निष्पक्ष एवं शांतिपूर्ण ढंग से विधानसभा चुनाव- 2023 के लिए सिंगरौली में अन्य राज्यों के साथ आयोजित की गई बॉर्डर मीटिंग

119

सिंगरौली में आयोजित बार्डर मीटिंग में उत्तर प्रदेश, छत्तीसगढ और सीधी के पुलिस एवं प्रशासन के अधिकारियों ने बैठक में हिस्सा लिया। विधानसभा चुनाव तैयारी को लेकर किया सूचना का आदान-प्रदान।
आगामी मध्यप्रदेश विधानसभा निर्वाचन- 2023 को दृष्टिगत रखते हुये दिनांक 26 अगस्त, 2023 को पुलिस रूस्तम जी कॉन्फ्रेसिंग हाल में श्री अरूण कुमार परमार, कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी, श्री मो. यूसुफ कुरैशी पुलिस अधीक्षक, जिला सिंगरौली के नेतृत्व में जिले की सीमा से लगने वाले अन्य राज्य के पुलिस अधिकारी एवं प्रशासनिक अधिकारियों के साथ बैठक आयोजित की गई
उक्त बैठक में श्री अरविन्द्र कुमार झा, अपर कलेक्टर एवं उप जिला निर्वाचन अधिकारी, उत्तर प्रदेश राज्य से डॉ यशवरी सिंह, पुलिस अधीक्षक सोनभद्र, श्री सुरेश राय एसडीएम दुद्धि, जिला सोनभद्र, श्री भरत लाल सरोज, एसडीएम मिरजापुर, श्री प्रदीप सिंह चंदेल सी.ओ. पीपरी, श्री अनिल कुमार पाण्डेय सी.ओ. ऑपरेशन मिरजापुर, छत्तीसगढ राज्य से श्री कमलेश नंदनी साहू ए.डी.एम. जिला कोरिया, श्री सागर, एसडीएम सूरजपुर, श्री प्रमोद गुप्ता एसडीएम वर्डफनरग, जिला बलरामपुर, श्री राजेश कुर्रे एसडीओपी मनेन्द्रगढ श्री राजेश साहू एस.डी.ओ.पी. सोनहर, जिला कोरिया, श्री राजेश जोशी, एस.डी.ओ.पी. उडगी, जिला सूरजपुर, श्री अभिषेक झॉ एसडीओपी वार्डफनगर, जिला बलरामुर, श्री अभिषेक झा एसडीओपी मनेन्द्रगढ एवं जिला सीधी से सुश्री रोशनी ठाकुर, एस.डी.ओ.पी. श्री एस.पी. मिश्रा एसडीएम सिहावल उपस्थि रहे। साथ ही सिंगरौली जिले के समस्त राजपत्रित अधिकारी (राजस्व) एवं समस्त राजपत्रित अधिकारी (पुलिस) एवं थाना/चौकी प्रभारीगण उपस्थित रहे।

बैठक में पुलिस अधीक्षक, मो. यूसुफ कुरैशी के द्वारा सभी को संबोधित करते हुये बैठक में चर्चा के बिन्दु एवं आगामी विधानसभा निर्वाचन के संबंध में बताया गया कि यह हमारा प्रमुख दायित्व है कि जन सामान्य अपने मताधिकार का प्रयोग निर्भीकता से कर सके। इसके लिये आवश्यक है कि समस्त हम सब की सहभागिता एवं विशेष सतर्कता एवं सक्रियता से प्रभावी नियंत्रण स्थापित कर इस निर्वाचन को निष्पक्ष एवं शांतिपूर्ण ढंग से सम्पादित कराया जा सके। बैठक में उपस्थित सभी अधिकारियों का वन टू वन परिचय लिया गया।

विधानसभा चुनाव तैयारियों को लेकर सूचनाओं का आदान प्रदान किया। वहीं, दोनों प्रदेशों के बॉर्डर एरिया में अपराधियों से निपटने की रणनीति भी तैयार की। दोनों ही प्रदेशों की पुलिस ने अपने क्षेत्र के फरार वारंटी और अपराधियों की जानकारी शेयर की है।

आगामी विधानसभा चुनाव को लेकर बॉर्डर पर सतर्कता बरतने चेकिंग और चुनाव में अपराधिक तत्वों की धरपकड़ के लिए रणनीति बनाई और जानकारियां भी साझा की है। दोनों प्रदेशों को जोड़ने वाले नाकों पर सीसीटीवी लगाए जाने की योजना तैयार की गई।

