UP Police के बाबू ने नियमों को ताक पर रख ‘रिवॉल्वर गर्ल’ प्रियंका मिश्रा को दोबारा बनाया ‘आरक्षी’, धोखाधड़ी सामने आते ही 2 दिन में बर्खास्त

561

उत्तर प्रदेश के आगरा (Agra) जनपद में 2 साल पहले वर्दी में सरकारी रिवॉल्वर के साथ वीडियो बनाकर सुर्खियों में आई महिला सिपाही प्रियंका मिश्रा (Lady Constable Priyanka Mishra) को बाबू ने नियमों को ताक पर रखकर दोबारा नौकरी दिला दी थी। 19 अक्टूबर को नौकरी मिलने के 48 घंटे बाद ही इस धोखाधड़ी की पोल खुल गई और दोबारा महिला सिपाही की नौकरी चली गई।

लिपिक को निलंबित कर जांच के आदेश

वहीं, महिला सिपाही का इस्तीफा मंजूर होने के बाद दोबारा नौकरी पर रखने के आवेदन पर जांच के बाद बिना पुलिस मुख्यालय को सूचित किए दोबारा नौकरी में नियोजित करना का आदेश जारी करना लिपिक जितेंद्र को भी महंगा पड़ा है। उसे निलंबित कर मामले की जांच के आदेश दिए गए हैं।

दरअसल, कानपुर की निवासी प्रियंका मिश्रा 2020 में यूपी पुलिस में आरक्षी के पद पर भर्ती हुई थीं। ट्रेनिंग के बाद उन्हें आगरा के मदन मोहन गेट थाने पर तैनाती मिली थी। महिला आरक्षी प्रियंका मिश्रा ने अगस्त 2021 में वर्दी में ही थाने के एक दारोगा की रिवॉल्वर हाथों में लेकर फिल्मी डायलॉग पर एक वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर वायरल किया था।

महिला सिपाही ने दिया था इस्तीफा

उधर, वीडियो वायरल होने के बाद त्कालीन एसएसपी मुनिराज जी ने महिला सिपाही को लाइन हाजिर करने के आदेश देने के साथ ही विभागीय जांच बैठा दी थी। हालांकि, सोशल मीडिया पर ट्रोल होने के बाद महिला सिपाही के फालोअर काफी संख्या में बढ़ गए थे।

वहीं, पर्सनल लाइफ पर टिप्पणियों से आहत होकर महिला सिापही ने सितंबर माह में नौकरी से इस्तीफा दे दिया था। एसएसपी ने उनका इस्तीफा मंजूर कर लिया था। शादी के बाद प्रियंका ने आर्थिक स्थिति का हवाला देते हुए जीवन यापन में कठिनाई की बात लिखकर पुनः नौकरी दिए जाने का आवेदन किया था।

पुलिस मुख्यालय भेजी जानी थी रिपोर्ट

नियमानुसार एसीपी को जांच दी गई थी। कार्यालय से संयुक्त निदेशक अभियोजन से भी विधिक राय ली गई थी। इस्तीफे के बाद सेवा में लिए जाने संबंधित रिपोर्ट और अन्य कागजातों को नियमानुसार पुलिस मुख्यालय लखनऊ भेजा जाना था और वहां से स्वीकृति के बाद आदेश पारित किया जाना था।

उधर, बाबू जितेंद्र कुमार ने नियमों को दरकिनार कर बिना मुख्यालय की स्वीकृति के दोबारा नौकरी पर बहाल करवा दिया था। मामला सामने आने पर अब पुलिस कमिश्नर प्रीतिंदर सिंह ने पुनः बहाली के आदेश जारी करते हुए लिपिक जितेंद्र को निलंबित कर दिया है।

( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )