भारत-कनाडा तनाव: आतंकी निज्जर हत्याकांड पर जयशंकर का बड़ा बयान, कहा- आप हमें कोई खास जानकारी देते हैं तो…

76

संयुक्त राष्ट्र महासभा (UNGA) में संबोधन के बाद भारत के विदेश मंत्री एस जयशंकर (S Jaishankar) ने एक कार्यक्रम में हिस्सा लिया। यहां उन्होंने कनाडा (Canada) के साथ चल रहे तनाव पर अपनी बात रखी। खालिस्तानी आतंकवादी हरदीप सिंह निज्जर की हत्या (Terrorist Nijjar Murder) में भारत की संलिप्ता के आरोपों पर जयशंकर ने कनाडाई पक्ष को आश्वासन दिया कि अगर वह इस मामले से जुड़ी जानकारी मुहैया कराता है तो वह इस पर गौर करने के लिए तैयार हैं।

कनाडा के आरोप पर बोले विदेश मंत्री

दरअसल, एस जयशंकर ने न्यूयॉर्क में ‘काउंसिल ऑन फॉरेन रिलेशंस’ कार्यक्रम में हिस्सा लिया। इसका संचालन भारत में अमेरिका के राजदूत रहे केनेथ एस जस्टर कर रहे थे। इसी दौरान निज्जर हत्याकांड को लेकर विदेश मंत्री ने कहा कि मैं आपको बहुत स्पष्ट रूप से वही बताऊंगा, जो हमने कनाडा को बताया है।

Also Read: ‘वे दिन बीत गये जब कुछ देश एजेंडा तय करते थे और दूसरों से उनके अनुरूप होने की उम्मीद करते थे’, UN में बोले एस जयशंकर

उन्होंने कहा कि पहला, ये भारत सरकार की नीति नहीं है। दूसरा, हमने कनाडा से कहा है कि अगर उनके पास कोई खास सबूत हैं, कोई प्रासंगिक चीज है तो हमें इस बारे में जरूर बताएं। हम इस पर गौर करने के लिए तैयार हैं। लेकिन, आपको इससे जुड़ी पृष्ठभूमि भी समझनी होगी, क्योंकि पृष्ठभूमि के बिना तस्वीर पूरी नहीं होगी।

कनाडा में काफी ज्यादा संगठित अपराध

विदेश मंत्री ने कहा कि आपको यह भी मानना होगा कि बीते कुछ वर्षों के दौरान कनाडा में काफी ज्यादा संगठित अपराध देखने को मिले हैं, जो अलगाववादी ताकतों से जुड़े हैं। संगठित अपराध, हिंसा, चरमपंथ, ये सब आपस में मिले हुए हैं। उल्टा हम उन्हें जानकारी देते रहे हैं। हम कनाडा को संगठित अपराध के नेतृत्व की जानकारी देते रहे हैं, जो कनाडा करता है।

Also Read: कनाडा के PM जस्टिन ट्रूडो का नया दावा बोले- कई सप्ताह पहले भारत को दिए थे निज्जर की हत्या के ‘सबूत’

उन्होंने कहा कि हमने कनाडा को प्रत्यर्पण से जुड़े कई अनुरोध भेज रखे हैं। ऐसे कई आतंकवादी नेता हैं, जिनकी पहचान की जा चुकी है। तो आपको यह समझने की जरूरत है कि वहां पर एक तरह का माहौल है। अगर आपको यह जानना है कि वहां क्या कुछ हो रहा है तो इस बात को समझना काफी अहम हो जाता है।

राजनीतिक वजहों से दी जा रही छूट

एस जयशंकर ने कहा कि हमारी चिंताएं ये हैं कि राजनीतिक वजहों से इन सभी को काफी छूट दी जा रही है। हमारे सामने ऐसे हालात हैं, जिनमें हमारे राजनियक को धमकियां दी जा रही हैं, हमारे दूतावासों पर हमले हो रहे हैं। राजनीति में हमारे दखल से जुड़ी टिप्पणियां की जा रही हैं। कई बार ये जवाब देते हुए इन सभी चीजों को सही ठहराया जाता है कि लोकतंत्र इसी तरह काम करता है।

Also Read: अब स्विट्जरलैंड में भी बुर्का बैन, कानून तोड़ने पर लगेगा 91 हजार रुपये का जुर्माना

जस्टर आगे उनसे सवाल करते हैं कि अगर इस मामले से जुड़े खास सबूत देते हैं तो क्या भारत सरकार सहयोग करेगी, इस पर जयशंकर कहते हैं कि अगर कोई मुझे खास जानकारी देता है और ये सिर्फ कनाडा तक सीमित नहीं है..लेकिन अगर कोई घटना हुई है, जिसे लेकर कोई मुद्दा है और मुझे इस बारे में ब्योरेवार जानकारी दी जाती है तो सरकार होने के नाते मैं इस पर गौर करूंगा।

( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

विज्ञापन बॉक्स