श्री हरिकोटा से सूर्य मिशन Aditya-L1 की लॉन्चिंग Live | ISRO | Aditya L1 Launch

1277

ब्रेकिंग: ISRO के सभी वैज्ञानिको का जोश एकदम हाई है कुछ ही देर में इतिहास रचने वाला है भारत 11:50 बजे होगी आदित्य एल 1 की लॉन्चिंग PSLV-C57-C57 रॉकेट से लॉन्च होगा

आदित्य मिशन को एल 1 प्वाइंट तक पहुंचने में करीब 120 दिन लगेंगे !

सूर्य के स्‍टडी के लिए भारत का पहला मिशन.

“आदित्य L1” रॉकेट से सूर्य तक पहुंचेगा 15 लाख किलोमीटर चलना है

11:35 AM (3 मिनट पहले)

क्या है लैरेंज प्वाइंट जहां पहुंचेगा आदित्य-L1

Posted by :- Vikas Kumar Porwal

Aditya L1 Launch Live: लैरेंज प्वाइंट जिसे शॉर्ट फॉर्म में L कहा जा रहा है. आदित्य-L1 को सूर्य के निकट इसी पाइंट पर पहुंचना है. यह नाम गणितज्ञ जोसेफी-लुई लैरेंज के नाम पर दिया गया है. इन्होंने ही इन लैरेंज प्वाइंट्स को खोजा था. जब किसी दो घूमते हुए अंतरिक्षीय वस्तुओं के बीच ग्रैविटी का एक ऐसा प्वाइंट आता है, जहां पर कोई भी वस्तु या सैटेलाइट दोनों ग्रहों या तारों की गुरुत्वाकर्षण से बचा रहता है. आदित्य-L1 के मामले में यह धरती और सूरज दोनों की गुरुत्वाकर्षण शक्ति से बचा रहेगा.

11:30 AM (8 मिनट पहले)

मौसम साफ, बह रही हवा, आदित्य-L1 के लिए काउंट डाउन जारी, स्पेस सेंटर में उमड़े लोग

Posted by :- Vikas Kumar Porwal

आदित्य- L1 के लिए काउंट डाउन शुरू हो चुका है. स्टेप बाय स्टेप लान्चिंग के आखिरी चरण पूरे किए जा रहे हैं. सतीश धवन स्पेस सेंटर और मिशन लॉन्च पैड के स्थल के आसपास मौसम साफ है. हवा बह रही है. मिशन की लॉन्चिंग को देखने के लिए लोगों की भीड़ उमड़ी हुई है. बड़ी संख्या में लोग उस पल का गवाह बनने के लिए बेकरार हैं, जब आदित्य-L1 मिशन सूर्य की ओर उड़ान भरने के लिए ल़ॉन्च किया जा रहा है.

11:30 AM (8 मिनट पहले)

Aditya-L1 की लॉन्चिंग से पहले जम्मू के स्कूली छात्रों ने ISRO को दी शुभकामनाएं

Posted by :- Ritu Tomar

Aditya L1 Launch Live: ISRO के सूर्य मिशन यानी Aditya-L1 की सफलता के लिए देशभर में प्रार्थनाएं की जा रही हैं. जम्मू में छात्रों ने इस मौके पर खुशी जाहिर की. एक छात्र ने बताया कि हम सूर्य मिशन को लेकर बहुत उत्साहित हैं. यह गर्व का पल है. हमारा पूरा स्कूल इसरो के साथ है और इसकी सफल लॉन्चिंग की कामना कर रहा है. हमें भारतीय होने पर गर्व है.

11:14 AM (23 मिनट पहले)

सूर्य मिशन Aditya-L1 की सफलता के लिए किए जा रहे हवन

Posted by :- Ritu Tomar

देशभर में सूर्य मिशन Aditya-L1 को लेकर लोगों में उत्साह है. चंद्रयान-3 की सफलता के बाद अब Aditya-L1 सूर्ययान की सफलता के लिए कांदिवली के मिथिला हनुमान मंदिर में हवन किया जा रहा है. वाराणसी में भी मिशन की सफलता की कामना के लिए हवन किया जा रहा है. ऐसी ही नजारा उत्तराखंड में भी देखने को मिल रहा है, जहां सूर्य मिशन की सफलता के लिए पूजा-पाठ और विशेष पूजा की जा रही है.