अन्तर्राजीय पुलिस एवं प्रशासन की बैठक में निर्वाचन संबंधी निम्न बिन्दुओ पर चर्चा कर अपनी-अपनी जानकारी साझा की गई एवं निम्न बिन्दुओ पर प्रभावी कार्यवाही पर सहमती बनाई गईः-

01- सीमावर्ती थाना क्षेत्रों में असामाजिक तत्वों, अवैध शराब, शस्त्र, मादक पदार्थो, अवैध कैश, आदि के संबंध में प्रभावी कार्यवाही।

02- स्थायी वारंटियो, फरार/ईनामी अपराधियों की सूची साझा करते हुये ऐसे अपराधियों की धरपकड हेतु कार्य योजना तैयार की गई।

03- चिन्हित सीमावर्ती चेक पोस्ट पर एस.एस.टी./एफ.एस.टी. प्वाइंटो पर प्रभावी कार्यवाही।

04- वल्नरेबल क्षेत्रो एवं क्रिटिकल मतदान केन्द्रो पर संयुक्त भ्रमण एवं प्रभावी कार्यवाही

05- सीमावर्ती इलाको में थाना वाईज पुलिस मोबार्इ्र्रल का सतत् भ्रमण संबंधित थाना प्रभारी से समन्वय कर प्रत्येक अवैधानिक गतिविधियों की जानकारी साझा करना

06- लाईसेंसी आर्म्स धारको की सूची प्राप्त कर थानो में दर्ज लाइसेंसी से मिलान करना एवं सत्यापन उपरांत सत् प्रतिशत आर्म्स जमा कराया जाना।

 

07- ऐसे अद्यतन अपराधी जिनके विरूद्ध विगत विधानसभा चुनाव एवं लोकसभा चुनाव के दौरान जिला बदर/रा.सु.का. के अन्तर्गत कार्यवाही की गई उसकी सूची सीमावर्ती जिलो के थानो से साझा करते हुये बदमाशो को चेक करना एवं उनकी गतिविधियॉ पर कडी निगाह रखना

08- अवैध नशीली सिरप (कोरेक्स)/ गांजा/ हिरोईन/ अवैध शराब का आवक उत्तर प्रदेश एवं छत्तीसगढ से होता है। ऐसे मादक पदार्थो में संलिप्त मुख्य स्त्रातों/ अपराधियों के विरूद्ध संयुक्त रूप से कार्यवाही

09- अवैधानिक गतिविधियों जैसे मादक पदार्थ/ अवैध शराब/ कैश/ निर्वाचन में मतदाताओ को प्रलोभन हेतु देने वाली सामाग्री तथा किमती वस्ती की सूचना एवं उसका रूट चार्ट शेयर करने से निश्चित रूप से ऐसे गतिविधियों पर अंकुश लगाया जा सकेगा। इसके लिये आपसी समन्वय आवश्यक है।

10- सीमावर्ती क्षेत्र से लगे समस्त संवेदनशील/ अतिसंवेदनशील मतदान केन्द्रो की सूची तैयार कर मतदान केन्द्रो का भ्रमण।

11- सीमावर्ती राज्यों के जिलो के अधिकारियों का व्हाट्सअप ग्रुप बनाने व ग्रुप के माध्यम से जानकारी साझा करने का निर्णय लिया गया।

12- चुनाव के दौरान सीमावर्ती राज्यों के जिलो के थानो मंे अपना वायरलेस सेट मय ऑपरेटर के लगाए जायेगे ताकि सूचना का आदन-प्रदान तत्काल किया सा सके।

13- अवैध मादक पदार्थ, अवैध शराब करोबार में संलिप्त व्यक्तियों की सूची साझा कर प्रभावी कार्यवाही पर चर्चा की गई।

  • 14- सीमावर्ती क्षेत्रो में विवादित व्यक्तियों पर सतत निगाह रखने व चुनाव पभावित करने वाले व्यक्तियों की सूची तैयार करने एवं ऐसे व्यक्त्यिों के विरूद्ध प्रभावी कार्यवाही करते हुये बाउण्ड ओवर की कार्यवाही की जाने की सहमति व्यक्त की गई।

रिपोर्ट – दिनेश शर्मा