कस्टम विभाग की लापरवाही, बचकर निकला सोना तस्कर, लखनऊ पुलिस ने दबोचा

80

लखनऊ में चौधरी चरण सिंह एयरपोर्ट के बाहर तीन दिन पहले एक किलो सोने के साथ सरोजनीनगर पुलिस के हत्थे चढ़े तीन तस्करों से पूछताछ में चौंकाने वाला खुलासा हुआ है। एक तस्कर ने बताया कि इसी महीने में वह 12 बार सोना लेकर आ चुका है। एयरपोर्ट के कस्टम अधिकारियों से सेटिंग के चलते वह हर बार सोना लेकर बाहर निकल जाता है। पुलिस ने तीनों तस्करों को कस्टम के हवाले किया तो उन्हें यह कहकर जाने दिया दिया गया कि बरामद सोना 50 लाख से कम का है।

28 अक्टूबर को रात 10 बजे दुबई से इंडिगो एयरलाइंस की फ्लाइट लखनऊ एयरपोर्ट पहुंची तो उस समय सरोजनीनगर थाने के उपनिरीक्षक जग प्रसाद अपने हमराही सिपाही के साथ परिसर के बाहर एक मामले को लेकर संदिग्धों की तलाश में थे। तभी एयरपोर्ट से निकले एक संदिग्ध युवक से मिलने पहुंचे दो लोगों पर उपनिरीक्षक की नजर पड़ी।

उन्होंने तीनों को रोक लिया। पूछताछ में पता चला कि बिहार के गोपालगंज निवासी राजू कुमार दुबई से उक्त फ्लाइट के जरिए सोना लेकर यहां आया है। सख्ती से पूछताछ के साथ ही तलाशी लेने पर उसके पास से एक किलो से अधिक सोना मिला।

पुलिस के मुताबिक पूछताछ में राजू कुमार ने बताया कि इसी माह वह 12 बार विदेश से सोना लेकर यहां आ चुका है। राजू ने कहा- लखनऊ एयरपोर्ट पर तैनात कस्टम अधिकारियों से अच्छी सेटिंग के चलते वह हर बार आराम से बच निकलता है।

उपनिरीक्षक जग प्रसाद ने तीनों को कस्टम के अधिकारियों के हवाले कर दिया। खुद को फंसता देख कस्टम के अधिकारियों ने पुलिस को बताया कि 50 लाख रुपये कीमत से कम का सोना होने के कारण राजू को जाने दिया गया। कस्टम के अधिकारियों ने राजू समेत तीनों को जाने दिया। कहा कि मामले की जांच की जा रही है।
राजू कुमार ने पूछताछ में बताया कि उसने सोने का बुरादा बनाकर पहले जेली में मिलाया। फिर कंडोम में भरकर अपने मलाशय में डालकर यहां लेकर पहुंचा। सोने की तस्करी करने वाले राजस्थान के मुस्तफा रजा सहित दो लोग यहां एयरपोर्ट पर पहले से उसका इंतजार कर रहे थे। मगर तीनों पुलिस के हत्थे चढ़ गए।

विज्ञापन बॉक्स