11:06 AM (32 मिनट पहले)

Aditya-L1 मिशन की लॉन्चिंग के लिए मौसम एकदम उपयुक्त

Posted by :- Ritu Tomar

Aditya L1 Launch Live: श्रीहरिकोटा में लॉन्चिंग के लिए मौसम एकदम उपयुक्त है. हवा 13 किलोमीटर प्रतिघंटा की रफ्तार से चल रही है. तापमान 33-34 डिग्री सेल्सियस के बीच है. हवा की वजह से ह्यूमिडिटी ज्यादा नहीं है. आसमान में हल्के-फुल्के बादल हैं, लेकिन उससे लॉन्च में कोई दिक्कत नहीं होगी.

10:40 AM (58 मिनट पहले)

Aditya-L1 में विज्ञान के क्षेत्र में बड़ा चमत्कार करने की क्षमता: खगोल वैज्ञानिक सोमक रायचौधरी

Posted by :- Ritu Tomar

Aditya L1 Mission Launch: खगोल वैज्ञानिक सोमक रायचौधरी ने कहा कि सूर्य मिशन Aditya-L1 की क्षमता विज्ञान के क्षेत्र में बड़ा चमत्कार करने की है. लेकिन सूर्य से निकलने वाले कणों से पृथ्वी पर संचार को नियंत्रित करने वाले सैटेलाइट्स प्रभावित हो सकते हैं.

10:24 AM (एक घंटा पहले)

‘ISRO और भारत के लिए यह बहुत बड़ा कदम’, लॉन्चिंग पर बोले इसरो के पूर्व वैज्ञानिक

Posted by :- Ritu Tomar

Aditya L1 Mission: ISRO के पूर्व वैज्ञानिक मनीष पुरोहित ने कहा कि इसरो और भारत के लिए यह बहुत बड़ा कदम है. देश की नई अंतरिक्ष नीति के साथ यह स्पष्ट है कि इसरो स्पेस इकोनॉमी में बहुत बड़ी भूमिका निभाएगा. इसलिए इसरो ने स्पष्ट रूप से इस दिशा में बड़ा कदम उठाया है.

10:11 AM (एक घंटा पहले)

16 दिन धरती के चारों तरफ चक्कर लगाएगा आदित्य-L1

Posted by :- Vikas Kumar Porwal

Aditya L1 Mission: 16 दिनों तक आदित्य-L1 धरती के चारों तरफ चक्कर लगाएगा. इस दौरान पांच ऑर्बिट मैन्यूवर होंगे, ताकि सही गति मिल सके. इसके बाद आदित्य-L1 का ट्रांस-लैरेंजियन 1 इंसर्शन (Trans-Lagrangian 1 Insertion – TLI) होगा. फिर यहां से उसकी 109 दिन की यात्रा शुरू होगी. जैसे ही आदित्य-L1 पर पहुंचेगा, वह वहां पर एक ऑर्बिट मैन्यूवर करेगा. ताकि L1 प्वाइंट के चारों तरफ चक्कर लगा सके.

10:02 AM (एक घंटा पहले)

कहानी उस रॉकेट की, जो अंतरिक्ष में Aditya-L1 में छोड़ने जाएगा

Posted by :- Vikas Kumar Porwal

Aditya L1 Mission Lunch: इसरो सूर्य की गतिविधि समझने के लिए जिस Aditya-L1 मिशन को लॉन्च कर रहा है, उसमें PSLV-XL रॉकेट बेहद जरूरी भूमिका निभाने वाला है. यह वह रॉकेट है जो Aditya-L1 को अंतरिक्ष में छोड़ेगा. यह पीएसएलवी की 59वीं उड़ान है. एक्सएल वैरिएंट की 25वीं उड़ान है. लॉन्चिंग श्रीहरिकोटा के सतीश धवन स्पेस सेंटर के लॉन्च पैड 2 से हो रही है. यह रॉकेट 145.62 फीट ऊंचा है. रॉकेट आदित्य-L1 को धरती की निचली कक्षा में छोड़ेगा. जिसकी पेरिजी 235 किलोमीटर और एपोजी 19,500 किलोमीटर होगी. पेरीजी यानी धरती से नजदीकी दूरी और एपोजी यानी अधिकतम दूरी.

 

विज्ञापन बॉक्स