‘श्रीराम और कृष्ण आज होते तो मैं उन्हें जेल भेज देता’, इलाहाबाद यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर की अमर्यादित टिप्पणी, FIR दर्ज

168

इलाहाबाद यूनिवर्सिटी के हिस्ट्री डिपार्टमेंट के असिस्टेंट प्रोफेसर डॉ. विक्रम हरिजन ने भगवान श्रीराम और भगवान श्रीकृष्ण को लेकर विवादित बयान दिया है. दरअसल प्रोफेसर डां. विक्रम हरिजन ने श्रीराम और श्रीकृष्ण को लेकर सोशल मीडिया X पर विवादित पोस्ट किया था. अब इसको लेकर इलाहाबाद यूनिवर्सिटी में भारी हंगामा हो रहा है. विक्रम हरिजन के खिलाफ जहां यूनिवर्सिटी के छात्रों का गुस्सा सांतवे आसमान पर है तो वहीं बजरंग दल से लेकर तमाम हिंदू संगठन भी प्रोफेसर विक्रम हरिजन के खिलाफ सड़कों पर उतर आए हैं. वहीं अब पुलिस ने भी प्रोफेसर के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है.

प्रोफेसर विक्रम के खिलाफ विश्व हिंदू परिषद (VHP), हिंदू जागरण मंच और बजरंग दल ने शिकायत की है. वीएचपी के जिला संयोजक शुभम ने इससे मामले में कर्नलगंज पुलिस स्टेशन में तहरीर दी है. जिसके बाद मिडिवल एंड मॉडर्न हिस्ट्री डिपार्टमेंट के असिस्टेंट प्रोफेसर डॉ. विक्रम के खिलाफ आईपीसी की धारा 153-ए यानी धर्म के आधार पर वैमनस्य फैलाने, 295-ए यानी किसी वर्ग के धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने और आईटी एक्ट की धारा 66 के तहत एफआईआर दर्ज की गई है.




बता दें कि प्रोफेसर विक्रम हरिजन का विवादों से पुराना नाता रहा है. इससे पहले भी वह हिंदू भगवानों को लेकर काफी विवादित बयानबाजी कर चुके हैं, जिसके बाद उन्होंने अपनी जान का खतरा बताया था और पुलिस ने उन्हें सुरक्षा भी मुहैया करवाई थी. इस बार भी प्रोफेसर विवाद में फंस गए हैं. बजरंग दल द्वारा प्रयागराज के कर्नलगंज थाने में विकरम हरिजन के खिलाफ शिकायत की है और गिरफ्तारी की मांग की है.

श्रीराम और श्रीकृष्ण को लेकर किया विवादित पोस्ट

इलाहाबाद विश्वविद्यालय के हिस्ट्री डिपार्टमेंट के असिस्टेंट प्रोफेसर ने X पर पोस्ट किया, ‘यदि आज प्रभु श्री राम होते तो मैं ऋषि शम्भुक का वध करने के लिए उनको आईपीसी की धारा 302 के तहत जेल भेजता और यदि आज कृष्णा होते तो महिलाओं के साथ सेक्सुअल हैरेसमेंट के केस के लिए उनको भी जेल भेजता.

बता दें कि बजरंग दल की शिकायत पर पुलिस ने आरोपी प्रोफेसर विक्रम हरिजन के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है. आपको ये भी बता दें कि विक्रम हरिजन के इस विवादित बयान पर, जहां हिंदू संगठन के लोगों में काफी गुस्सा है तो वहीं इसको लेकर इलाहाबाद विश्वविद्यालय के छात्रों में भी काफी नाराजगी देखी जा रही है. हिंदू संगठनों का कहना है कि प्रोफेसर विक्रम हरिजन को इलाहाबाद विश्वविद्यालय से हटाया जाए.

Also Read: UP: झुग्गी-झोपड़ी में रहने वालों को बड़ा तोहफा देने जा रही योगी सरकार, मिलेगा पक्का मकान

( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )