इजरायल-अमेरिका समेत कई देशों में कोविड के नए वेरिएंट से हड़कंप, वैक्सीन लगवा चुके लोगों को भी बना रहा शिकार!

44

कोरोना महामारी (Coronavirus) के दौरान पूरी दुनिया में हुए नुकसान के जख्म अभी भरे नहीं हैं कि एक और कोविड के वेरिएंट (Covid-19 new variant) ने स्वास्थ्य विशेषज्ञों की नींद उड़ा दी है. हाल ही में विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के एक प्रमुख अधिकारी ने जानकारी दी कि BA.2.86 नामक एक हाइली म्युटेंट COVID-19 वेरिएंट पाया गया है, जो पहले से भी अधिक खतरनाक है.

Chandrayaan 3 Update: कितनी गर्म है चांद के साउथ पोल पर मिट्टी? चंद्रयान-3 ने लगाया पता, ISRO ने जारी किया नया

द कन्वर्सेशन के अनुसार BA.2.86 (परोला) एक ऐसा नया स्ट्रेन है जिसने कुछ डॉक्टरों और विशेषज्ञों में चिंता पैदा कर दी है. इसके फैलने का पैटर्न अलग है. खासकर वायरस की सतह पर अणु जो इसे अनलॉक करने और हमारी कोशिकाओं में प्रवेश करने के लिए एक कुंजी की तरह कार्य करता है. यह वैक्सीन ले चुके लोगों को भी प्रभावित करता है.

अयोध्या: राम जन्मभूमि परिसर में तैनात PAC जवान की संदिग्ध परिस्थितियों में गोली लगने से मौत, मचा हड़कंप

हाल ही में विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के एक प्रमुख अधिकारी ने जानकारी दी कि BA.2.86 नामक एक हाइली म्युटेंट COVID-19 वेरिएंट पाया गया है. रॉयटर्स की रिपोर्ट के मुताबिक BA.2.86 नामक COVID-19 वेरिएंट इज़राइल, डेनमार्क, अमेरिका और ब्रिटेन के अलावा स्विट्जरलैंड और दक्षिण अफ्रीका में पाया गया है. हालांकि, इसकी वजह से बीमार हुए लोगों की संख्या कम है.

इन गांवों में फ्री DTH डिश देगी सरकार, सर्वे का काम हुआ शुरू

गंभीर बीमारी और मौत की संभावना कम
BA.2.86 नामक COVID-19 वेरिएंट सबसे पहले 24 जुलाई को डेनमार्क में पाया गया था, जब एक मरीज गंभीर रूप से बीमार होने के बाद  हॉस्पिटल में भर्ती हुआ था. इस वेरिएंट के मिलने के बाद नियमित रूप से यात्रियों की एयरपोर्ट पर जांच की गई, जिसमें BA.2.86 वेरिएंट पाया गया था. इसके अलावा पानी के टेस्टिंग में भी कोविड-19 के नए वेरिएंट को पाया गया. दुनियाभर के एक दर्जन वैज्ञानिकों ने कहा कि BA.2.86 की निगरानी करना महत्वपूर्ण था, लेकिन टीकाकरण और पूर्व संक्रमण से दुनिया भर में तैयार की गई सुरक्षा को देखते हुए इससे गंभीर बीमारी और मौत की संभावना न के बराबर है.

COVID-19 तकनीकी प्रमुख मारिया वान केरखोव ने कहा
WHO में COVID-19 तकनीकी प्रमुख मारिया वान केरखोव ने BA.2.86 के संबंध में अपने पहले इंटरव्यू में कहा कि इस होने वाले संक्रमणों की संख्या कम है. उन्होंने कहा कि पता चले मामले जुड़े हुए नहीं हैं, इससे पता चलता है कि यह पहले से ही अधिक व्यापक रूप से फैल हो रहा है.

Also Read: Maharashtra News: मुंबई के गैलेक्सी होटल में लगी भीषण, 8 लोग झुलसने से बुरी तरह घायल, 3 की मौत

( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )
पूरी ख़बर यहाँ पढ़े : रक्षाबंधन पर बहनों को CM योगी का तोहफा, 2 दिनों तक यूपी रोडवेज में करें मुफ्त में सफर

विज्ञापन बॉक्स