श्रावस्ती: जिलाधिकारी ने ताबड़तोड़ सीएचसी मल्हीपुर, पीएचसी हरदत्त नगर गिरंट तथा उपकेन्द्र गौसपुर का आकस्मिक निरीक्षण कर लिया स्वास्थ्य सेवाओं का जायजा

82

श्रावस्ती। जिलाधिकारी कृतिका शर्मा ने शुक्रवार को ताबड़तोड़ सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र मल्हीपुर, साामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र हरदत्त नगर गिरंट तथा हेल्थ एण्ड वेलनेस सेंटर गौसपुर का आकस्मिक निरीक्षण कर स्वास्थ्य सेवाओं का जायजा लिया। सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र मल्हीपुर के निरीक्षण के दौरान जिलाधिकारी ने अस्पताल में मौजूद मरीजों से मिलकर उनका कुशलक्षेम जाना और डॉक्टर द्वारा मरीजों को दी जा रही चिकित्सीय सुविधा की भी जानकारी ली। अस्पताल एवं परिसर में साफ-सफाई ढंग से न मिलने पर जिलाधिकारी ने अधीक्षक को अस्पताल में हमेशा साफ-सफाई दुरुस्त रखने का निर्देश दिया। इस दौरान जिलाधिकारी ने पंजीकरण काउंटर, दवा वितरण काउंटर, प्रसव कक्ष, एक्स-रे वार्ड, जनरल वार्ड, जननी सुरक्षा वार्ड, मुख्य औषधि भंडार, पी0आई0सी0यू0 वार्ड, बी0पी0एम0यू0 कक्ष, यू0आई0पी0 स्टोर, इमरजेंसी वार्ड, ओ0पी0डी0 मरीज पंजिका आदि का बारीकी से निरीक्षण कर जानकारी ली और सभी व्यवस्थाओं को चुस्त-दुरूस्त रखने का निर्देश दिया।
जिलाधिकारी ने कहा कि मरीजों के साथ बेहतर व्यवहार कर उन्हें सरकार द्वारा प्रदत्त सभी सुविधाएं अनिवार्य रूप मुहैया कराई जाय। प्रसव के लिए आई महिलाओं की डिलवरी के बाद उनकी और उनके नवजात शिशुओं की बेहतर ढंग से देखभाल की जानी चाहिए, अगर लापरवाही की शिकायत मिली तो निश्चित ही कार्यवाही की जाएगी। उन्होने यह भी कहा कि प्रसव कक्ष एवं जच्चा-बच्चा वार्ड में मरीजों को कोई दिक्कत न होने पावे, इसका विशेष ध्यान रखा जाए, क्योंकि स्वास्थ्य सेवा में हीला-हवाली अब बर्दाश्त नही की जाएगी और लापरवाही बरतने पर चिकित्सक/पैरामेडिकल कर्मियो के विरूद्ध कड़ी कार्यवाही की जाएगी।
तत्पश्चात् जिलाधिकारी ने प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र हरदत्त नगर गिरंट का औचक निरीक्षण कर जायजा लिया तथा सभी व्यवस्थाओं को चुस्त-दुरूस्त रखने हेतु निर्देशित किया। इस दौरान ज्ञात हुआ कि अस्पताल में कुल 07 कर्मचारी तैनात है, जिसमें से यहां पर तैनात प्रभारी चिकित्साधिकारी डा0 आकांक्षा सिंह का उपस्थिति पंजिका में अवकाश प्रार्थना पत्र है, परन्तु इनके द्वारा मानव सम्पदा पोर्टल पर अवकाश की स्वीकृति नही करायी गई थी। इस प्रकरण को गम्भीरता से लेते हुए जिलाधिकारी ने वहां पर उपस्थित प्रभारी चिकित्साधिकारी अवनीश तिवारी को निर्देश दिया कि अवकाश लेने से पूर्व मानव सम्पदा पोर्टल पर आनलाइन आवेदन किया जाए और अवकाश स्वीकृत होने के बाद ही मुख्यालय छोड़ा जाए। यदि भविष्य में ऐसे प्रकरण पुनः प्रकाश में आया तो सम्बन्धित चिकित्सक/पैरामेडिकल कर्मी के विरूद्ध कार्यवाही सुनिश्चित की जाएगी। इस दौरान जिलाधिकारी केन्द्र पर आये मरीजो से भी मिलकर उनका कुशल क्षेम जाना तथा सरकार द्वारा प्रदत्त सभी सुविधाएं मुहैया कराने हेतु सम्बन्धित को निर्देशित किया।
तदोपरान्त जिलाधिकारी ने हेल्थ एण्ड वेलनेस सेंटर/उपकेन्द्र गौसपुर का भी आकस्मिक निरीक्षण कर जायजा लिया। यहां पर चिकित्सक उपस्थित मिले और टेलीमेडिसीन केन्द्र संचालित पाया गया। जिलाधिकारी ने उपस्थित सम्बन्धित चिकित्सक को निर्देश दिया उपकेन्द्र पर आने वाले मरीजों को उनके बिमारी के निवारण से सम्बन्धित विशेषज्ञों से राय लेकर सरकार द्वारा निर्धारित उचित इलाज मुहैया कराया जाए।
इस अवसर पर सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र के निरीक्षण के दौरान प्रभारी चिकित्साधिकारी एवं डा0 प्रतिभा शुक्ला एवं अन्य चिकित्सालयों में निरीक्षण के दौरान सम्बन्धित चिकित्सकगण एवं पैरामेडिकल कर्मीगण उपस्थित रहे।