सीतापुर: शीबा ने राधिका बन प्रेमी रामू से किया विवाह, कहा- हिंदू लड़कों से शादी करें मुस्लिम लड़कियां, इज्जत-सम्मान से बिताएं जीवन

171

उत्तर प्रदेश के सीतापुर (Sitapur) जनपद के पखरिया गांव की निवासी शीबा (Sheeba) ने सनातन धर्म अपना लिया है। अब वह शीबा से राधिका बन चुकी हैं। इसके साथ ही उन्होंने अपने गांव के प्रेमी रामू से लव मैरिज कर ली है। शीबा का कहना है कि मैंने हलाला और तीन तलाक जैसी कुरीतियों से बचने के लिए यह कदम उठाया है, मुझे इन चीजों से नफरत है। मैं मुस्लिम बहनों से कहूंगी कि हिंदू लड़के से शादी करें और इज्जत व सम्मान के साथ अपना जीवन व्यतीत करें।

हिंदू धर्म में सबको खुलकर जीने का अधिकार

शीबा का कहना है कि मुझे अपना धर्म बचपन से पसंद नहीं था। मुझे हिंदू धर्म में होने वाली रस्में अच्छी लगती थी। मैंने अपने परिवार और रिश्तेदारी में देखा है। कैसे लड़कियों को दबाकर रखा जाता है। बात-बात पर उनको रोका-टोका जाता है। वहीं हिंदू धर्म में सबको खुलकर जीने का अधिकार है। मैं भी अब खुलकर अपने पति के साथ अपना जीवन बिता पाऊंगी।

Also Read: बरेली: मुस्लिम युवती ‘सबा’ ने इस्लाम छोड़ अपनाया हिंदू धर्म, प्रेमी संग शादी रचाकर बनी ‘सोनी’

हिंदू-रीति रिवाज से की दोनों ने शादी

शीबा और रामू ने मंगलवार देर शाम भुइयां ताली तीर्थ पर स्थित मां बंगलामुखी मंदिर में हिंदू रीति-रिवाज से शादी की है। बड़ी संगत खैराबाद के महंत बजरंग मुनि की देखरेख में यह शादी करवाई गई है। शादी के बाद दोनों ने भगवान और महंत का आशीर्वाद लिया। शादी में रामू के परिवार वाले शामिल हुए। वहीं शीबा के परिवार से कोई नहीं आया। शादी के बाद दोनों बहुत खुश नजर आए।

डेढ़ साल से चल रहा था प्रेम प्रसंग

वहीं, शादी के बाद रामू ने बताया कि उसका और शीबा का डेढ़ साल से प्रेम प्रसंग चल रहा था। दोनों एक ही गांव के रहने वाले हैं। घरों की दूरी भी ज्यादा नहीं है। काफी समय साथ बिताने के बाद दोनों ने शादी करने का फैसला लिया। लेकिन दोनों के घरवाले राजी नहीं हुए। ऐसे में उन्होंने बाबा बजरंग मुनि से मुलाकात कर मदद मांगी।

Also Read: बरेली में मुस्लिम युवती इलमा ने इस्लाम छोड़ अपनाया हिंदू धर्म, सौम्या बन प्रेम सोमेश संग मंदिर में रचाई शादी

रामू ने बताया कि उन्होंने हमसे जल्द ही शादी करवाने का वादा किया। उसके बाद 5 सितंबर की तारीख शादी के लिए अच्छी बताई। हम दोनों अपने-अपने घरों से उनकी बताई गई जगह पर पहुंच गए और वहां हमने शादी कर ली। बजरंग मुनि की देखरेख में दोनों ने एक दूसरे को वरमाला डाली और अग्नि के सात फेरे लिए। रामू ने राधिका की मांग में सिंदूर भरा और मंगलसूत्र पहनाया।


दुनिया प्रदेश की ताजा तरीन खबरें और रोचक जानकारीयों के लिए जुडिए हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से..लेटेस्ट ब्रेकिंग न्यूज अपने व्हाट्सएप पर पायें…

#उत्तर प्रदेश, #सीतापुर, #Sitapur,
( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )