62वीं वाहिनी एस.एस.बी. मुख्यालय भिनगा में मधुमक्खी पालन प्रशिक्षण कोर्से का शुभारम्भ

61

श्रावस्ती। रबीन्द्र कुमार राजेश्वरी, कमान्डेंट 62वीं वाहिनीं सशस्त्र सीमा बल भिनगा के नेतृत्व में वाहिनी मुख्यालय भिनगा में किसानों एवं एस.एस.बी. कार्मिको के लिए 10 दिन का मधुमक्खी पालन प्रशिक्षण कोर्स का शुभारम्भ किया गया इस अवसर पर श्री रबीन्द्र कुमार राजेश्वरी कमान्डेंट के द्वारा वाहिनी मुख्यालय भिनगा में किसानो एवं जवानो के लिए 10 दिन का मधुमक्खी पालन प्रशिक्षण कोर्स का शुभारम्भ किया गया | जिसमे वाहिनी के सभी समवाय/सीमा चौकियों के 20 जवान एवं 10 ग्रामीण किसानों को जिला कृषि अनुसन्धान केंद्र श्रावस्ती के वैज्ञानिको के द्वारा वैज्ञानिक तरीके से मधुमक्खी पालन प्रशिक्षण दिया जायेगा इस दौरान कमान्डेंट महोदय के द्वारा जवानो एवं किसानो को संबोधित करते हुए बताया कि “उच्च मुख्यालय के निर्देशानुसार जवानो के स्वास्थ्य एवं रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने हेतु केन्द्रीय शस्त्र पुलिस बलों के हर परिसर में वैज्ञानिक रूप से मधुमक्खी पालन करने एवं मधुमक्खी पालन से पैदा किये हुए शहद जवानों के खाने के लिए प्रयोग में लाने हेतु निर्देशित किया गया | जिसके लिए कृषि अनुसन्धान केंद्र श्रावस्ती के वैज्ञानिक डॉ. विनय कुमार , डॉ. संजीव कुमार और डॉ रोहित कुमार पाण्डेय के द्वारा आप लोगों को मधुमक्खी पालन का प्रशिक्षण दिया जायेगा | ताकि वाहिनी के सभी कैम्पों में मधुमक्खी पालन कर शहद तैयार किया जा सके
वही पर इन 10 किसानो को भी मधुमक्खी पालन प्रशिक्षण दिया जायेगा ताकि ये लोग भी इस व्यावसायिक प्रशिक्षण लेकर इस रोजगार से जुड़कर नई दिशा में आगे बढे । सभी ग्रामीण किसान इस कार्यक्रम में भाग लेकर न केवल नए और उत्तम विशेषज्ञता हासिल करेंगे, बल्कि आपको बाजार में आपके उत्पादों को बेहतरीन मूल्य मिलने में भी मदद मिलेगी। इस कार्यक्रम के अंतर्गत, हम आपको सभी पेशेवर पूर्वानुमानों के साथ सहारा प्रदान करेंगे ताकि आप अपने इस व्यवसाय को सफलता की ऊंचाइयों तक पहुंचा सकें। इस प्रशिक्षण कार्यशाला में श्री विनोद कुमार, उप-कमांडेंट, सहायक उप निरीक्षक सोहन सिंह और प्रशिक्षण हेतु चयनित जवान एवं किसान उपस्थित रहे |

विज्ञापन बॉक्स