जैविक खेती: केंचुआ खाद बेचकर किसान बना लखपति, इस तरह बढ़ाई अपनी आय

242

कुछ ही दिनों में कमा लिए डेढ़ लाख

रासायनिक कीटनाशकों के बुरे प्रभाव के चलते खेती-किसानी में जैविक खाद उपयोग बढ़ा है. इसी कड़ी में वर्मीकंपोस्ट( केंचुआ खाद) के इस्तेमाल का महत्व भी बढ़ा है. केंचुओं से बनी इस खाद में प्रचुर मात्रा में जीवांश कार्बन, लाभकारी सूक्ष्मजीव व पौधों के लिए उपयोगी तत्व पाए जाते हैं. किसान इसे अपने घर पर भी आसानी से बना सकते हैं. यही वजह है किसानों की दिलचस्पी वर्मीकंपोस्ट के बिजनेस में बढ़ी है. राजस्थान के भीलवाड़ा के रहने वाले प्रगतिशील किसान सुशील उपाध्याय ने केंचुआ खाद तैयार बंपर मुनाफा कमा रहे हैं.

यह भी पढ़ेंः Tomato Price: जानिए कैसे किसान का ₹2-3 वाला टमाटर आपके किचन तक आते-आते हो जाता है ₹100 का

केंचुआ खाद बेच लाखों का मुनाफा कमा रहा ये किसान

खटवाड़ा गांव के प्रगतिशील किसान सुशील उपाध्याय केंचुआ खाद तैयार उसे अपनी फसल पर उपयोग करने के साथ-साथ उसकी बिक्री भी कर रहे हैं. इससे उन्हें लाखों का मुनाफा हासिल हो रहा है. वह बताते हैं कि केंचुआ खाद को खेत पर ही तैयार करने के लिए 30 बेड बनाई जिसमे करीब चार लाख रुपए का खर्चा आया. 3 महीने में ये खाद तैयार हो गया. अपनी फसल के साथ-साथ खाद की भी बिक्री कर रहा हूं.

यह भी पढ़ेंः साल में तीन बार करें लौकी की खेती, बंपर होगी कमाई, जानें पूरी विधि

राजस्थान के भीलवाड़ा के रहने वाले किसान सुशील उपाध्याय केंचुआ खाद तैयार कर उसे अपनी फसल पर उपयोग करने के साथ-साथ उसकी बिक्री भी कर रहे हैं. इससे उन्हें लाखों का मुनाफा हासिल हो रहा है.

खीरा-ककड़ी की फसल से भी कमा रहे हैं बढ़िया मुनाफा

सुशील उपाध्याय आगे बताते हैं कि उन्होंंने ग्रीन हाउस में खीरा-ककड़ी की फसल लगाई है. उसपर जैविक खाद का उपयोग किया है. फसल की पैदावार इस बार अच्छी हुई है. फसल के साथ-साथ वर्मीकंपोस्ट की बिक्री से भी अच्छी कमाई कर रहा हूं. फिलहाल उनके पास डेढ़ लाख रुपए कीमत का केंचुआ खाद तैयार कर लिया है. इस खाद को आसपास के ग्रीन हाउस के किसान खरीद कर ले जा रहे हैं.