‘दोषियों का हो एनकाउंटर, जब तक प्रेम यादव के घर बुलडोजर नहीं चलेगा नहीं करूंगा ब्रह्मभोज’, सत्यप्रकाश दुबे के बेटे का ऐलान

165

उत्तर प्रदेश के देवरिया (Deoria) में फतेहपुर गांव में जमीन विवाद को लेकर हुए नरसंहार का मामला अभी ठंडा पड़ता नहीं दिखाई दे रहा है. इसी बीच सत्यप्रकाश दुबे के बेटे देवेश ने ऐलान किया है कि जब तक प्रेमचंद्र के घर पर बुलडोजर नहीं चल जाता, तब तक वह ब्रम्हभोज नहीं करेंगे.

सत्यप्रकाश दुबे के बेटे ने कहा, “इस मामले में अब तक पूरे तरीके से कार्रवाई नहीं की जा रही है. इस घटना को दस दिन हो चुके हैं. अगर ऐसी घटना प्रशासन के साथ होती तो क्या वो चुप बैठते या किसी ओर के साथ होती तो क्या चुप बैठते. आज दस दिन हो गए. इस मामले में जल्द से जल्द कार्रवाई कर देनी चाहिए, लेकिन हमें सिर्फ आश्वासन दिया जा रहा है कि कार्रवाई होगी. हो सकता है कि हम लोग ब्रह्मभोज करके हट जाए तो कार्रवाई रुक जाए.”

प्रेमचंद यादव का घर गिराने की मांग
देवेश दुबे ने कहा, “जिसने भी हमारे मां-बाप को, हमारे पूरे परिवार का नरसंहार किया गया है उसे फांसी हो, उनका एनकाउंटर हो. जिसने हमारे भाई और बहन को मारा है. उनका तो सबसे पहले घर ध्वस्त होना चाहिए.” देवेश ने प्रशासन को चेतावनी देते हुए कहा, “जब तक प्रेमचंद यादव का घर और दूसरे आरोपियों का घर ध्वस्त नहीं हो जाता है तब तक मैं अपना ब्रह्मभोज नहीं करूंगा.”

प्रेमचंद की बेटी की भावनात्मक अपील
एक तरफ जहां देवेश प्रेमचंद यादव के घर को गिराने की मांग कर रहा है तो वहीं दूसरी तरफ प्रेमचंद यादव की बेटी ने भी योगी सरकार से न्याय की गुहार लगाई है और कहा कि अगर हमारा घर गिर गया तो हम कहां रहेंगे. प्रेमचंद की बेटी अंशिका यादव ने कहा, “आज मेरा जन्मदिन है और सरकार ने ये गिफ्ट दिया है कि हमें नोटिस दिया है कि मकान खाली कर दो. हम चाहते हैं कि हमारे साथ अन्याय न हो. हम योगी बाबा से चाहते हैं कि हमारा घर न गिराया जाए, अगर घर गिरा तो हम कहां रहेंगे.”

( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )