा आनन फानन में कराये जा रहे निर्माण कार्य में नाबालिक बच्चे कर रहे हैं काम – शिकायतकर्ता

बस्ती गौर- बस्ती जिले के विकासखंड गौर अंतर्गत ग्राम पंचायत बैदोलिया अजायब मे बिना कार्य कराए ही पूर्व प्रधान द्वारा भुगतान को लेकर नंदलाल पुत्र तुलाराम के शिकायत के बाद आनन फानन में पूर्व प्रधान द्वारा कराए जा रहे निर्माण कार्य मे नाबालिक बच्चे भी काम कर रहे हैं जिसकी शिकायत नंदलाल पुत्र तुलाराम ने श्रम अधिकारी बस्ती सहित जिले के उच्च अधिकारियों से की और कार्रवाई की मांग किया है।
प्राप्त समाचार के अनुसार – गौर विकास खण्ड के अंतर्गत ग्राम पंचायत वैदोलिया अजायब मे पूर्व प्रधान हरिराम द्वारा वर्ष 2018 में राजकुमार के बाग से दक्षिण मानिकराम के घर तक मिट्टी और खड़न्जा निर्माण कार्य दिनांक 01.11.2018 को नहीं कराया गया एवं इस कार्य पर भुगतान पूर्व प्रधान हरि राम द्वारा निकाल लिया गया । शिकायतकर्ता नंदलाल पुत्र तुलाराम को जानकारी होने पर उन्होंने जन सूचना अधिकार अधिनियम 2005 के तहत जनसूचना मांगा तो मजबूर होकर पूर्व प्रधान हरिराम एवं रोजगार सेवक राजेश यादव द्वारा खड़न्जा निर्माण कार्य आनन- फानन में दिनांक 08.12.2024 को शुरू कर दिया गया । शिकायतकर्ता नंदलाल पुत्र तुलाराम का आरोप है कि खड़न्जा निर्माण कार्य मे रोजगार सेवक राजेश यादव द्वारा नाबालिक छोटे-छोटे बच्चों द्वारा काम कराया गया । शिकायतकर्ता नंदलाल पुत्र तुलाराम द्वारा मना करने पर पूर्व प्रधान हरिराम और रोजगार सेवक राजेश यादव व वर्तमान प्रधान पुत्र जितेंद्र चौधरी द्वारा खडन्जा निर्माण कर लिया गया। वर्तमान प्रधान पुत्र जितेंद्र चौधरी द्वारा वर्ष 2022 व 2023 में इस पर खड़न्जा लगने से पूर्व मिट्टी का कार्य राजकुमार यादव के बाग से मानिकराम के घर से होते हुए आगे तक कराया गया इस पर पूर्व में खड़ंजा होता तो मिट्टी का काम ना होता । नंदलाल पुत्र तुलाराम ने शिकायती पत्र में कहा है कि इसी प्रकार ग्राम पंचायत वैदोलिया अजायब में सरकारी धन का बंदर बांट किया जा रहा है। अब यह सवाल उठता है कि ग्राम पंचायत बैदौलिया अजायब मे तैनात सचिव ने अपना ईमान बेचकर रिपोर्ट लगाकर भुगतान किया था ग्राम पंचायत में कार्य को बिना जांच के ही अपने ऑफिस में बैठे-बैठे रिपोर्ट कर देते हैं। क्या सचिवो को सही को गलत और गलत को सही करने का किताब मिल गया है। या फिर उच्च अधिकारियों द्वारा सचिव को मन माने ढंग से कुछ भी करने का पावर दे दिया है क्या भ्रष्टाचार में लिप्त सचिवो के ऊपर कोई कार्रवाई नहीं होगी आम जनमानस के लिए यह एक प्रश्न बना हुआ है। फिलहाल ब्लाक गौर के ग्राम पंचायत वैदोलिया अजायब मे हुए सरकारी धन के बंदरबांट की जांच एवं उचित कार्रवाई करने हेतु शिकायतकर्ता नंदलाल पुत्र तुलाराम ने जिले के उच्च अधिकारियों को शिकायत पत्र देखकर उचित कार्रवाई की मांग किया है।